scriptDue to jam, the traffic of the city stops at every step | जाम से शहर का ट्रैफिक बेजार, कदम- कदम पर थम जाती है वाहनों की रफ्तार | Patrika News

जाम से शहर का ट्रैफिक बेजार, कदम- कदम पर थम जाती है वाहनों की रफ्तार


बेतरतीब पार्किंग एवं सड़कों तक दुकान का सामान बड़ी वजह, ट्रैफिक सिग्नल भी बंद

छतरपुर

Updated: January 05, 2022 03:31:52 pm

छतरपुर। जिला सड़क सुरक्षा समित की पिछली तीन बैठकों में शहर के ट्रैफिक को सुधारने के लिए कई निर्णय लिए गए। पार्किग व्यवस्था, बाजार में रेड लाइन समेत कई सुधार के निर्णय पिछले महीने हुई बैठक में भी लिए गए। लेकिन सुधार की दिशा में एक भी कदम आगे नहीं बढ़ाया गया है। यही वजह है कि जिला मुख्यालय की सड़कों पर जाम से ट्रैफिक व्यवस्था बेजार है। प्रमुख मार्ग हो या बाजार की सड़कें सभी पर ट्रैफिक जाम से लोग हलाकान है। शहर के एक कोने से दूसरे कोने में जाने के लिए अधिकतम 30 मिनट की बजाए एक घंटा तक समय लग रहा है। ट्रैफिक की इस खराब हालत से इमरजेंसी में मुसीबत ज्यादा हो जाती है। अस्पताल पहुंचना हो, बस या ट्रैन पकडऩा हो, ट्रैफिक जाम के कारण परेशानी बढ़ जाती है।
यहां दिनभर रहता है ट्रैफिक जाम
यहां दिनभर रहता है ट्रैफिक जाम
यहां दिनभर रहता है ट्रैफिक जाम
शहर के सभी इलाके में ऐसे स्थान हैं,जहां ट्रैफिक जाम हर घंटे लगता है। खासकर बाजार वाले इलाके में समस्या ज्यादा है। बाजार में सुबह से लेकर देर रात तक जाम की स्थिति रहती है। वहीं बस स्टैंड रोड पेट्रोल पंप के पास जाम लगना आम बात हो गई है। इसके साथ ही चौक बाजार, कोतवाली के पास, महलन, स्टेट बैंक मैन ब्रांच के समाने, पीएनबी बैंक के सामने, कल्याण मंडपम के सामने, डाकखाना चौराहा, हटवारा बाजार में हर समय जाम से गुजरना पड़ता है। शहर के दोनों प्रमुख मार्ग कानपुर -सागर नेशनल हाइवे और रीवा-ग्वालियर राष्ट्रीय राजमार्ग पर कभी भी जाम लग जाता है। शहर के सभी चौराहे और तिराहे से बिना जाम का सामना करे गुजरना मुश्किल है।
बेतरतीब पार्किंग बड़ी मुसीबत
जहां सुबह के समय शहर की सड़कें खाली रहती है, वहीं दोपहर और शाम को वहां से गुजरना मुश्किल हो जाता है। सड़क पर वाहनों की भारी संख्या, सड़क तक पसरी दुकानें और पार्किंग की जगह नहीं होने से बेतरतीब वाहन पार्किंग के कारण जगह-जगह जाम लगता है। शहर के लोगों का कहना है कि जाम लगने के पीछे पार्किंग, ट्रैफिक सिग्नल, सड़क पर दुकानों का सामान 3000 गौवंश का सड़क पर रहना प्रमुख कारण है। लोगों का कहना है कि जिला प्रशासन ने अभी तक जाम को लेकर कोई कारगार उपाय नहीं किए हैं। यही वजह है कि जाम की समस्या नगर में दिन प्रतिदिन गहराती जा रही है। जाम के कारण लोगों का समय बर्बाद हो रहा है।
स्टाफ की कमी बनी बाधक
शहर की आबादी और वाहनों की संख्या बढऩे के साथ ही ट्रैफिक व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए यातायात पुलिस थाना शुरु किया गया। थाना के साथ ही स्टाफ के लिए पद भी स्वीकृत किए गए, लेकिन कभी यातायात थाना को पूरा स्टाफ मिल नहीं पाया। यही वजह है, कि शहर में ट्रैफिक के लिए बनाए गए 20 प्वॉइंटों पर यातायात पुलिस के जवान तैनात नहीं हो पाते हैं। अधिकतम 10 प्वॉइंट पर ही पुलिस के जवान ट्रैफिक व्यवस्था संभालते हैं, बाकी 10 जगह खाली ही रहती है। इसके अलावा वीआइपी ड्यूटी में भी स्टाफ की ड्यूटी लगती है। इस वजह से यातायात थाना पुलिस के जवान ट्रैफिक व्यवस्था संभाल ही नहीं पाते, इसलिए ट्रैफिक जाम और ट्रैफिक से जुड़ी अन्य तरह की समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है।
ट्रैफिर पुलिस नहीं आती नजर
शहर के मुख्य मार्गों पर आधा दर्जन चौराहे ऐसे हैं जहां वाहनों का दबाव सबसे अधिक रहता है। इसके बावजूद यहां खराब ट्राफिक व्यवस्था को दुरुस्त नहीं किया गया है। यहां पुलिसकर्मियों की मौजूदगी नहीं रहती है। कई स्थानों परे प्रति दिन औसतन एक हजार से अधिक वाहन गुजरते हैं। ट्रैफिक जाम होने से वाहन चालक रॉन्ग साइड से आवाजाही करने को मजबूर होते हैं। जिससे हालात और भी बदतर हो जाते हैं।
सिग्नल नहीं आ रहे काम
शहर के अंदर से निकले दो नेशनल हाइवे के ट्रैफिक को कंट्रोल करने के लिए पुलिस विभाग ने छह साल पहले छत्रसाल चौराहा, पुराना पन्ना नाका तिराहा, आकाशवाणी तिराहा और जवाहर रोड स्थित पेट्रोल पंप तिराहा पर ट्रैफिक को कंट्रोल करने के लिए ट्रैफिक सिग्नल लगाए गए थे। छत्रसाल चौराहा सहित तीन तिराहों पर लाखों की लागत से चार ट्रैफिक सिग्नल स्थापित किए, पर विभाग की लापरवाही के कारण इनमें से तीन सिग्नल नियमित रूप से शुरू नहीं हो पाए हैं। चार में से एक सिग्नल चालू है, यह भी आए दिन खराब हो जाता है।

फैक्ट फाइल
रजिस्टर्ड वाहन- 2.50 लाख
ट्रकों की संख्या- 2500
बसों की संख्या-500
नेशनल हाइवे पर ट्रैफिक दबाव- 10 हजार वाहन प्रतिदिन
एक्सीडेंट- 4 से 5 रोजाना

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

SC-ST को प्रमोशन में आरक्षण के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रमIndia-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीरीट परीक्षा में बड़ा खुलासा: दो करोड़ रुपए में सौदा, शिक्षा संकुल से ही हुआ था पेपर लीकAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमाननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारLegends League Cricket: इरफान पठान ने जड़े 6 छक्के, ब्रेट ली के सामने इंडिया महाराजास ने टेके घुटनेBJP अध्यक्ष VD Sharma ने मैहर विधायक Narayan tripathi के करीबी अध्यक्षों को हटाया, बढ़ सकती है मुश्किल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.