टीचिंग फैकल्टी न होने से पढ़ाई का सपना धूमिल, कैसे संवारें भविष्य

Rajesh Kumar Pandey

Publish: Oct, 12 2017 03:46:47 (IST)

Chhatarpur, Madhya Pradesh, India
टीचिंग फैकल्टी न होने से पढ़ाई का सपना धूमिल, कैसे संवारें भविष्य

कॉलेज में 85 शिक्षकों के पद स्वीकृत हैं लेकिन वर्तमान में सिर्फ 56 शिक्षक ही पदस्थ हैं।

छतरपुर . शहर के महाराजा कॉलेज में प्रवेश पाना न केवल जिले के बल्कि आसपास के जिलों के छात्रों का सपना रहता है। स्नातक और स्नातकोत्तर कक्षाओं में प्रवेश के लिए उच्च शिक्षा विभाग द्वारा कराई गई काउंसिलिंग के बाद प्रवेश प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। बावजूद इसके महाराजा कॉलेज शिक्षकों की कमी से शिक्षण कार्य भी प्रभावित हो रहा है। कॉलेज में 85 शिक्षकों के पद स्वीकृत हैं लेकिन वर्तमान में सिर्फ 56 शिक्षक ही पदस्थ हैं। एेसे में 29 पद रिक्त चल रहे हैं। जिससे छात्र-छात्राएं परेशान हैं।
महाराजा कॉलेज में डेढ़ दर्जन से अधिक विषयों की पढ़ाई की जाती है। कॉलेज में स्नातक में विभिन्न विषयों के 4792 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। जबकि स्नातकोत्तर में 1018 छात्र-छात्राएं अध्यनरत हैं। इस साल शहर के महाराजा कॉलेज में 560 सीटें बढ़ाई गई हैं। बावजूद इसके महाराजा कॉलेज में अध्यापकों की कमी की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। ऐसे में कॉलेज में 5810 छात्र-छात्राओं के बीच शिक्षण कार्य कराने के लिए 56 शिक्षक ही पदस्थ हैं। कॉलेज में प्रोफेसर व असिस्टेंट प्रोफेसर के पद खाली चल रहे हैं। शिक्षकों की कमी पूरी करने को लेकर पिछले दिनों छात्र-छात्राओं द्वारा जिला प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा गया था।
अतिथि शिक्षकों का ले रहे सहारा
महाराजा कॉलेज में जो पद रिक्त चल रहे हैं उसकी कमी को पूरा करने के लिए अतिथि शिक्षकों का सहारा लिया जा रहा है। स्वीकृत पदों के सापेक्ष रिक्त पद चल रहे पदों पर स्थाई स्टाफ की व्यवस्था नहीं हो पा रही है। कॉलेज में 85 शिक्षकों के पद स्वीकृत हैं। लेकिन वर्तमान समय में 56 शिक्षक ही पदस्थ हैं। एेसे में कॉलेज में 29 पद खाली चल रहे हैं।

स्टाफ की कमी को दूर करने के लिए प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए उच्चाधिकारियों को भी अवगत कराया गया है। साथ ही स्वीकृत पदों के सापेक्ष जो पद रिक्त चल रहे हैं उनमें अतिथि विद्वानों की व्यवस्था की गई है। कॉलेज में छात्र संख्या पिछले वर्ष की तुलना में ज्यादा हो गई है।
डॉ. एलएल कोरी, प्राचार्य महाराजा कॉलेज छतरपुर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned