शासन ने लॉकडाउन के प्रस्ताव को नहीं दी मंजूरी, आज खुलेगा बाजार

जिले के शहरी क्षेत्र में 19 अप्रेल तक लॉकडाउन बढ़ाने का आपदा प्रबंधन समिति ने भेजा था प्रस्ताव

By: Dharmendra Singh

Published: 11 Apr 2021, 10:27 PM IST

छतरपुर। जिला आपदा प्रबंधन समिति के 19 अप्रेल तक लॉकडाउन बढ़ाने के प्रस्ताव को शासन ने मंजूरी नहीं दी है। आज लॉकाडउन नहीं रहेगा। कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने बताया कि शासन से मंजूरी नहीं मिलने से लॉकडाउन नहीं रहेगा। हालांकि कोविड गाइडल लाइन के पालन के लिए सख्ती जारी रहेगी। गौरतलब है कि छतरपुर की बैठक कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में रविवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष छतरपुर में सम्पन्न हुई। बैठक में पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा, सीईओ जिला पंचायत एबी सिंह, अपर कलेक्टर बीबी गंगेले, सीएमएचओ, सिविल सर्जन, सीएमओ नगरपालिका और सांसद एवं विधायक प्रतिनिधि सहित समिति के सदस्यगण उपस्थित रहे। जिला आपदा प्रबंधन समिति द्वारा लिए गए निर्णय के प्रस्ताव शासन को भेजे गए। शहरी क्षेत्रों में कोरोना कफ्र्यू 19 अप्रेल तक बढ़ाने का प्रस्ताव राज्य शासन को भेजा गया। जिसे देर रात शासन ने ना मंजूर कर दिया।

लॉकडाउन के लिए निर्धारित की थी दुकानों की टाइमिंग
कोरोना संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए जिला आपदा प्रबंधन समिति छतरपुर द्वारा लॉकडाउन के दौरान आवश्यक दुकानों के खुलने कोलेकर समय तय किया गया है। शहरी क्षेत्रों में प्रात: 6 बजे से 11 बजे तक और शाम 6 से 8 बजे तक दूध का विक्रय चालू रहेगा। फल एवं सब्जी का विक्रय प्रात: 9 से शाम 5 बजे तक, किराना एवं राशन की दुकानें पर विक्रय प्रात: 9 से शाम 5 बजे तक चालू रखने के प्रस्ताव पर सहमति जाहिर की गई, जबकि होम डिलेवरी के लिए अपर कलेक्टर से अनुमति लेनी होगी। होम डिलेवरी विक्रेताओं के नंबर डिस्प्ले होंगे। इच्छुक विक्रेताओं को आवेदन करना होगा, जिस आधार पर प्रात: 10 से शाम 6 बजे तक ही होम डिलीवरी की अनुमति मिलेगी।

आपदा समिति के सदस्यों ने नागरिकों से मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और हाथों को साफ करने तथा मास्क नहीं पहनने वाले और सामाजिक दूरी का पालन नहीं करने वाले लोगों के खिलाफ और अधिक शक्ति करने का निर्णय लिया। समिति द्वारा निर्णय लिया गया कि जिले में तेजी से कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या बढ़ते क्रम में आने से आम लोगों के जीवन को सुरक्षित रखना सबसे जरूरी है इसी लिए कोरोना कफ्र्यू लगाने का फैसला लेते हुए लोगों से अपील की गई है कि घरों में सुरक्षित रहें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और अनावश्यक रूप से कोरोना कफ्र्यू में बाहर नही निकले ऐसा करके हम दूसरे लोगों के जीवन को कोरोना संक्रमण से बचा सकेंगे और हमारा यह सहयोग कोरोना की चौन को तोडऩे में सफल होगा। कलेक्टर ने आपदा प्रबंधन समिति के सदस्यों को जानकारी देते हुए बताया कि धार्मिक एवं अन्य प्रकार के जुलूस निकालने पर पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा। धार्मिक पर्व एवं शादी कार्यक्रम की अनुमति लेना अनिवार्य होगी। जिसकी सीमित संख्या में सशर्त अनुमति दी जाएगी, उल्लंघन पर होगी कार्यवाही।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned