scriptAuction of rock phosphate mine in Bhopal after the removal of ban | एटॉमिक डिवीजन की रोक हटने के बाद रॉक फास्फेट खदान की भोपाल में नीलामी | Patrika News

एटॉमिक डिवीजन की रोक हटने के बाद रॉक फास्फेट खदान की भोपाल में नीलामी


एक साल पहले यूरेनियम की संभावना को देखते हुए लगाई गई थी रोक
जिले के मड़देवरा में 122 हेक्टेयर में 57 लाख मीट्रिक टन रॉक फास्फेट का भंडार

छतरपुर

Updated: April 17, 2022 03:09:55 pm

छतरपुर। जुलाई 2021 में जिले के मड़देवरा में 122 हेक्टेयर में फैली रॉक फास्फेट की खदानों की नीलामी पर केन्द्रीय खनिज मंत्रालय के एटामिक मिनिरल डिवीजन लगाई गई रोक हट गई है। इलाके में यूरेनियम के भंडार की संभावना को देखते हुए रोक लगाई गई थी। उसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर केन्द्रीय खनिज मंत्री प्रहलाद जोशी ने सर्वे कराकर रोक हटा दी। इसके साथ ही डीएपी खाद बनाने के काम में आने वाले रॉकफास्फेट की 122 हेक्टेयर की 57 लाख मीट्रिक टन भंडार वाली दो खदानों की नीलामी प्रक्रिया भोपाल से कराई जा रही है। नीलामी प्रक्रिया होने से अब जिले में रॉक फॉस्फेट का उत्खनन शुरु होगा, जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिलने के साथ ही डीएपी खाद की उपलब्धता बढऩे से किसानों को भी राहत मिलेगी।
 57 लाख मीट्रिक टन रॉक फास्फेट का भंडार
57 लाख मीट्रिक टन रॉक फास्फेट का भंडार

रॉक फॉस्फेट का उत्पादन बढ़ाने की नीति
26 जून 2021 को तात्कालीन उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया की अध्यक्षता में हुई बैठक में स्वदेशी संसाधनों' के माध्यम से भारत को उर्वरक उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने के लिए एक कार्य योजना तैयार की गई है। मंत्री ने राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और आंध्र प्रदेश में उपलब्ध मौजूदा 30 लाख टन फॉस्फोराइट खनिज का उत्पादन बढ़ाने की बात कही। उन्होंने उर्वरक के लिए रॉक फॉस्फेट, डीएपी और एनपीके उर्वरकों का प्रमुख कच्चा माल बताया है। ऐसे में केन्द्र सरकार ने भी रोक हटाने में दिलचस्पी दिखाई।

जीेएसआइ के सर्वे में मिला था भंडार
ज्यूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (जीएसआइ) ने छतरपुर जिले के मड़देवरा में 57 लाख मीट्रिक टन रॉक फास्फेट के भडार को चिंहित किया है। जिसके आधार पर जिला खनिज विभाग ने शासन को 122 हेक्टेयर में रॉक फॉस्फेट की दो खदानों की नीलामी का प्रस्ताव अक्टूबर 2020 में बनाया था। जिसे राज्य शासन ने भी मंजूरी दे दी है। खनिज विभाग और जीएसआइ ने साथ मिलकर एक रिपोर्ट तैयार की है। जिसमें जीएसआइ ने मड़देवरा ब्लॉक में 57 लाख मीट्रिक टन रॉक फास्फेट के भंडार का आंकलन लगाया है। 122 हेक्टेयर में 67 हेक्टयेर जमीन रॉक फास्फेट के खनन और 37 हेक्टेयर जमीन नॉन मिनरलाइज्ड होगी। 67 हेक्टेयर क्षेत्र में से 15 से 20 हेक्टेयर में रॉक फॉस्फेट की मात्रा अधिक है, वहीं 2 किलोमीटर लंबे और 2 किलोमीटर चौड़े हिस्से में लगभग 15 से 20 लाख मीट्रिक टन रॉक फॉस्फेट की उपलब्धता का आंकलन किया गया है।
उर्वरक निर्माण के उपयुक्त है जिले का रॉक फॉस्फेट
जिले के मड़देवरा इलाके में उलब्ध रॉक फास्टफेट का भंडार उर्वरक निर्माण के लिए उपयक्त है। हालांकि खदान में ज्यादातर मात्रा 18 से 20 पी2ओ 5 ग्रेड का है, जो लो क्वालिटी के अंतर्गत आता है। जबकि 24 प्लस पी 2ओ5 ग्रेड की मात्रा उवर्रक संयंत्र के लिए सप्लाई होता है। वहीं, क्षेत्र में 42 से 34 पी2ओ5 ग्रेड का रॉक फास्फेट का भी भंडार है। जैविक खाद बनाने के लिए गोबर तथा रॉक फॉस्फेट को प्रयोग में लाया जाता है। रॉक फॉस्फेट की मदद से रासायनिक क्रिया करके सिंगल सुपर फॉस्फेट (एसएसपी)तथा डाई अमोनियम फॉस्फेट (डीएपी) रासायनिक उर्वरक तैयार किए जाते हैं। खनिज फास्फेटों का सर्वाधिक प्रयोग फास्फेट उर्वरकों के निर्माण में होता है। रॉक फॉस्फेट की खदान से निकाले गए फास्फेटीय चट्टान को चूर्ण करके सल्फयूरिक अमल के साथ मिलाकर सुपरफास्फेट बनता है। इस पदार्थ का प्रयोग उर्वरक के रूप में अत्यधिक होता है। साधारण फास्फेटीय चट्टान के चूर्ण में 30 से 40 प्रतिशत फास्फोरस पेंटॉक्साइड, 3-4 प्रतिशत फ्लोरीन तथा भिन्न मात्राओं में चूना रहता है।
फैक्ट फाइल
खदान एरिया- 122 हेक्टेयर
स्थान- मड़देवरा
संभावित भंडार- 57 लाख मीट्रिक टन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Assam Flood: असम में बारिश और बाढ़ से भीषण तबाही, स्टेशन डूबे, पानी के बहाव में ट्रेन तक पलटीराजस्थान BJP में सियासी रार तेज: वसुंधरा ने शायरी से साधा निशाना... जिन पत्थरों को हमने दी थीं धड़कनें, वो आज हम पर बरस...कांग्रेस के बाद अब 20 मई को जयपुर में भाजपा की राष्ट्रीय बैठक, ये रहा पूरा कार्यक्रमTRAI के सिल्वर जुबली प्रोग्राम में PM मोदी ने लॉन्च किया 5G टेस्ट बेड, बोले- इससे आएंगे सकारात्मक बदलावपूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीक्रिकेट इतिहास के 5 सबसे लंबे गेंदबाज, नंबर 1 की लंबाई है The Great Khali के बराबरकुतुब मीनार और ताजमहल हिंदुओं को सौंपे भारत सरकार, कांग्रेस के एक नेता ने की है यह मांगकोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.