नाली के चेंबरों को खुला छोड़ा, हादसे का डर

Drain chambers left open, fear of accident

बकस्वाहा. नगर के मुख्य मार्ग एक तरफ जहां नल जल योजना की खुदाई की मार झेल रहे है, वहीं दूसरी ओर मुख्य मार्गों के बीच से निकली नालियों के टूटे चेंबरों के कारण आए दिन लोग हादसे हो रहे हैं। इसको लेकर नगर के रहने वालों ने कई बाद नगर परिषद में आवेदन देकर सुधार कराने की मांग की गई। इसके बाद भी अधिकारियों द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
जानकारी के अनुसार नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के पहुंच मार्ग में 8 फीट चौड़ी रोड पर बीचों-बीच 4 फीट चौड़ा टूटा चेंबर आवागमन में व्यवधान तो पैदा कर रहा है। यहां पर आए दिन लोग गिरकर लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। इसके अलावा मॉडल स्कूल, एक्सीलेंस स्कूल व खेल ग्राउंड पहुंचने का एक मात्र जरिया है, जहां से रोजाना हजारों की तादाद में छात्र-छात्राओं व आम लोगों का आवागमन लगा रहता है। वहीं दूसरी ओर वार्ड क्रमांक 6 में मस्जिद के सामने, लुधियाना मोहल्ला पहुंच मार्ग में तकरीबन तीन से चार नालियों के चैंबर मुख्य मार्ग के बीचों बीच टूटे पड़े हैं।
यह मार्ग भी महाकाली मंदिर को आने का मुख्य मार्ग है। जहां पर रोज सैकड़ों की तादाद में श्रद्धालु आते जाते हैं और टूटे पड़े चैंबर श्रद्धालुओं के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। हरिजन मोहल्ला जहां से विकासखंड के लगभग 50 गांव को मुख्यालय से जोडऩे वाला एकमात्र मार्ग है, श्हां पर नालिया तो ढ़क दी गई लेकिन चेंबर के लिए जगह भी छोड़ी गई, और चेंबर नहीं लगाए गए। यही हालात नगर के सभी वार्डो के है। नगर के मुख्य मार्गों पर कहीं ना कहीं टूटे चैंबर हैं, जिससे दुर्घटनाएं होती रहती हैं। इसकी जानकारी अधिकारियों को होने के बाद भी कोई ध्यान नहीं है।
यह चिंता का विषय है जिन नालियों पर चैंबर नहीं हैं, उन पर विधिवत चैंबर लगवाए जाएंगे और जिन नालियों के चैंबर टूटे पड़े हैं, इन्हे भी जल्द दुरुस्त कराया जाएगा।
डीपी द्विवेदी, एसडीएम बिजाबर

हामिद खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned