छतरपुर में बूंदाबांदी, लवकुशनगर में ओले गिरे

उमस से बढ़ाई बेचैनी, शाम को गिरा तापमान

By: Dharmendra Singh

Published: 09 Jun 2021, 07:35 PM IST

छतरपुर। जिले में प्री मानसून दस्तक दे चुका है। 20 जून से मानसून आने की संभावनाओं के पहले ही जिले में पिछले दो दिन से हल्की बूंदाबांदी तेज हवाओं का दौर चल रहा है। बुधवार केा एक बार फिर छतरपुर में हल्की बूंदाबांदी के अलावा लवकुशनगर में ओलावृष्टि हुई। शाम करीब 5 बजे लवकुशनगर में तेज हवाओं के साथ पहले हल्की बूंदाबांदी हुई और इसके बाद ओले गिरने शुरू हो गए। 20 से 30 ग्राम वजन के ओले लगभग 20 मिनिट तक गिरते रहे। ओलावृष्टि के कारण खुले में रखी कई गाडिय़ों के कांच क्षतिग्रस्त हो गए।

मौसम विभाग के मुताबिक 20 जून तक मानसून पूरी तरह छतरपुर में पहुंच जाएगा। वहीं कृषि जानकारों के मुताबिक हल्की बूंदाबांदी के कारण किसानों की जमीनें जुताई के लिए तैयार हो रही हैं।वहीं, लगभग दो माह तक कोरोना कफ्र्यू के कारण दिल्ली और मेरठ की मंडियों में जाने वाले छतरपुर जिले के पान को बुरे हालातों का सामना करना पड़ा है और अब मौसम की बेरूखी के कारण यह फसल खराब हो चुकी है। विगत रोज 30 से 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली आंधी एवं बारिश के कारण क्षेत्र के पिपट पनागर में मौजूद पान के बरेजों को भारी नुकसान हुआ है। इसी तरह का नुकसान गढ़ीमलहरा और महाराजपुर में मौजूद पान खेती को भी हुआ है। पनागर के पान किसान ने खराब हुई फसल की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर डालकर जिला प्रशासन से सर्वे कराने और मुआवजा दिलाने की मांग की है।

दिल्ली से आ रही बस ने बाइक सवारों को कुचला, वृद्ध की मौतओरछा रोड थाना क्षेत्र के ग्राम कैंड़ी के समीप फोरलेन से आ रही दिल्ली बस ने अपनी तेज रफ्तार के कारण बाइक पर सवार एक युवक उसकी मां एवं दादा को टक्कर मार दी। इस हादसे में 80 साल के बुजुर्ग दादा की मौत हो गई जबकि मां-बेटे बुरी तरह जख्मी हैं। सुबह करीब 7 बजे हुए इस हादसे में बाइक पर बैठी महिला के पैर बस के पहिये के नीचे आ गए जिसके कारण दोनों पैर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुए हैं। हादसा इतना भीषण था कि स्थानीय लोगों ने आक्रोशित होकर बस में तोडफ़ोड़ कर दी। ग्रामीणों का कहना था कि यहां से गुजरने वाली अंतर्राज्जीय बसों की रफ्तार बेलगाम होने के कारण अक्सर हादसे होते हैं।
हादसे के बाद स्थानीय लोगों की सूचना पर ओरछा रोड थाना पुलिस एवं 108 एंबुलेंस मौके पर पहुंची। थाना प्रभारी अभिषेक चौबे ने बताया कि गंज निवासी एक युवक सुनील अहिरवार अपनी मां मीरा अहिरवार एवं दादा गफूला अहिरवार को बाइक पर बैठाकर ग्राम बनगांय की ओर जा रहा था तभी सामने से आ रही दिल्ली बस ने तेज रफ्तार होने के कारण इन्हें कुचल दिया। हादसे में तीनों लोग जख्मी हुए लेकिन सर्वाधिक चोटें 80 वर्षीय बुजुर्ग को आयीं जिसके कारण उसने दम तोड़ दिया। वहीं महिला मीरा अहिरवार के दोनों पैर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। थाना प्रभारी ने बताया कि इस मामले में प्रकरण दर्ज मामले की विवेचना शुरू कर दी है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned