इस इंसान ने करीब से देखी मौत,दे दी मौत को मात

Death seen close to this man

By: Samved Jain

Published: 20 Jul 2018, 12:43 PM IST

नौगांव। धसान नदी के पुल से आत्महत्या करने के लिए नदी में कूंदे युवक को बचाने के लिए तीन घंटे तक यहां रेस्क्यू ऑपरेशन चलाना पड़ा। सीमित संसाधन होने के बाद भी पुलिस ने ग्रामीण युवकों की मदद से उसे सुरक्षित बचा लिया। मानसिक रूप से विक्षिप्त यह युवक अपनी ससुराल में पिछले 15 दिनों से रह रहा था और आत्महत्या करने के इरादे से घर से निकला था। नदी में कूंदने के बाद वह बहकर एक टॉपू में जाकर फंस गया था। बाद में ग्रामीणों ने उसे देख लिया तो पुलिस को सूचना दी। इसके बाद उसके बचाने के लिए तीन घंटे तक प्रयास किए गए। दोपहर 1 बजे के बाद उसे नदी से सुरक्षित निकाल लिया गया।


जानकारी के अनुसार गढ़ीमलहरा थाना क्षेत्र के ग्राम उर्दमऊ निवासी भईयन पिता धर्मदास कुशवाहा(३०) मानसिक रूप से कुछ विक्षिप्त है। वह अपनी ससुराल पलेरा थाना क्षेत्र के ग्राम करौला में आया था। धसान नदी से लगे इस गांव में वह १५ दिनों से ससुराल में ही रह रहा था। सुबह आत्महत्या करने के लिए ससुराल से निकला और सीधे गर्रोली गांव पहुंच गया। यहां उसने एक मिष्ठान दुकान पर पहुंचकर जलेबी-समोसा खाने के लिए मांगे। धर्मदास ने दुकानदार से कहा कि उसकी अंतिम इच्छा जलेबी-समोसा खाने की है। इसलिए उसे भरपेट खिला दो। लेकिन रुपए नहीं होने के कारण दुकानदार ने उसे यहां से भगा दिया।

 

 

Chhatarpur

इसके बाद उसने सीधे पुल पर पहुंचकर सुबह 8.30 बजे नदी में छलांग लगा दी। लोगोंं ने उसे देखा तो भीड़ जुट गई। तुरंत पुलिस को सूचना दी गई। नदी से बहते हुए वह करीब डेढ़ किमी दूर बह गया। इसी दौरान नदी के बीच एक टॉप तक पहुंचने पर वह उस पर चढ़ गया। इधर दो घंटे बाद पुलिस टीम मौके पर बचाव के लिए पहुंची। रेस्क्यू टीम में शामिल एसआई अंजाम सिंह, एसआई कमलजीत सिंह, एएसआई एमडी पाल ने नगर सैनिकों के साथ नदी किनारे पहुंचकर लाइफ जॉकेट पहनाकर एक नगर सैनिक को टॉपू तक पहुंचाया। इसके बाद गांव के कुछ तैराक युवकों को भी ट्यूब पहनाकर टॉपू तक भेजा। बचाव के लिए आई टीम को देखकर युवक नाचने लगा। बचाव दल ने जब उसकी हरकतों को देखा तो कोई जोखिम उठाने की जगह उसे सुरक्षित निकालने की योजना पर काम शुरू किया। इसके लिए उन्होंने बोट की डिमांड भेजी। लेकिन दो घंटे तक जब बोट नहीं आई और धसान नदी का जल स्तर बढऩे लगा तो रेस्क्यू टीम ने बिना देर किए युवक को लाइफ जैकेट पहनाई, होमगार्ड ने लाइफ जैकेट पहनी और ग्रामीण युवकों के सहारे उसे नदी से निकालकर ले आए।


महज दो जैकेट और एक रस्सा लेकर पहुंच गए बचाने :
धसान नदी के टॉपू पर फंसे युवक को निकालने के लिए पुलिस ने जो रेस्क्यू टीम मौके पर भेजी उसके पास कोई संसाधन नहीं थे। केवल दो लाइफ जैकेट और एक छोटा सा रस्सा लेकर टीम युवक को बचाने पहुंच गई। बोट की जरूरत होने पर भी दो घंटे तक यहां बोट भी नहीं पहुंची। ग्रामीण तैराक युवकों के कारण टीम यह ऑपरेशन पूरा करने में सफल हो पाई।


युवक ने दिया ऐसा जवाब कि सभी हंस पड़े :
धसान नदी के टॉपू पर फंसे युवक भईयन कुशवाहा को बचाने के बाद जब पुलिस ने उससे नदी में कूंदकर आत्महत्या का कारण पूछा तो उसने ऐसा जवाब दिया कि सभी हंस पड़े। युवक भईयन का कहना था कि रात में उसे भगवान ने सपना देकर कहा था कि अगर तुम नदी में कूंद जाओगे तो अच्छी बारिश होगी। इसलिए वह नदी में कूंद गया। पुलिस ने बताया कि युवक मानसिक रूप से विक्षिप्त है। उसके परिजनों को सूचना दे दी गई है। उन्हे बुलाकर इसे सुपुर्द किया जाएगा।

Samved Jain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned