किशोरी को कुएं में फेंकने के बाद उसे डुबाकर मारने के लिए कुएं में कूदा था सनकी युवक


कार्यपालिका मजिस्ट्रेट को लड़की ने दिए बयान में किया खुलासा
बमीठा थाना इलाके में एक तरफा प्यार में लड़की को कुएं में फेंकने का मामला

By: Dharmendra Singh

Published: 13 Sep 2021, 09:59 PM IST

छतरपुर। बमीठा थाना इलाके के एक गांव में 16 वर्षीय किशोरी को एक तरफा प्यार में कुएं में फेंककर मारने के मामले में सोमवार को कार्यपालिक मजिस्ट्रेट को दिए बयान में लड़की ने पूरी घटना का खुलासा किया है। नायब तहसीलदार अंजू लोधी ने सोमवार को जिला अस्पताल में भर्ती किशोरी के बयान लिए। लड़की ने अपने बयान में बताया कि युवक ने उसके साथ मारपीट की और फिर गला दबाकर मारने की कोशिश की। उसके बाद कुएं में फेंक दिया और उसे पानी में डुबाने के लिए खुद भी कुएं में कूद गया। उसने लड़की को पानी में डुबाने की कोशिश भी की। आरोपी लड़की से कह रहा था कि तुझे जान से मार दूंगा। आरोपी युवक ने लड़की को गला दबाकर और डूबाकर मारने की दो बार कोशिश की।

बड़ी बहन ने सुनाई पूरी घटना
लड़की की बड़ी बहन का कहना है कि वह मां और बहन के साथ खेत पर काम कर रही थी। आरोपी हल्के खेत पर आया और उसने छोटी बहन को इशारे से बुलाया। जाने से मना किया तो वह हमारे पास आ गया और विवाद करते हुए मारपीट शुरू कर दी। मैनेे विरोध किया तो उसने धक्का देकर गिरा दिया। इसके बाद उसने छोटी बहन का गला दबाया और उठाकर कुएं में फेंक दिया। बहन कुएं में नहीं डूबी तो वह खुद भी कूद गया और उसे डुबोने लगा। यह देख मैंने और मां से शोर मचाया तो लोग दौड़कर आए। उन्होंने दोनों को रस्सी के सहारे बाहर निकालना शुरू किया। लड़का रस्सी पकड़कर आधी दूर आ गया, लेकिन फिर से उसके ऊपर मारने के उद्देश्य से कूद गया। जिससे छोटी बहन बहोश हो गई। लोगों के शोर मचाने पर युवक रस्सी पकड़कर बाहर आ गया। लोग बहन को बचाने में लग गए इतने में आरोपी मौके से फरार हो गया। इसी बीच किसी ने डायल 100 को कॉल किया। इस पर पुलिसकर्मी आए और बहन को अस्पताल पहुंचाया।

इनका कहना है
नायब तहसीलदार अंजू लोधी का कहना है कि लड़की ने अपने बयान में बताया है कि उसे गांव के युवक ने पहले मारपीट कर गला दबाकर मारने की कोशिश की और बाद में कुएं में डुबोकर मारने की कोशिश की है। लड़की खतरे से बाहर है, उसकी स्थिति में सुधार हो रहा है। वहीं, इस संबंध में बमीठा थाना प्रभारी राजेश बंजारे का कहना है कि अस्पताल की रिपोर्ट के आने पर प्रकरण दर्ज किया जाएगा। गौरतलब है कि अभी तक पुलिस ने इस मामले में एफआइआर नहीं की है, वहीं, आरोपी युवक भी फरार है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned