इस कसम को पूरा करने के लिए पुत्रों ने की थी जीजा की हत्या

इस कसम को पूरा करने के लिए पुत्रों ने की थी जीजा की हत्या

Neeraj Soni | Publish: Sep, 03 2018 01:40:23 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

लुगासी मर्डर केस में एक आरोपी गिरफ्तार तीन अभी भी फरार

नौगांव। लुगासी चौकी क्षेत्र अंतर्गत उर्मिल नदी के घाट पर मिले शव के मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। जबकि तीन अन्य आरोपी अभी फरार है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद रिमांड पर लिया है। आरोपी से पूछताछ की जा रही है।
थाना क्षेत्र अंतर्गत लुगासी चौकी के निवासी जयसिंह यादव पिता धनश्याम यादव (32) की 27 अगस्त को उर्मिल नदी के घाट पर पोटरी में बंधी एक लाश पानी में उतराती मिली थी। जिसकी पहचान जय सिंह यादव के रूप में की गई थी। पुलिस ने पिता धनश्याम यादव के आवेदन पर गांव के रामसिंह यादव के पुत्र मुकेश यादव, रविन्द्र यादव व पड़ोसी सबल सिंह ठाकुर के खिलाफ धारा 302, 201 के तहत मामला दर्ज किया था। आरोपियों को पकडऩे के लिए पुलिस अधीक्षक के निर्देशन पर थाना प्रभारी नौगांव, चौकी प्रभारी रवि उपाध्याय में आरोपियों की तलाश शुरू की। रविवार को सरीला जिला हमीरपुर उत्तरप्रदेश में आरोपियों के छिपे होने की मुखबिर के द्वारा सूचना मिली। तब तत्काल चौकी प्रभारी रवि उपाध्याय, प्रधान आरक्षक रामआसरे चौरसिया, आरक्षक प्रमोद शर्मा, आरक्षक राजनारायण भट्ट, अर्जुन सिंह आदि ने घेराबंदी कर सरीला गांव से रिश्तेदार के यहां से गिरफ्तार किया। आरोपियों को गिरफ्तार कर लुगासी चौकी लेकर आए। जहां पर पुलिस द्वारा पूछताछ के दौरान आरोपी मुकेश यादव पिता रामसिंह ने बताया की मेरी शादीशुदा बहन को कोई अज्ञात युवक 7-8 वर्ष पहले गांव से अपने साथ भगा ले गया था। तभी मेरे पिता रामसिंह यादव ने यह कसम खाई की जब तक वह उसका पता लगाकर उसको जान से नहीं मार देगे तब तक वह अपनी दाड़ी मुंछ और सर के बाल नहीं कटवाएंगे। 6 माह पूर्व मुकेश का छोटा भाई रविन्द्र यादव व गांव का ही रहने वाला सावंत सिंह ठाकुर जो दिल्ली में रहकर मजदूरी का काम करते थे उनको अचानक जयसिंह व अनीता टकरा गई। जिससे पता चला की गांव का ही रहने वाला जयसिंह यादव ही रामसिंह की पुत्री अनीता को भगा कर ले गया था। उसके बाद रामसिंह के पुत्रों ने भूमिका रची कि जय सिंह को बहला फुसलाकर यहां लाया जाए। जिसमें सावंत सिंह को भी शामिल किया। रामसिंह का पुत्र रविन्द्र, मुकेश और सावंत सिंह दिल्ली में जयसिंह व अपनी बहन से मिले और बीती बाते भूलने को कहा। इसके बाद रामसिंह का पुत्र जयसिंह के यहां अक्सर आने जाने लगा। रामसिंह का छोटा पुत्र रविंद्र रक्षाबंधन का हवाला देकर 25 अगस्त को जयसिंह और अपनी बहन अनीता को लेकर लुगासी अपने घर आया और उसी रात शराब पी और मुर्गा खाया। जयसिंह के सोने के बाद रात 12 बजे के लगभग रविंद्र व सावंत सिंह ने उसके हाथ पैर पकड़े और मुकेश ने कुल्हाड़ी से गर्दन पर बार किए। जिससे उसकी गर्दन अलग हो गई। फिर उसको कपड़े में लपेटकर उर्मिल नदी में फेंक आए। 26 अगस्त की सुबह रामसिंह ने गांग के नाऊ को बुलाकर अपनी दाड़ी व सर के बाल बनवाए। 27 अगस्त को उर्मिल नदी से जय सिंह की लाश मिली। अनीता व उसके बच्चे रामसिंह के साथ है। पुलिस ने मुकेश को फिलहाल रिमांड पर लिया है और पूछताछ की जा रही है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned