सीता के बच्चों की देखरेख करेंगी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता

विधायक की पहल पर महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम पहुंची
इधर, नगरपालिका अध्यक्ष ने निभाई चंगेगी रस्म, बच्चियों के नाम की सौंपी एफडी

By: Dharmendra Singh

Published: 05 Sep 2019, 06:00 AM IST

छतरपुर। पारिवारिक झगड़े से परेशान सागर रोड निवासी सीता साहू और उसकी दोनों बेटियों के स्वास्थ्य की देखरेख अब आंगनबाड़ी की जिम्मेदारी होगी। विधायक आलोक चतुर्वेदी के निर्देश पर महिला बाल विकास की टीम ने सीता साहू के घर पहुचकर उसे पोषण आहार, फल,दूध आदि की व्यववस्था की। वहीं, नपाध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह ने धूमधाम के साथ सीता साहू के घर पहुंचकर चंगेरी की रस्म अदा की। वे सीता साहू की बेटियों के नाम पच्चीस-पच्चीस हजार की एफडी, नवजात शिशु, सीता साहू और पूरे परिवार के लिए कपड़े और मिठाइयां लेकर उनके निवास पर पहुंची और सीता साहू के परिजनों को एफडी सहित सभी सामग्री भेट की।
घर पर ही मिलेगा पोषण आहार
सीता साहू ने 15 दिन पहले ही एक बच्ची को जन्म दिया था। परिवार से विवाद होने के कारण इस छोटी बच्ची सहित 5 साल की एक अन्य बेटी को लेकर वह परेशान हो रही थी। महिला की समस्या सामने आने के बाद विद्यायक आलोक चतुर्वेदी ने खुद दोनों पक्षों को साथ बैठाकर इनका सुलह कराया था। सुलह के बाद सीता साहू अपने पति पुष्पेंद्र के साथ उसके घर मे रहने लगी है। विधायक चतुर्वेदी को सीता के शरीर मे खून की कमी और बच्चियों के कमज़ोर स्वास्थ्य की जानकारी मिली। इसके बाद विधायक ने जिले के महिला बाल विकास अधिकारी संजय जैन को मदद के लिए निर्देशित किया था। विधायक से मिले निर्देशों के बाद महिला बाल विकास की टीम ने सीता के घर मे टेक होम राशन की व्यवस्था की है। यह पोषण आहार है जो शिशुओं एवं उनकी माताओं को उपलब्ध कराया जाता है।
पूर्व सीएम की पहल पर मिली मदद
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर नपाध्यक्ष अर्चना सिंह सीता के घर पहुंची और बच्ची के जन्म के बाद होने वाली चंगेरी की रस्म अदा की। इसके साथ ही सीता की दोनों बेटियों के नाम 25-15 हजार की एफडी कराकर उन्हें सौंप दीं।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned