हारेगा कोरोना, जीतेगा सहयोग और संकल्प

मदद के लिए आगे आए लोग: कहीं चल रहा भंडारा तो कहीं बांट रहे भोजन

By: Sanket Shrivastava

Published: 28 Mar 2020, 01:22 PM IST

टीकमगढ़. राष्ट्रभक्ति ले हृदय में हो खड़ा यदि देश सारा, संकटों पर मात कर यह राष्ट्र विजयी हो हमारा। किसी कवि की यह पंक्तियां इन दिनों जिले में चरितार्थ होती दिख रही है। कोरोना वायरस ने लोगों को घरों में बंद क्या किया कि लोगों ने अपने घरों और दिलों के दरवाजे खोल दिए। शासन प्रशासन से कहा हम साथ है। आप परेशान न हो। मदद के लिए समाज के तमाम लोग प्रशासन के साथ खड़े हो गए है। ऐसे में यह विश्वास करना लाजमी है कि कोरोना हारेगा और लोगों का यह सहयोग एवं संकल्प जरूर जीतेगा। कोरोना से बचने सोशल डिस्टेंश सबसे जरूरी है। ऐसे में पूरे देश को 21 दिन के लिए लॉकडाउन किया गया है। इस लॉकडाउन से सबसे ज्यादा परेशान वह गरीब है जो रोज कमा कर अपने घर का चूल्हा जलाते थे। ऐसे में उनके चूल्हे बुझ रहे हैऔर पेट की आग, ज्वाला बनती जा रही है। लेकिन जिले में गरीबों के पेट की यह आग शांत करने अनेक लोग आगे आए है। खुद प्रशासन ने जहां गुरूवार से एक हजार भोजन पैकिट बनवाकर गरीब बस्तियों में वितरण शुरू करा दिया है, वहीं 350 पैकिट लांयस क्लब, 400 पैकिट रेडक्रास एवं 100 पैकिट जनसहयोग से अन्नम रक्षाम समिति ने बनवाना शुरू कर दिए है। वहीं नगर में माइनिंग का काम करने वाले व्यवसाईपुष्पेन्द्र सिंह ने भी कुंवरपुरा रोड़ पर सर्वसुविधा युक्त उनका दो मंजिला भवन प्रशासन को अस्पताल के रुप में उपयोग करने के लिए देने का प्रस्ताव दिया है। इसके साथ ही उन्होंने 25 क्विंटल चावल एवं इतनी ही उड़द की दाल देने को कहा है। वहीं गोंगाबेर हनुमान मंदिर पर भी ऐसे जरूरतमंद लोगों के लिए भंडारा शुरू किया गया है। अनेक लोगों ने अपना वेतन भी प्रधानमंत्री राहत कोष में दान कर रहे हैं।

Sanket Shrivastava Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned