सहारा पर इसलिए लगाया गया जुर्माना

सहारा पर इसलिए लगाया गया जुर्माना
Court imposes fines on Sahara

Hamid Khan | Publish: Jun, 14 2019 11:15:16 AM (IST) Chhatarpur, Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

फैसला
उपभोक्ता फोरम ने तीन मामलों में की सुनवाई


छतरपुर. उपभोक्ता फोरम छतरपुर द्वारा सहारा के तीन मामला में सुनवाई करते हुए सेवा में कमी पाए जाने पर मूल राशि के साथ सात प्रतिशत ब्याज व बाद व्यय की राशि चुकाने का आदेश सुनाया है।
जानकारी के अनुसार आवेदक कनछेदी पटेल पिता खारगा पटेल निवासी कुटी के पास बहारपुरा तहसील बिजावर ने 16,18 और 19 अक्टूबर 2012 में सहारा इंडिया परिवार मऊ गेट दरवाजा छतरपुर से क्यू शॉप प्लान में 23 हजार 950 रुपए जमा किए तीन खातों में कुल 71 हजार 850 रुपए जमा किए। अवधि पूर्ण होने पर जब उसे राशि देने के लिए 11 दिसम्बर 2018 को अधिवक्ता को नोटिस भेजा। इसके बावजूद उसे जमा राशि का भुगतान नहीं किया गया। जो सेवा में कमी है, इसके बाद आवेदक ने मामला उपभोक्ता फोरम न्यायलय में दायर किया। फोरम के अध्यक्ष श्रीराम दिनकर, सदस्य संजय शर्मा व सदस्य निशा गुप्ता ने मामले का अवलोकन कर सेवा में कमी पाई। जिसपर सहारा इंडिया परिवार छतरपुर महाप्रबंधक सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसायटी और सहारा क्यू शॉप यूनिक प्रोडक्ट्स लखनऊ 45 दिवस के अंदर आनावेदकगण परिवादी को 71 हजार 850 रुपए व 16 नवम्बर 2018 से अदायगी दिनांक तक 7 प्रतिशत वार्षिक ब्याज अदा करने व साथ ही 5000 रुपए वाद व्यय के रूप में अदा करने का आदेश पारित किया।
वहीं दूसरे मामले में आवेदक राजकुमार चौरसिया निवासी नौगांव रोड छतरपुर द्वारा सहारा इंडिया के ए सेलेक्ट योजना में खाता एक १७ हजार और दूसरे खाते में १८ हजार १८ माह के लिए जमा किए थे। जिसका समय पूर्ण होने पर ३० मार्च १८ को सभी कागजात लेकर राशि का भुगतान करने के लिए आवेदन किया गया। लेकिन सहारा कार्यालय द्वारा भुगतान नहीं किया। जिसके बाद मामला उपभोक्ता न्यायालय में दायर किया गया। जिस पर कोर्ट द्वारा मामले में सहारा इंडिया के खिलाफ फैसला सुनाते हुए ४५ दिन के अंदर ४५ हजार ७०५ रुपए ब्याज सहित भुगतान करने का आदेश पारित किया है।
तीसरे मामले में आवेदक विपिन बिहारी खरे निवासी पन्ना नाका छतरपुर द्वारा सहारा इंडिया कार्यालय से एच प्लान लिया था। जिसमें जमा की गई राशि १९ हजार ३५० का परिपक्वता राशि ४३ हजार ५३८ रुपए समय पूर्ण होने पर भी आवेदक को नहीं दी गई। जिसपर आवेदक ने मामला कोर्ट में दायर किया तब मामले में सुनवाई करते हुए फोरम के अध्यक्ष श्रीराम दिनकर, सदस्य संजय शर्मा व सदस्य निशा गुप्ता ने मामले का अवलोकन कर सेवा में कमी पाई। जिसपर कोर्ट ने सहारा इंडिया को ४५ दिन के अंदर १९ हजार ३५० रुपए और उसपर ७ प्रतिशत का ब्याज व ५ हजार सेवा में कमी व बाद व्यय के रूप में भुगतान करने का आदेश दिया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned