22 या 23 से दौड़ेगी छतरपुर से सपनों की ट्रेन,रेलमंत्री कर सकते हैं उद्घाटन

अब 22 या 23 अगस्त में से किसी भी दिन से ट्रेन का संचालन शुरू होगा इसको लेकर उत्तर मध्य रेलवे के झांसी के अधिकारियों के बीच उच्चाधिकारियों के साथ मंथन का दौर जारी है।

By: Widush Mishra

Published: 12 Aug 2016, 05:06 PM IST

रफी अहमद सिद्दकी@छतरपुर. महाराजा छत्रसाल की नगरी छतरपुर के बाशिंदो के लिए ट्रेन के इंतजार की घडिय़ां अब समाप्त होने वाली हैं। छतरपुर-खजुराहो-टीकमगढ़ रेलवे ट्रैक पर ट्रेन का संचालन शुरू किए जाने को लेकर रेलवे बोर्ड में तारीख का निर्धारण किए जाने को लेकर 22 व 23 अगस्त की डेट जारी की है।

अब 22 या 23 अगस्त में से किसी भी दिन से ट्रेन का संचालन शुरू होगा इसको लेकर उत्तर मध्य रेलवे के झांसी के अधिकारियों के बीच उच्चाधिकारियों के साथ मंथन का दौर जारी है। नए रेलवे ट्रैक का उद्घाटन भव्य तरीके से किया जाएगा। रेल मंत्री खजुराहो से हरी झंडी दिखा सकते हैं। कार्यक्रम में सीएम शिवराज सिंह चौहान और जल संसाधन व नदी विकास केंद्रीय मंत्री उमा भारती के भी आने की उम्मीद है।

इसी महीने 22 या 23 तारीख को पहली बार खजुराहो से ट्रेन चलकर छतरपुर से होते हुए टीकमगढ़ पहुंचेगी। इस ट्रेन का संचालन ललितपुर से होते हुए झांसी तक किया जाएगा। अब छतरपुर के लोगों को अपने शहर से ट्रेन पर चलने का मौका मिलेगा। छतरपुर-खजुराहो-टीकमगढ़ तक बनी नई रेल लाइन का उद्घाटन रेल मंत्री सुरेश प्रभु खजुराहो रेलवे स्टेशन पर पैसेंजर ट्रेन को हरी झंडी दिखा कर करेंगे।


कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री उमा भारती व प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के भी शामिल होने की उम्मीद है। फिलहाल झांसी-टीकमगढ़ रेल मार्ग पर एक पैसेंजर ट्रेन का ही संचालन झांसी से हो रहा है। रेलवे ने छतरपुर-खजुराहो-टीकमगढ़ तक 123 किमी का रेलवे ट्रैक तैयार किया है। शुरुआत में झांसी से टीकमगढ़ जाने वाली पैसेंजर को ही विस्तारित कर खजुराहो तक चलाया जाएगा। झांसी से सुबह सात बजे चलने वाली यह पैसेंजर ट्रेन अब ललितपुर, टीकमगढ़-छतरपुर होकर खजुराहो तक चलेगी।

12 साल में तैयार किया गया ट्रैक
रेलवे के सब इंजीनियर राजेश मंडलोई ने बताया कि ललितपुर खजुराहो न्यू बीजी रेल लाइन प्रोजेक्ट के तहत टीकमगढ़ से छतरपुर व खजुराहो तक रेल रूट को लेकर विभाग द्वारा वर्ष 2004 में काम शुरू कराया गया था। इस रेल रूट की लंबाई लगभग 112 किमी है। इस रेल लाइन को तैयार करने में करीब 518.33 करोड़ रुपए का खर्च हुए हैं। इसमें एक महत्वपूर्णपुल, 14 मेजर व 119 छोटे-छोटे पुलों का निर्माण कराया गया।
Show More
Widush Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned