जिले में डेंगू का मामला आया सामने, युवक निकला पॉजिटिव

ग्वालियर में चला इलाज, मेडिकल कॉलेज की रिपोर्ट में पाया गया पॉजिटिव
पूर्व के तीन मरीज हो चुके स्वस्थ, नए मामले ने किया अलर्ट

By: Dharmendra Singh

Updated: 18 Sep 2021, 06:29 PM IST

छतरपुर। जिला मुख्यालय से लगे सौंरा गांव में 18 साल के युवक की रिपोर्ट डेंगू पॉजिटिव आई है। हालांकि ग्वालियर में तीन दिन के इलाज के बाद अब स्वास्थ में सुधार हो रहा है, ग्वालियर में भर्ती युवक को अस्पताल से डिस्चार्ज भी कर दिया गया है, लेकिन जिले में पिछले एक महीने में तीन मरीजों के स्वस्थ होने के बाद एक और पॉजिटिव रिपोर्ट ने अलर्ट किया है। घरों व आसपास साफ पानी जमा होने के चलते डेंगू पैर पसार सकता है। वहीं, पॉजिटिव रिपोर्ट की जानकारी मिलने पर मलेरिया विभाग अब मरीज के घर के आसपास 50 घरों का लार्वा सर्वे और सैंपल टेस्ट कराने जा रहा है।

खेत में पानी देने के बाद आया बुखार
सौंरा गांव के निवासी 18 वर्षीय निहित पटेल पिता दिलीप पटेल को 8 सिंतबर की शाम पिपटमेंट के खेत में पानी देने के बाद बुखार आया। हालात बिगडऩे पर अलगे दिन 9 सिंतबर को उसे नर्मदा अस्पताल भर्ती कराया गया, अगले दिन उसे जिला अस्पताल में शिफ्ट किया गया, जहां उसका 5 दिन इलाज चला, लेकिन हालत में सुधार नहीं आया तो परिजन निहित को ग्वालियर के अस्पताल ले गए, जहां 15 सितंबर को दिए गए सैंपल की मेडिकल कॉलेज ग्वालियर से आई जांच रिपोर्ट डेंगू पॉजिटिव पाई गई। निहित के प्लेटलेट्स 1.50 लाख से घटकर 41 हजार हो गए थे। लेकिन तीन दिन चले इलाज में प्लेटलेट्स बढ़कर 1 लाख हो गए। युवक की हालत पहले से बेहतर होने पर 17 सिंतबर को डॉक्टरों ने उसे डिस्चार्ज कर दिया है।

भोपाल-ग्वालियर में तीन हो चुके स्वस्थ
सौंरा में डेंगू का पॉजिटिव मामला आने के पहले तीन अन्य संदिग्ध मामले भी सामने आए चुके हैं, जो बाद में पॉजिटिव पाए गए। उनमें से एक जांच रिपोर्ट भोपाल और दो ग्वालियर में पॉजिटिव पाई गई थी। अनगौर निवासी 16 वर्षीय युवक का भोपाल में और 30 वर्षीय छापर गांव निवासी व 30 वर्षीय सलैया गांव निवासी युवक का ग्वालियर में इलाज किया गया, जो स्वस्थ हो चुके हैं। लेकिन नया मामला आने के बाद अब डेंगू को लेकर ज्यादा अलर्ट रहने की आवश्यकता है।

50-50 घरों में होगी जांच
जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. जीएल अहिरवार ने बताया कि शाम तक सौंरा के युवक की रिपोर्ट मिल जाएगी। टीम को भेजा जा रहा है। पीडि़त के घर व आसपास के 50 घरों का सर्वे कराया जाएगा। सभी के सैंपल भी लिए जाएंगे। उन्होंने डेंगू के मच्छर की रोकथाम के लिए घरों व आसपास साफ पानी जमा न होने देने की अपील की है। घरों के आसपास गड्ढों को भी मिट्टी से भरने व कूलर, गमले में पानी जमा न होने देने की सावधानी रखने की बात कही है।

्पिछले साल हुई थी दो मौत
पिछले साल छतरपुर शहर के बस स्टैंड इलाके में 11 वर्षीय बच्चे की 7 अक्टूबर को डेगूं से मौत हो गई थी। वहीं, फूला देवी मंदिर इलाके में भी 16 वर्षीय लड़के की मौत हो गई थी। लवकुशनगर में पॉजिटिव पाया गया था। इसके पहले 2018 में जिले में डेंगू के 4 केस मिले थे, वही 2019 में डेंगू के 8 केस सामने आए थे। डेंगू के मामले हर साल सामने आने के वाबजूद विभाग लार्वा सर्वे को लेकर लापरवाही बरत रहा है।

फील्ड में नहीं दिखती टीम
एक तरफ मलेरिया विभाग मौसमी बीमारियों के सीजन में लापरवाह नजर आ रहा है तो वहीं दूसरी तरफ विभाग के कागजी घोड़े फाइलों में बेरोकटोक दौड़ रहे हैं। मलेरिया विभाग के मुताबिक छतरपुर शहर में डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियों से जुड़े सर्वे को करने, दवा का छिड़काव करने और लोगों को इन बीमारियों से बचाव के प्रति जागरूक करने के लिए 11 टीमें तैनात की गई हैं। प्रतिदिन एक टीम एक वार्ड में जा रही है लेकिन विभाग की ये टीमें फील्ड पर नजर नहीं आ रही हैं।

विभाग के भरोसे न रहें, खुद करें बचाव
जिले में मौसमी बीमारियों का खतरा बढ़ रहा है। डेंगू के दो मामले सामने आ चुके हैं तो वहीं मलेरिया फैलने की आशंका भी है। इन बीमारियों से बचने के लिए पायराथिन दवा का छिड़काव किया जाता है जहां डेंगू का लार्वा मिलता है वहां 50 घरों का लार्वा कलेक्टर करने की गाइड लाइन है। नाली और गमलों में टेमोफास नामक दवा का छिड़काव किया जाता है। फिलहाल विभाग के द्वारा किए जाने वाले इन कार्यों में कितनी सच्चाई है यह समझना मुश्किल है लेकिन आम जनता इन बीमारियों से बचने के लिए कदम उठा सकती है। इसके लिए घरों के आसपास मौजूद कूलर, मटके, गमले, गड्ढे आदि में पानी जमा न होने दें। यदि किसी जगह पर पानी जमा है तो वहां जला हुआ आयल डालें। मच्छरों से बचाव करें, खिड़की दरवाजों पर मच्छर जाली लगाएं। छोटे बच्चों के लिए ज्यादा खतरा है इसलिए उन्हें पार्कों में भेजने के पहले फुल कपड़े पहनाएं।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned