scriptGaurihar District CEO wrote a letter to the District CEO to recover th | तत्कालीन सरपंच-सचिव से राशि वसूलने गौरीहार जनपद सीईओ ने जिला सीईओ को लिखा पत्र | Patrika News

तत्कालीन सरपंच-सचिव से राशि वसूलने गौरीहार जनपद सीईओ ने जिला सीईओ को लिखा पत्र

9.48 लाख की राशि का गबन करने वाले तत्कालीन सरपंच-सचिव ग्राम पंचायत सिसोलर से राशि वसूलने गौरीहार जनपद सीईओ ने बीते रोज जिला सीईओ को पत्र लिखा

छतरपुर

Updated: January 09, 2022 08:09:39 pm

छतरपुर। गौरिहार क्षेत्र में गांव के विकास लिए आई राशि को सरपंच सचिव ने विभिन्न कार्यो में 9.48 लाख की राशि को मिलकर गबन कर लिया मामला सामने आया है। जिसके बाद सचिव ने अधिकारियों से मिलकर स्थांतरण करवा लिया। वहीं तत्कालीन सरपंच सोमप्रकाश श्रीवास को एक अन्य मामले में पद से पृथक कर दिया। लेकिन सरकारी राशि डकारने के मामले में अभी भी कोई कार्रवाई नहीं हो सकी। तीन सदस्यीय जांच टीम द्वारा बीते 17 दिसम्बर को जांच प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के बाद जनपद सीईओ गौरीहार पीके मिश्रा ने जिला सीईओ को पत्र लिखकर तत्कालीन सरपंच व सचिव से राशि वसूलने सहित अन्य कार्रवाई प्रस्तावित करने प्रतिवेदन भेजा है। गौरीहार जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत सिसोलर में वर्ष 2015-16 में आदिमजाति कल्याण से स्वीकृत सीसी रोड व नाली निर्माण की प्रशासकीय स्वीकृति 5 लाख रुपये थी, उक्त सीसी परसराम यादव के मकान से शिवप्रसाद यादव के मकान तक निर्माण कार्य करवाया गया। उपयंत्री द्वारा किए गए मूल्यांकन के अलावा तत्कालीन सरपंच सोमप्रकाश श्रीवास व सचिव अवधेश पटेल द्वारा 2.64 लाख की अधिक राशि का आहरण कर लिया गया। इसी प्रकार सत्ती दाई की पुलिया से माध्यमिक शाला भवन तक स्वीकृत राशि से 1.57 लाख रुपए की अधिक राशि का अहरण कर डकार ली गई। पंचायत क्षेत्र के जयबरन में सामुदायिक पौधारोपण में 2.13 लाख रुपए अधिक राशि का अहरण कर लिया गया। जांच टीम द्वारा उक्त स्थान पर महज 15 प्रतिशत ही वृक्ष मौजूद पाए गए, वर्ष 2017-18 में 14.45 लाख की लागत से बन रहे पंचायत भवन में भवन का अधूरा निर्माण कार्य छोड़ सरपंच-सचिव ने 3.13 लाख की अधिक राशि डकार गए, विभाग की इन सभी मामलों में कार्रवाई लंबित हैं। जिसपर जांच के बाद भी कार्रवाई नहीं हो सकी।
तत्कालीन सरपंच-सचिव से राशि वसूलने गौरीहार जनपद सीईओ ने जिला सीईओ को लिखा पत्र
तत्कालीन सरपंच-सचिव से राशि वसूलने गौरीहार जनपद सीईओ ने जिला सीईओ को लिखा पत्र
तीन सदस्यीय जांच टीम ने गबन का किया खुलासा
ग्रामीणों की शिकायत के बाद जनपद सीईओ गौरीहार द्वारा एपीओ जोगेंद्र निगम, उपयंत्री भूपेंद्र तिवारी और उपयंत्री अमित वर्मा की तीन सदस्यीय टीम ने मौका स्थल पहुंचकर जांच की और तत्कालीन सरपंच सोमप्रकाश श्रीवास व सचिव अवधेश पटेल पर 9.48 लाख रुपए गबन पाया गया था।
गबन के बाद भी सचिव पर आज तक नहीं हुई कोई कार्रवाई
ग्रामीणों ने बताया की तत्कालीन सचिव अवधेश पटेल ने पंचायत में रहते लाखों रुपए का गबन किया है। फिर भी विभागीय अधिकारियों ने कोई एक्शन नहीं लिया। वर्तमान में सचिव की मालपुर ग्राम पंचायत में पदस्थ है। वहीं कार्रवाई न होने से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.