जेब में था एटीएम और खाते से निकल गए 46 हजार


साइबर ठगों ने एटीएम से निकाले रुपए

By: Dharmendra Singh

Published: 15 Sep 2021, 06:43 PM IST


छतरपुर। नौगांव थाना क्षेत्र से ऑनलाइन ठगी का एक मामला सामने आया है। साइबर ठगों ने युवक के खाते से कई बार पैसे निकाले जबकि युवक का एटीएम कार्ड उसी के पास मौजूद है। जब युवक को खाते से पैसे निकले की जानकारी लगी तब उसने थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई साथ ही संबंधित बैंक में पैसे निकाले जाने की सूचना दी। चौंकाने वाली बात यह है कि युवक ने न तो किसी तरह की ऑनलाइन शॉपिंग की और न उसके पास कोई फोन कॉल या मैसेज आया इसके बावजूद भी उसके खाते से कई बार लेने-देन हो गया। इस ठगी से बैंक प्रबंधन पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।
नौगांव थाना प्रभारी को आवेदन देते हुए मऊसहानियां निवासी नीरज कुशवाहा ने बताया कि वह गांव में ही एक छोटी से दुकान संचालित कर अपने परिवार का पालन पोषण करता है। पैसे बचाने के लिए उसने एचडीएफसी बैंक की बरेठी शाखा में खाता खुलवाया था जिसमें वह अपनी बचत के पैसे जमा करता है। मंगलवार को किसी अज्ञात व्यक्ति ने उसके खाते से पहले 20 हजार और फिर 5 हजार रुपए निकाले जिसके मैसेज उसके फोन पर नहीं आए और उसे पैसे निकलने की जानकारी नहीं लगी। इसके बाद बुधवार को एक बार फिर उसी व्यक्ति ने दो बार 10-10 हजार तथा एक बार 1 हजार रुपए निकाले जिसके मैसेज उसके पास आए। पैसे निकलने की जानकारी लगते ही नीरज के पैरों तले से जमीन खिसक गई। वह आनन-फानन में बैंक पहुंचा और पासबुक पर एन्ट्री करवाई तो पैसे निकलने की पूरी जानकारी उसके सामने आई। नीरज ने बताया कि सारे पैसे एसटीएम से निकाले गए हैं जबकि उसका एटीएम कार्ड उसीके पास मौजूद है। फिलहाल नीरज की शिकायत पर नौगांव पुलिस ने मामले की विवेचना शुरु की है।

चिकित्सक वाहन पर हुई फायरिंग, गाड़ी में सवार तीन लोग बाल-बाल बचे
ओरछा रोड थाना क्षेत्र के ग्राम टीकर के समीप बनगांय के एक निजी चिकित्सक डॉ. परमानंद पटेल, उनके भांजे संतोष पटेल और पुत्र अजय पटेल के ऊपर फायरिंग का मामला सामने आया है। वारदात बुधवार सुबह 4 बजे की बताई गई है जब तीनों लोग टीकर में मौजूद अपने खेत से बनगांय लौट रहे थे। इस मामले में निजी चिकित्सक ने पुलिस को आवेदन देकर बताया कि विगत दिनों ग्राम बनगांय के ब्रजकिशोर उर्फ बबलू पटेल ने उससे रूपयों की मांग की थी। रूपए न देने पर उसने ही अपने साथी के साथ गोली चलाई है।
बोलेरो गाड़ी में ड्राईवर सीट पर एक फायर का निशान भी मौजूद है। परमानंद पटेल ने बताया कि सुबह 4 बजे ब्रजकिशोर एक अज्ञात नकाशपोश साथी के साथ बाइक से सामने आ गया और कट्टे से फायरिंग शुरू कर दी। इस फायरिंग के दौरान सभी लोग बाल-बाल बच गए लेकिन गोली चलने से उनमें दहशत है। उधर सुबह 4 बजे की वारदात की रिपोर्ट शाम 4 बजे तक दर्ज हो सकी। परमानंद पटेल ने बताया कि घटना स्थल को लेकर ओरछा रोड थाना पुलिस और नौगांव थाना पुलिस काफी देर तक एफआईआर लिखने से इनकार करती रही। आखिरकार शाम 4 बजे एफआईआर दर्ज की गई। अब ओरछा रोड थाना पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned