जिला अस्पताल में जल्द शुरू होगा ई-अस्पताल, मरीजों की राह होगी आसान

जिला अस्पताल में जल्द शुरू होगा ई-अस्पताल, मरीजों की राह होगी आसान

Rafi Ahamad Siddiqui | Publish: Sep, 12 2018 11:01:55 AM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

मरीजों की जानकारी होगी ऑनलाइन, दूसरे जिले में बैठकर ले सकेंगे जानकारी

अनूप तिवारी
छतरपुर। केंद्र सरकार द्वारा छतरपुर जिला अस्पताल की बदहाल व्यवस्था को दुरूस्त करने के प्रयास लगातार किए जा रहे है। जिला अस्पताल के नवनिर्मित भवन का जल्द ही शिलान्यास होने वाला है। जिससे मरीजों की राह आसान होगी तो वहीं अब मरीजों का डाटा भी ऑनलाइन किए जाने की तैयारी हो रही है। जिसमें मरीजों की जानकारी, जांच कौन-कौन सी अस्पताल में हो रही है। पर्चा काउंटर से लेकर दवा केंद्र व डाक्टरों द्वारा क्या उपचार किया गया और जांचों सहित अनेक जानकारी अब घर बैठे व प्रदेश के किसी भी कौने में बैठकर प्राप्त की जा सकेगी। ई-अस्पताल के लिए तीन दिन तक पूर्भाभ्यास किया जाएगा। इसके बाद यह व्यवस्था सुचारू रूप से चलेगी।
जिला अस्पताल में पर्चा काउंटर से लेकर जांचे, दवा केंद्र व उपचार की सारी जानकारी अब ऑनलाइन होगी। अब मरीजों को पर्चा बनाने के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अभी तक जिला अस्पतला में साधा कागज में पर्चा बनाकर मरीज को थमा दिया जाता था। जिसमें मरीजों को पूरी जानकारी नहीं मिल पाती थी कि वह किस डाक्टर को दिखाएं और कौन सी जांच करवाए। अब इन समस्याओं से मरीजों को राहत मिलेगी।
क्या है ई-अस्पताल :
अब जिला अस्पताल में पूरी जानकारी ऑनलाइन होगी। जिससे लोगों को मरीज व अन्य जानकारी ऑनलाइन घर बैठे प्राप्त होगी। अभी तक तो मरीज का नाम व उम्र के अनुसार पर्चा बन जाता था। लेकिन अब सुविधा बढ़ाते हुए मरीज का नाम, पता, पिता का नाम, क्या बीमारी है, किस डाक्टर को दिखाना है, क्या जांचे होनी है। यह सब लिखा होगा। पर्चा काउंटर पर एक डाक्टर नियुक्त किया जाएगा जो मरीजों को पूरी जानकारी सटीक देगा। पर्चा के साथ मरीज को एक नम्बर दिया जाएगा। जो उसे डाक्टर को बताना होगा तभी उसका उपचार होगा। इसके बाद मरीज को दवा केंद्र पर दवाईयों के लिए पर्चा न दिखाकर नंबर बताना होगा। तो काउंटर पर उसका नंबर डालेने पर पूरी जानकारी आ जाएगी। जिसके बाद उन्हें दवा दी जाएगी। इसी के साथ कई जानकारी ऑनलाइन हो जाएगी। वहीं जो हादसे का शिकार, सर्प दंश व अन्य बीमारियों के लिए आयुष्मान योजना के तहत लाभान्वित भी होगा। लेकिन इसके लिए पर्चा बनाने के दौरान मिलने वाला नम्बर सुरक्षित रखना पड़ेगा। मरीजा को अपनी जानकारी चाहिए है तो वह नेट पर सर्च कर उपचार की जानकारी ले सकता है। बुधवार की शाम ५ बजे से तीन दिन रिहर्सन किया जाएगा। जिसके बाद यह व्यवस्थ सुचारू रूप से चलने लगेगी।
केंद्र सरकार से मरीजों की स्थिति जानने शुरू की कयावद :
केंद्र सरकार द्वारा जिला पिछड़ा आने के बाद लगातार जिला अस्पताल की मॉनटरिंग की जा रही है। जिसकों लेकर केंद्र सरकार की स्वास्थ्य टीम लगातार जिला अस्पताल का निरीक्षण कर रही है। वहीं निरीक्षण में देखा गया था कि जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों को पर्चा से लेकर डाक्टरों को दिखवाने में काफी कठिनाईयों का सामाना करना पड़ता है। वहीं मरीजों को दवा पर्चा पर लिख दी जाती है। जिस कारण कई दवा अंदर न मिलने से बाहर से लाना पड़ता है। अब केंद्र शासन को यह जानकारी आसानी से मिल सकेंगी कि कौन सी दवा जिला अस्पताल में मिल रही है और कौनी सी जांच नहीं हो पा रही है। जिसके बाद व्यवस्था को और ज्यादा बेहतर बनाया जा सकें।
इनका कहना है:
केंद्र सरकार द्वारा जिला अस्पताल की व्यवस्था को दुरूस्त रखते हुए ई-अस्पताल की सुविधा रखी गई है। अब मरीजों को सारी जानकारी ऑनलाइन होगी। वहीं जिन मरीजों को डाक्टर व जांचों की जानकारी नहीं मिल पाती है। उन्हें अब उपचार के लिए आसानी होगी। हमें ३०५ ऑपरेशन का लक्ष्य दिया जाता है। जिसमें हम १६५ ही ऑपरेशन कर पाते है। लेकिन यह सुविधा होने से ५०-६० ऑपरेशन और कर सकेंगे।
- डॉ. आरपी पांडे, सिविल सर्जन छतरपुर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned