हिन्दू मुस्लिम एकता के प्रतीक बाबा गुलाबशाह का 55 वां उर्स शुरू


एक सप्ताह तक चलेगा आयोजन

By: Dharmendra Singh

Published: 08 Oct 2021, 07:19 PM IST

नौगांव। हिन्दू मुस्लिम एकता के प्रतीक बाबा गुलाब शाह का 55वां उर्स शुरु हो गया है। शुक्रवार की सुबह 8 बजे के लगभग बाबा की दरगाह पर संदल ग़ुस्ल ग़ुस्ल के बाद बाबा के चाहने वालों ने सलाम पेश कर दरगाह पर चादर फूल पेश किए व दुआ मांगी। इसके बाद बाबा की महफि़ल में अदवी कब्बालियो का प्रोग्राम शुरू हुआ। दोपहर 12 बजे से लंगर का प्रोग्राम,शाम 4 बजे बाबा को चादर पेश की गई। इसके अलावा बाबा के उर्स में कब्बालियो लंगर और चादरों का शिलशिला बाबा के दरवार में पूरे एक सप्ताह चलेगा। बाबा के उर्स के समय दरगाह के बाहर मेले का भी आयोजन किया गया है, जिसमें खेल खिलौने ,चूड़ी कंगन ,झूले ,चाट आइसक्रीम की दुकाने लगाई गई हैं। बाबा के चाहने वाले दूर दराज मऊरानीपुर ,झांसी ,ग्वालियर, आगरा, बोम्बे, राजस्थान, दिल्ली, कानपुर,लखनऊ, महोबा, बांदा, पन्ना ,सतना ,सागर,दमोह,रीवा से आते है और अपनी मन की मुरादे पाते है। गौरतलब है की कोरोना काल के चलते बाबा गुलाबशाह का 54 वां उर्स बाबा के चाहने वालों ने कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए बड़ी ही सादगी से मनाया था। इस वर्ष बाबा के चाहने वालों में भारी उत्साह देखने को मिल रहा है।

गौरतलब है कि बाबा गुलाबशाह के गुरु नागपुर वाले ताजुद्दीन बाबा है। बाबा गुलाबशाह नौगांव के निवासी है और छोटी सी उमर में ही नागपुर बाबा ताजुद्दीन के पास चले गए थे। जब वह लौट कर आए तो गाने बजाने के शौकीन थे और अपनी मस्ती ओर भक्ति में मस्त रहते थे। बाबा दुनिया से रुख्सत होने से पहले ही अपनी मजार तैयार करवा ली थी। इस दरगाह के अंदर समस्त धर्मों की तस्वीरें लगी हुई है और बाबा की मजार के सिरहाने पर भगवान कृष्ण की प्रतिमा बनी हुई है। बताया जाता है कि जो भी बाबा के पास आता था और वह जिस रूप में बाबा को देखना चाहता था और बाबा उसे उसी रूप में दर्शन दे देते थे। बाबा के चाहने वालो का ताता उर्स के अलावा पूरे साल लगा रहता है। बाबा की छब्बीसवी मुबारक भी बड़ी धूम धाम से बाबा के चाहने वाले दरगाह पर हर माह मनाते है। गुलाबशाह बाबा को उनके चाहने वाले बंशी वाले के नाम से भी जानते है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned