बांध निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की खुली पोल, उद्घाटन से पहले ही टूटा डेम

बांध निर्माण में हुए भ्रष्टाचार की खुली पोल, उद्घाटन से पहले ही टूटा डेम

rafi ahmad Siddqui | Publish: Sep, 09 2018 12:09:39 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

पहली ही बारिश में भ्रष्टाचार और घटीया निर्माण की भेंट चढ़ गया नवनिर्मित डेम

ईशानगर। ईशानगर क्षेत्र के भेलसी तड़पेड डैम से गांवों के खेतों के बिच अन्नदाताओं को बेहतर सिचाई व्यवस्था मुहैया कराने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा चार किमी का डेम करीब 35 करोड़ की लागत से निर्माण कराया जा रहा है। जिससे डेम में एकत्रीत पानी को नहरों द्वारा खेतो तक पहुंचाया जा सके। लेकिन जिला जल संसाधन विभाग की अनदेखी के चलते ठेकेदार द्वारा घटीया निर्माण किया गया है। इसका जीता जागता सबूत खुद डेम दे रहा है। ठेकेदार द्वारा यहां पर करीब 95 प्रतिशत डेम का काम पूरा करा दिया गया है। सिर्फ बेस्ट बियर का काम वर्तमान में चल रहा है। नवनिर्मित डेम पहली ही बारिश में भ्रष्टाचार और घटीया निर्माण की कहानी बया करता नजर आ रहा है। डेम बनाने के लिए क्षेत्र के करीब 10 गांवों के किसानो की खेती की जमिन अधिग्रहीत कर निर्माण किया गया। पहली बारिष में ही डेम क्षतीग्रस्त हो गया। डेम के सेंटर में करीब 1 किलोमीटर की दूरी तक और 10 फिट नीचे तक क्रैक आ गए हैं। चारो तरफ से दिवारे भी धसने लगी हैं। डेम के वाल तक पहुचने के लिए मिट्टी कंक्रीट से बना रपटा जगह -जगह से टुटने लगा है। क्षेत्र के किसानों का कहना है अबतक क्षेत्र में 20 इंच वारिश हुई और डेम आधा तक नहीं भरा है। अभी से डेम का यह हाल है। अधिक वर्षा हुई तो पुरा डेम ही फूटने की आशंका है। क्षेत्र के लोगों का कहना है कि अभी से डेम टूटने लगा तो भारी बारिष में स्थिती और गंभीर हो सकती है। बांध निर्माण में गड़बड़ी से लोग नाखुश हैं।
इनका कहना है
अभी वहां पर काम चल रहा है। पहली वर्ष बारिष में सभी डेम में दरारं आ जाती है। इसमें कोई बडी बात नहीं है। फिर भी में मौके पर जाकर जांच करूंगा। अगर कोई गड़बडी मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी।
सीएल गर्ग एसइ जल संसाधन छतरपुर

Ad Block is Banned