1986 में पहली बार छतरपुर आए थे मशहूर शायर राहत इंदौरी

जल विहार के मेला के अखिल भारतीय मुशायरा में शामिल होने पहली बार आए छतरपुर
यादे कैफ के ऑल इंडिया मुशायरा में भी कई बार आए छतरपुर

By: Dharmendra Singh

Published: 11 Aug 2020, 08:40 PM IST

छतरपुर। मशहूर शायर राहत इंदौरी का छतरपुर से विशेष लगाव रहा है। वर्ष 1986 में मेला जल विहार के अखिल भारतीय मुशायरा में शामिल होने आए राहत इंदौरी व छतरपुर का ऐसा नाता बना कि वे 2017 तक लगातार मुशायरा में शामिल होने छतरपुर आते रहे हैं। वर्ष 1996 में छतरपुर में शुरु हुए यादे कैफे ऑल इंडिया मुशायरा में राहत इंदौरी 25 बार में 22 बार छतरपुर आए। राहत इंदौरी की शायरी रोज़ तारों को नुमाइश में ख़लल पड़ता है, चांद पागल है अंधेरे में निकल पड़ता है, छतरपुर के मुशायरा प्रेमियों में बहुत पसंद की जाती है।
यादे कैफ ऑल इंडिया मुशायरा के आयोजक फारुख ने बताया कि राहत इंदौरी और छतरपुर के मुशायरा प्रेमियों का विशेष रिश्ता रहा है। 25 साल के आयोजन में बमुश्किल दो या तीन बार को छोड़कर राहत इंदौरी छतरपुर हमेशा आते रहे हैं। 28 फरवरी को महल परिसर में होने वाले इस आयोजन की शान व जान राहत इंदौरी रहा करते थे। पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष अर्चना सिंह ने बताया कि वर्ष 2016 के जल विहार मेले के सातवें दिन अखिल भारतीय मुशायरे का आयोजन किया गया था। जिसमें देश के जाने माने शायर राहत इंदौरी शामिल हुए थे। छतरपुर के लोगों का उनसे विशेष लगाव रहा है।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned