स्वच्छता अभियान: कचरा फैलाने वाले लोगों पर लगेगा जुर्माना


पीएम स्वनिधि के स्वीकृत प्रकरण में 100 फीसदी वितरण हो

By: Dharmendra Singh

Updated: 11 Sep 2021, 06:15 PM IST


छतरपुर। चिन्हित आदर्श वार्डो में समग्र स्वच्छता अभियान को गति देने के लिए सीएमओ सप्ताह में न्यूनतम दो दिन प्रात: काल विजिट करते हुए समाज के जागरूक लोगों के साथ संवाद स्थापित करें। आम लोगों को स्वच्छता व्यवहार अपनाने के साथ दैनिक जीवन में स्वच्छता आचरण निभाने के लिए जागरूक बनाकर संकल्प भी दिलाए। जो लोग आगे आकर समग्र स्वच्छत अपनाते है और समज के दूसरे लोगों को भी प्रेरित करते है, ऐसे लोगों का सामाजिक रुप से सम्मान भी करें।

कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने नगरीय निकायों की समीक्षा बैठक में विभिन्न बिंदु पर चर्चा करते हुए कहा कि शहर को सुंदर एवं स्वच्छ बनाये रखने में समाज का सहयोग लेते हुए सर्व समाज के लोगों में जागृति लाए। लोगों को कचरा गाड़ी में ही कचरा डालने के लिए जागरुक बनाये। जो व्ययक्ति या दुकानदार कचरा फैलाते पाये जाए उनके खिलाफ जुर्माना लगाए। उन्होंने कहा कि पीएम स्वनिधि के स्वीकृत प्रकरणों में अगले सप्ताह 100 प्रतिशत वितरण कराए। हितग्राहियों को ऋण राशि देने मेें जो बैंकर्स आना-कानी करें, या शिथिलता बरते उनकी जानकारी दें।

बैठक में स्वच्छता अभियान के ओडीएफ प्लस के साथ-साथ वार्डो में चिन्हित किए आदर्श वार्ड उन वार्डो में की जा रही गतिविधियों तथा पीएम आवास शहरी, टैक्स वसूली की समीक्षा की गई। कलेक्टर ने कहा कि नगरपालिका द्वारा कराए जा निर्माण कार्यो की गुणवत्ता से कोई समझौता न करें। नगरपालिका सीमा और सीमा के बाहर जो निजी कॉलोनी बन रही है वहां वॉटर सप्लाई लाइन, रोड एवं नाली निर्माण की मैन लाइन का कार्य ठेकेदार को बनाना अनिवार्य है। संबंधित सीएमओ निरीक्षण करते हुए इसे देखे। किसी भी भवन नाली रोड निर्माण में विशेष स्थिति निर्मित होने पर ही एडिशनल राशि खर्च करें। किसी धार्मिक स्थल के लिए सार्वजनिक राशि का उपयोग न करें। सामुदायिक भवन का निर्माण कराते वक्त शौचालय एवं बॉथरूम भी साथ में अटैच हो, इस बात का ध्यान रखे। समय-समय पर निर्माण कार्यो का निरीक्षण करने के साथ लोगों से संवाद बनाते हुए टैक्स कलेक्शन की समीक्षा करें। निकाय निधि से आम लोगों के सामाजिक एवं बुनियादी विकास मूलक कार्यो को प्राथमिकता से पूर्ण कराए। सीएम हेल्पलाइन के लंबित प्रकरणों का संतुष्टिपूर्णक निराकरण करें। उन्होंने कहा कि वर्क पैलैस एवं ऑफिस पर अपनत्व की भावना से कार्य करें, स्वच्छता पर विशेष ध्यान दें तथा कर्मचारियों को स्वच्छता अपनाये रखने के लिए प्रेरित करें। यहां-वहां गंदगी नहीं फैलाए कचरा फैकने के लिए डस्टबिन एवं डिब्बे का उपयोग कराएं।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned