तेंदुए व चीतल की खाल सहित पकड़ाए आरोपी रिमांड पर

अन्य साथियों की तलाश जारी
वन्य जीवों के अंग की तस्करी में शामिल छतरपुर का उमेश पटेल गिरफ्तार
गिरोह से जुड़े राज्य के बाहर के लोगों की तलाश के लिए बनी तीन टीम

By: Dharmendra Singh

Published: 20 Sep 2020, 09:00 AM IST

छतरपुर। जबलपुर में तेंदुए व चीतल की खाल समेत गिरफ्तार किए गए तीन आरोपी रिमांड पर लिए गए हैं। स्टेट टाइगर स्ट्राइक फोर्स (एसटीएसएफ) भोपाल और वन्यप्राणी अपराध नियंत्रण ब्यूरो जबलपुर की संयुक्त टीम ने 17 सिंतबर को कार्रवाई करते हुए छतरपुर जिले का उमेश पटेल और पन्ना जिले के जितेंद्र तिवारी व ओम प्रकाश सेन को गिरफ्तार किया था। जिनसे वन्य जीवों के अंगों की तस्करी के नेटवर्क के बारे में जानकारी मिली है। गिरोह से जुड़े बाहर के लोगों की तलाश के लिए तीन दल गठित किए गए हैं।

चार पहिया समेत हुए थे गिरफ्तार
शक के आधार में टीम ने जबलपुर में चार पहिया वाहन में सवार तीन लोगों को रोका और पूछताछ की। वाहन की चेकिंग में तेंदुआ व चीतल की खाल बरामद की गई। आरोपियों ने वन्य प्राणियों के अंग का अवैध कारोबार करने वाले लोगों के बारे में जानकारी दी है। जिसके आधार पर टाइगर फोर्स ने तीन टीम बनाकर उनकी तलाश शुरु कर दी है। पन्ना नेशनल पार्क में वन्य जीवों के शिकार से भी इस गिरोह के जुड़े होने की आशंका है। जिसके बारे में आरोपियों से रिमांड पर पूछताछ की जा रही है।

फर्जी प्रमाण-पत्र के आधार पर खाल बेचने की थी योजना
एसटीएसएफ के अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों के पास से खाल के साथ फर्जी प्रमाणपत्र भी बरामद हुए हैं। जिनके आधार पर आरोपी खाल बेचने की फिराक में थे। टाइगर फोर्स फर्जी प्रमाणपत्र बनाने वालों की भी तलाश कर रही है। इस गिरोह के तार अन्य राज्यों के वन्य जीव शिकारियों व अंग तस्करों से होने की संभावना पर टाइगर फोर्स काम कर रही है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned