पंचायत भवन के नाम पौने 3 लाख रुपए निकाले, फिर भी है अधूरा

आरोप: सरपंच-सचिव कर रहे मनमानी

लवकुशनगर. जनपद क्षेत्र की ग्राम पंचायत पठा में पांच साल पहले जिस ग्राम पंचायत भवन के निर्माण कार्य की नींव रखी गई थी, वह आज तक नहीं बन पाया है। उसकी स्थिति अभी भी जस की तस है। लेकिन निर्माण एजेसी के जिम्मेदारों ने करीब पौने तीन लाख रुपए की राशि पंचायत के खाते से निकालकर निकाल कर गबन कर ली है। जबकि मौके पर हुए कार्य को देखा जाए तो खर्च राशि के अनुपात में एक तिहाई भी निर्माण कार्य नहीं हुआ।
गांव के हरसेवक पटेल, दामोदर, मन्नू कुशवाहा, अजुद्दी आदि ग्रामीणों ने बताया कि 12 लाख 85 हजार की लागत से तैयार होने वाले इस पंचायत भवन में 2 लाख 85 हजार की राशि परफारमेस ग्रांट की एवं शेष 10 लाख की राशि मनरेगा से मिलनी थी। लेकिन यह पंचायत भवन ग्रामीणों के लिए सफेद हाथी साबित हो रहा है। पांच साल पहले इस कार्य को शुरू कराया गया निर्माण कार्य को शुरुआत में रोककर राशि का आहरण कर सरपंच सचिव सहित तत्कालीन उपयंत्री ने राशि का बंदरबांट कर लिया उक्त पंचायत भवन का निर्माण न होने से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।
जो निर्माण था वह भी ध्वस्त हो गया : पंचायत भवन के निर्माण कार्य को लेकर सरपंच-सचिव ने उपयंत्री से लेआउट लेकर पिलर के लिए छड़े खड़ी की थी। इसके बाद बीम तैयार कारवाई लेकिन गुणवत्ता में कमी के चलते तैयार की गई बीम ध्वस्त हो गई और पिलर के लिए खड़ी छड़े जंग खा रही हैं।
शिकायत के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई
ग्रामीणों ने बताया कि उक्त निर्माण कार्य बीते पांच वर्ष से अधूरा पड़ा होने एवं राशि आहरण करने के मामले ग्रामीणो ने कई बार विभागीय अधिकारियों से शिकायत की लेकिन दोषियों पर आज तक कोई कार्रवाई न होने से उन्हें निराशा हाथ लगी है। जनपद कार्यालय लवकुशनगर में पदस्थ अधिकारी मामले की जांच करने की बात कहकर पल्ला झाड़ते रहे हैं। पांच साल गुजरने को है लेकिन उनकी ग्राम पंचायत का न तो पंचायत भवन बन पाया और न ही सरकारी राशि आहरण करने वालों पर कोई कार्रवाई हो सकी है। ग्रामीणों का कहना है इस मामले को लेकर जिले के अधिकारियों को भी अवगत कराया जाएगा।
&पंचायत भवन के निमाज़्ण कायज़् को लेकर बरती गई लापरवाही में दोषियो को चिन्हित कर कारज़्वाई प्रस्तावित की जाएगी
केएस खरे, सहायक यंत्री जनपद पंचायत लवकुशनगर

हामिद खान Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned