एडमिशन के बाद 50 फीसदी फीस दो किस्त में जमा करने की मिलेगी सुविधा

प्रवेश के समय एमपी ऑनलाइन से ऑनलाइन जमा होगी आधी फीस, बाकी फीस कॉलेजों में होगी जमा

By: Dharmendra Singh

Published: 02 Sep 2020, 09:00 AM IST

छतरपुर। कॉलेजों में प्रवेश की प्रक्रिया चल रही है। शासन ने प्रवेश के समय विद्यार्थियों से आधी फीस लेकर प्रवेश देने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही बाकी 50 फीसदी फीस शिक्षण सत्र के दौरान कॉलेज में दो किस्तों में ऑनलाइन जमा होगी। उच्च शिक्षा विभाग ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना व मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना के पात्र आवेदकों को प्रवेश के समय योजना के तहत निशुल्क प्रवेश दिया जाएगा। लेकिन शैक्षणिक सत्र आरंभ होने के बाद संबंधित प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।

सीट आवंटन पर मिलेगी पेमेंट लिंक
कोरोना संक्रमण को देखते हुए स्नातक व स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए किसी भी आवेदक को सीट आंवटन होने पर शुक्ल जमा करने के लिए कॉलेज में लिंक इनीशिएट कराने के लिए जाना नहीं पड़ेगा। शुक्ल जमा करने के लिए सीट आवंट का पत्र डाउनलोड करते ही फीस जमा करने के लिए एमपी ऑनलाइन के ई-प्रवेश पोर्टल पर शुल्क लिंक आएगी। इस लिंक से ही किसी भी बैक के नेट बैंकिंग, एटीएम डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और यूपीआइ वॉलेज या कियोस्क के जरिए फीस जमा की जा सकेगी। निर्धारित शुल्क का 50 फीसदी शुल्क जमा करने पर प्रवेश मान्य किया जाएगा।

नए पंजीयन वालों को ही कॉलेज में कराना होगा सत्यापन
ई-प्रवेश के प्रथम चरण के बाद नए पंजीयन कराने वाले या पूर्व में पंजीकृत ऐसे आवेदक जिनके पंजीयन फॉर्म का ऑनलाइन सत्यापन नहीं हुआ है, वे ही कॉलेजों में जाकर हेल्प सेंटर पर दस्तावेजों का सत्यापन कराएंगे। विद्यार्थियों की जगह उनके अभिभावक भी सत्यापन के लिए कॉलेज जा सकते हैं।

शैक्षणिक सत्र के दौरान जमा होंगे माइग्रेशन
स्नातक व स्नातकोत्तर के पाठ्यक्रमों में ऑनलाइन फीस जमा करने वाले विद्यार्थियों को शैक्षणिक सत्र आरंभ होने के बाद निर्धारित किए गए समय में कॉलेज में मूल टीसी और माइग्रेशन का प्रमाण पत्र जमा कराना होगा। तभी प्रवेश स्थाई माना जाएगा। ये दस्तावेज न देने वाले विद्यार्थियों का प्रवेश निरस्त हो जाएगा।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned