गांव पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम, 13 मरीज मिले उल्टी-दस्त से पीडि़त

गांव पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम, 13 मरीज मिले उल्टी-दस्त से पीडि़त

Rafi Ahamad Siddiqui | Publish: Sep, 06 2018 11:52:33 AM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

चार घंटे तक गांव में रही स्वास्थ्य विभाग की टीम

छतरपुर. बकस्वाहा ब्लॉक क्षेत्र अंतर्गत मड़देवरा गांव में उल्टी-दस्त का प्रकोप फैलने से हड़कंप मच गया। यहां एक व्यक्ति की इलाज के दौरान सागर मेडिकल कॉलेज में मौत भी हो गई है। इसकी जानकारी मिलने पर बुधवार को जिला महामारी रोग विशेषज्ञ डॉ. अल्पना गुप्ता के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुंची। इस दौरान टीम ने गांव का भ्रमण कर जिन घरों में लोग बीमार थे उसकी स्थिति देखी। स्वास्थ्य विभाग को गांव में १३ मरीज उल्टी-दस्त से पीडि़त मिले हैं। टीम ने करीब चार घंटे तक गांव में स्थिति दी। पाया कि गांव में पेयजल आपूर्ति के लिए बनाई गई टंकी का पाइप लीकेज है और वहां गड्ढे भी हो गए हैं। जिससे गंदगी इस पानी में शामिल हो रही है। जिससे पानी दूषित होकर लोगों के घर तक जा रहा है। लोग दूषित पानी पीने से बीमार हो रहे हैं। सूचना पर पीएचई विभाग के कर्मचारी भी मौके पर पहुंचे और पानी के सैंपल लिए।
जानकारी के अनुसार पिछले चार दिन से मड़देवरा गांव में उल्टी-दस्त का प्रकोप फैला हुआ है। गांव में दो सितंबर को रामप्रसाद लोधी (52) को उल्टी-दस्त की शिकायत होने पर इलाज के लिए शाहगढ़ के अस्पताल ले जाया गया था। जहां हालत में सुधार न होने पर उसे मेडिकल कॉलेज सागर के लिए रेफर कर दिया गया था। जहां इलाज के दौरान दो दिन पहले उसकी मौत हो गई। मामला संज्ञान में आते ही स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। बुधवार की दोपहर करीब एक बजे जिला महामारी रोग विशेषज्ञ डॉ. अल्पना गुप्ता के नेतृत्व में बीएमओ बड़ामलहरा डॉ. केपी बमोरिया, सुपरवाइजर केवी शर्मा के साथ स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी गांव पहुंचे। इस दौरान उन परिवारों से मिले जहां उल्टी-दस्त के मरीज थे। इस दौरान मरीजों का हाल-चाल जानने के बाद उन्हें आवश्यक सलाह दी गई। साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पाया कि गांव में पेयजल आपूर्ति मुहैया कराने वाली पानी की टंकी से जुड़ी पाइप लाइन में लीकेज है। जिससे गंदगी पानी में मिल रही और पानी दूषित हो रहा है। पानी दूषित होने के कारण ही गांव के लोग बीमार हो रहे हैं। जिस पर पीएचई के कर्मचारियों को बुला कर जलश्रोतों में दवा डलवाई गई। साथ ही दवा डालने के पहले के सैंपल व दवा डालने के बाद के सैंपल लिए गए। दोनोंं ही सैंपलों को जांच के लिए लैब भेजा जाएगा। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दो मरीजों के लैट्रिंग के भी सैंपल लिए हैं।
ये हैं बीमार
स्वास्थ्य विभाग की टीम जब मड़देवरा गांव पहुंची तो १३ मरीज उल्टी-दस्त से पीडि़त मिले। जिनमें शिवकली (34), नीलम (3), प्रियांश (5), रितिक (1.5), शिवम (8), सुमित रानी (65), प्रीतम (13), रितेश (4), प्यारीबाई (30), खुशबू (1), विनीत, उर्मिल आदि शामिल हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned