स्वयं के भवन का सपना होगा पूरा, आंतरिक तैयारियों में जुटा यूनिवर्सिटी प्रबंधन

विवि प्रबंधन व स्वशासी महाराजा कॉलेज के स्टाफ के साथ बैठक भी संपन्न

By: Neeraj soni

Published: 25 Apr 2018, 11:52 AM IST

छतरपुर। सीएम शिवराज सिंह चौहान के कार्यक्रम की अभी कोई अधिकारिक घोषणा भले न हुई हो लेकिन महाराजा छत्रसाल यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने भवन निर्माण के लिए शिलन्यास कार्यक्रम को लेकर अपनी आंतरित तैयारियां शुरू कर दी हैं। सीएम के चार मई को छतरपुर आने के कयास लगाए जा रहे हैं। इसको लेकर यूनिवर्सिटी प्रबंधन अपनी तैयारियों में जुटा है। इसको लेकर विवि प्रबंधन व स्वशासी महाराजा कॉलेज के स्टाफ के साथ बैठक भी संपन्न हुई।
यूनिवर्सिटी भवन के निर्माण कार्य के लिए होने वाले शिलन्यास कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर विवि की आंतरित बैठक सोमवार की दोपहर ढाई बजे से शुरू हुई थी। इस दौरान कुलपति डॉ. प्रियवृत्त शुक्ल, कुलसचिव डॉ. एलएस सोलंकी ने यूनिवर्सिटी स्टाफ व महाराजा कॉलेज के स्टाफ के साथ बैठक की। यह बैठक करीब आधा घंटे तक चली। इस दौरान कार्यक्रम में आने वाले अतिथियों में मूमेंटों देने के अलावा व्यवस्थाएं आदि पर चर्चा की गई। यह भी तय किया गया कि एसीसी, एनएसएस के स्वयं सेवियों से किस तरह सहयोग लिया जाए। साथ ही और क्या-क्या बेहतर रह सकता है।
४१८ हेेक्टेयर की गई है भूमि आवंटित
शहर को विवि की सौगात करीब साढ़े तीन साल से ज्यादा समय पहले मिली थी। महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी का संचालन शहर के स्वशासी महाराजा कॉलेज की एक बिल्डिंग में ही किया जा रहा है। करीब ढाई साल पहले शहर के निकट स्थित बगौता मौजा में ४१८ एकड़ भूमि विवि को आवंटित की गई थी। आवंटन की प्रक्रिया पूरी होने पर शहर के पांच किमी दूर स्थित बगौता मौजे में १६८.१८९ हेक्टेयर यानी ४१८ एकड़ भूमि आवंटित की गई थी। इसके बाद चार जुलाई २०१६ व १० अगस्त २०१६ को दो चरणों में इस भूमि का सीमांकन कराने का का काम कराया गया। इसके बाद विवि को आवंटित ४१८ एकड़ भूमि में से ३०३ एकड़ भूमि में निर्माण कार्य के लिए सर्वे लोक निर्माण एजेंसी के द्वारा किया गया था। इसके बाद विवि का स्वयं का भवन बनाने के लिए निर्माण एजेंसी पीआईयू द्वारा दिल्ली के आर्किटेक्चरों से नक्शा तैयार कराया गया था। यूनिवर्सिटी प्रबंधन द्वारा भवन निर्माण के लिए शासन को डीपीआर भेज कर करीब ११५ करोड़ रुपए की डिमांड की गई थी।
मांगे ११५ करोड़, स्वीकृत हो रहे १५० करोड़
महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी प्रबंधन द्वारा एक साल पहले शासन को भेजे गए डीपीआर के तहत निर्माण कार्य के लिए ११५ करोड़ रुपए की डिमांड की गई थी। अब बजट स्वीकृत के लिए फाइल वित्त विभाग में हैं। यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार डॉ. एलएस सोलंकी का कहना है कि शासन द्वारा करीब १५० करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया जा रहा है। शीघ्र ही बजट मिलने की उम्मीद की जा रही है। निर्माण कार्य की जिम्मेदारी पीआईयू की होगी।
प्राथमिक चरण में ये होना है काम
१- प्रशासनिक भवन
२- एकेडमिक भवन
३- प्रवेश द्वार
४- इनफॉरमेशन सेंटर
५- बाउंड्री बॉल
६- परिसर में विकास कार्य
इनका कहना
यूनिवर्सिटी के लिए होने वाले निर्माण कार्य शिलन्यास के लिए यूनिवर्सिटी प्रबंधन द्वारा आंतरिक स्तर से तैयारियां की जा रही हैं। सीएम ४ मई को शिलन्यास के लिए आ सकते हैं। हालांकि अभी इसकी अधिकारिक जानकारी नहीं है।
डॉ. एलएस सोलंकी, कुलसचिव महाराजा छत्रसाल बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी

Neeraj soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned