तीसरी बार बही निर्माणाधीन पुलिया, महोबा-छतरपुर का संपर्क टूटा

तीसरी बार बही निर्माणाधीन पुलिया, महोबा-छतरपुर का संपर्क टूटा

Rafi Ahamad Siddiqui | Publish: Sep, 04 2018 12:42:16 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

सिंघरी नदी का जल स्तर बढ़ गया

छतरपुर। लगातार हो रही बारिश से नदी व नाले उफना रहे हैं। हालात यह हैं कि बारिश के चलते नदियों में जल स्तर बढ़ गया है। इसी का नतीजा है कि कानपुर-सागर नेशनल हाइवे से गुजरी सिंघरी नदी का जल स्तर बढ़ गया। महोबा रोड पर हमा गांव के पास शहर के निकट सिंघारी नदी का निर्माणाधीन पुल ढह गया। एनएच पर लंबा जाम लग गया। सोमवार की सुबह से लगा जाम दोपहर तक जारी रहा। जिससे सैंकड़ों की संख्या में वाहन जाम में फंस गए। ऐसे में लोगों को आवाजाही में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
गौरतलब है कि पिछले एक सप्ताह से बारिश का दौर जारी है। बारिश के चलते नदी व नाले उफान पर है। पिछले एक सप्ताह में महोबा रोड पर सिंघारी नदी पर बनाया गया अस्थाई पुल छह गया। यहां नेशनल हाइवे पर चौड़ीकरण का काम चल रहा है। जिसके चलते पुलिया का निर्माण काया जा रहा है। अस्थाई व्यवस्था कर यहां से वाहनों को गुजारा जा रहा है। बारिश के दौरान एक सप्ताह में तीन बार यह निर्माणाधीन पुल तीन बार बह गया। सोमवार की सुबह भी पुल के एक बार फिर बह जाने से एनएच पर यातायात ठप हो गया। सैंकड़ों की संख्या में वाहन जाम में फंस गए। हालात यह रहे कि हमा गांव के पास से गुजरे पुल से लेकर निवारी गांव तक करीब पांच किमी लंबा जाम लगा रहा। जाम के चलते मार्ग पर पूरी तरह यातायात बाधित रहा। ऐसे में वाहन जाम में फंसे रहे। लोग जरूरी काम से भी अपने गंतव्य तक नहीं पहुंचे सके। निर्माणाधीन पुल छह जाने से छतपुर का महोबा समेत विभिन्न स्थानों से संपर्क कटा रहा।
केन नदी में बढ़ा जलस्तर
लगातार हो रही बारिश के कारण केन नदी का जलस्तर एक बार फिर बढऩे लगा है। रविवार की शाम को केन का जलस्तर १००.०७ मीटर रहा। जो सोमवार को १०३.०० मीटर के नजदीक पहुंचा। इस बारिश में पहली बार केन का जलस्तर सोमवार को पहलीवार १०३.०० मीटर तक पहुंचा। केंद्रीय जल आयोग की माने तो केन का जल स्तर रविवार की शाम १००.०७ मीटर पर रहा। बांदा जिले के केन नहर प्रखंड के बाबू लक्ष्मन के अनुसार मप्र के क्षेत्र में हो रही बारिश से गंगऊ बांध से डेढ़ लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। जिससे केन का जल स्तर बढ़ रहा है। हालांकि अब केन का जल स्तर स्थित रहने की संभावना है।
अलर्ट हैं होमगार्ड जवान
जिला होमगार्ड कमांडेंट करण सिंह ने बताया कि हालात को देखते हुए होमगार्ड विभाग पूरी तरह सक्रिय है। हालात को देखते हुए लवकुशनगर ब्लॉक ऑफिस में पांच कर्मचारी, नाव व सामान की व्यवस्था की गई है। जिससे कि आसपास की नदी क्षेत्र में यदि कहीं कोई जरूरत पड़ती है तो इन कर्मचारियों को तत्काल भेजा जा सके। इसके साथ ही राजनगर क्षेत्र में चार कर्मचारी तैनात किए गए हैं। यहां राजनगर में चार कर्मचारी लगाए गए हैं। जहां लाइव जैकेट व अन्य सामान की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही ईशानगर क्षेत्र में चार कर्मचारी पचेर घाट को देख रहे हैं। बड़ामलहरा एसडीएम कार्यालय में पांच कर्मचारी रस्सा सहित लगाए गए हैं। जो आसपास का क्षेत्र देख रहे हैं। इसके साथ ही नौगांव में थाने में भी होमगार्ड के जवानों को लगाया गया है। जो गर्रोली से निकली धसान नदी को देख रहे हैं। इसके साथ ही होमगार्ड कार्यालय में २० जवान रिजर्व रखे गए हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned