आधा दर्जन ट्रांसफॉर्मर खराब, सुधरवाने के लिए किसान लगा रहे दफ्तर के चक्कर

बिजली सप्लाई न होने से नहीं हो पा रही बोबनी, बोई गई फसलों को भी नहीं मिल रहा पानी

By: Dharmendra Singh

Updated: 29 Nov 2020, 08:38 PM IST

छतरपुर। हरपालपुर इलाके के ग्रामीण क्षेत्रों में ट्रांसफॉर्मर खराब होने से किसान परेशान हैं। ट्रांसफॉर्मर खराब होने से बिजली सप्लाई बंद हैं। जिससे किसान चना,मटर की फसलों की सिंचाई एवं गेहंू की बोबनी नहीं कर पा रहे हैं। ट्रांसफॉर्मर सुधरवाने के लिए किसान बिजली कंपनी के दफ्तर के चक्कर काट रहे हैं।

एक पखवाड़े से खराब है ट्रांसफॉर्मर
रबी सीजन की फसलों की बोबनी और सिंचाई के लिए किसानों द्वारा बिजली कंपनी को राशि जमा कर खेतों में डीपी लगवाई गई हैं। लेकिन लोड बढऩे और बार-बार बिजली कटौती व लो वोल्टेज के चलते ट्रांसफार्मर खराब हो रहे हैं। जिन्हें बदलवाने के लिएकिसान बिजली ऑफिस के चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन एक पखवाड़ा बीतने के बाद भी किसानों को सिंचाई के लिए रखे गए डीपी न बदले जा रहे हैं, न इन्हें सुधारा जा रहा है। जिससे बिजली सप्लाई न मिलने से किसान परेशान हैं।

ये ट्रांसफॉर्मर हैं खराब
हरपालपुर ग्रामीण क्षेत्र में ट्रांसफार्मर खराब पड़े हैं। लहदरा में 100 केवी और 63 केवी, गुडो़ 25 केवी,कैथोकर 25केवी,पचवारा 63 केवी,महेड़ 25 केवी, काकुनपुरा 25 केवी, हनुमान तलैया 25 केवी, टीला 100 केवी, हरपालपुर रोशन के कुआ 100 केवी,चुरवारी गांव में ढाबा के पास 100 केवी के ट्रांसफॉर्मर खराब पड़े हैं। इन गांवो के ट्रांसफार्मर बदलवाने के लिये किसान तीन-तीन सप्ताह से बिजली कंपनी के दफ्तार के चक्कर लगा रहे हैं।

ये कहना है किसानों का
किसान आशुतोष मिश्रा,राघवेंद्र सिंह,लाखन सिंह,परशुराम कुशवाहा,मुन्ना लुहार ,राजकुमार सिंह, हरगोविंद कुशवाहा ने आरोप लगाया कि बिजली कंपनी द्वारा ट्रांसफार्मर की क्षमता से ज्यादा किसानों को कनेक्शन दे दिए गए हैं, जिससे लोड बढऩे के चलते ट्रांसफॉर्मर खराब हो गए हैं। शिकायतों के बाद भी बिजली कंपनी द्वारा 15 दिन से ट्रांसफॉर्मर नहीं बदले जा रहे हैं। ऐसे में बिजली सप्लाई ठप होने से सिंचाई नहीं हो पा रही है।

करा रहे सुधार
ट्रांसफार्मर पर लोड बढऩे से ये स्थिति बन रही हैं। खराब डीपी किसानों की शिकायत पर सुधार और बदवालने का कार्य किया जा रहा है। जल्द ही समस्या का समाधान कर लिया जाएगा।

पवन गुप्ता, जेई, बिजली कंपनी

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned