शिक्षक दिवस पर जिले के ८८ सेवानिवृत्त शिक्षकों का किया सम्मान

उत्कृष्ट विद्यालय में आयोजित हुआ जिला स्तरीय कार्यक्रम
जिलेभर में कार्यक्रमों का आयोजन कर शिक्षकों के प्रति जताया सम्मान

By: Dharmendra Singh

Published: 05 Sep 2019, 07:18 PM IST

Chhatarpur, Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

छतरपुर। 1 सितम्बर 18 से 31 अगस्त 19 तक जिले के विभिन्न विद्यालयों से सेवानिवृत्त हुए 88 शिक्षकों को शिक्षक दिवस पर जिला स्तरीय कार्यक्रम में शॉल श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया गया। ईशानगर विकासखण्ड के 21, नौगांव के 18, लवकुशनगर के 11, गौरिहार के 8, राजनगर के 11, बिजावर के 7, बड़ामलहरा के 9 तथा बकस्वांहा विकासखण्ड के 3 सेवानिवृत्ति शिक्षकों ने यह सम्मान प्राप्त किया। इसी कार्यक्रम में राज्य शिक्षा केन्द्र भोपाल द्वारा वॉल ऑफ फ्रेम पुरस्कार प्राप्त करने वाली संस्थाओं के प्रमुखों को पदक एवं प्रशस्ति-पत्र भी प्रदान किए गए।
शिक्षक से बड़ा कोई पद नहीं
शिक्षक के पद से बड़ा कोई पद नहीं है। महान से महान विभूतियां भी सारी उपलब्धियां हासिल करने के बाद शिक्षक बनना पसंद करती हैं। यह बातें शिक्षकों के सम्मान में आयोजित समरोह में छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी ने व्यक्त किए। गुरुवार को जिला स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह का गरिमामय आयोजन शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय क्रमांक 1 में किया गया। समारोह का शुभारंभ मां सरस्वती की पूजा अर्चना के साथ हुआ। इसके बाद अतिथियों द्वारा डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के चित्र पर माल्यार्पण किया गया। सरस्वती वंदना, स्वागत गीत तथा मध्यप्रदेश गान उत्कृष्ट विद्यालय की छात्राओं ने प्रस्तुत किया। स्वागत भाषण में जिला शिक्षा अधिकारी एसके शर्मा ने सभी का अभिनंदन करते हुए गुरुजनों की महिमा पर प्रकाश डाला।
कार्यक्रम के अन्त में आभार प्रदर्शन एपीसी रामहित व्यास द्वारा किया गया। इस समारोह में कांग्रेस के जिला अध्यक्ष मनोज त्रिवेदी, कार्यकारी जिलाध्यक्ष अनीस खान, नवोदय विद्यालय के उप प्राचार्य जेएन यादव,क्रीड़ा अधिकारी श्रीकांत द्विवेदी, निजसहायक केके खरे, मीडिया प्रभारी सुशील त्रिपाठी, एपीसी आरएस भदौरिया, प्रदीप खरे, समस्त विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी एवं बीआरसी, स्थानीय प्राचार्य तथा बड़ी संख्या में शिक्षक शिक्षिकाएं भी उपस्थित रहे।
तिलक लगाकर किया सम्मान
महाराजा महाविद्यालय छतरपुर के विद्यार्थियों ने शिक्षक दिवस पर गुलदस्ता देकर शिक्षकों का सम्मान किया और दिवस की खुशी केक काटकर जाहिर की। वही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के कार्यकर्ताओं ने भी महाविद्यालय के सभी विभागों में पहुंचकर शिक्षकों को तिलक लगाकर तथा मिठाई खिलाकर सम्मान दिया। महाविद्यालय के भूगर्भशास्त्र विभाग में सभी विद्यार्थियों ने आपस में मिलकर शिक्षकों को पुष्पगुच्छ भेंटकर शिक्षकों का आशीर्वाद लिया। विभागाध्यक्ष डॉ ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह ने विद्यार्थियों की सफलता के लिए "फाइव वरशिस फिफ्टी"का सिध्दांत दिया गया है।वहीं विभाग प्रोफेसर पीके जैन ने कठिन परिश्रम और लग्न से सफलता हासिल करने का मंत्र दिया। महाविद्यालय प्राचार्य डॉ एल एल कोरी ने इस अवसर पर सभी विद्यार्थियों से मन लगाकर पढ़ाई करने और चहुंमुखी प्रतिभा का विकास करने की अपील करते हुए भविष्य में प्रगति पथ पर अग्रसर रहने की शुभकामनाएं दीं।

शिक्षक दिवस पर पूर्व छात्र का सम्मान
उत्कर्ष राज सोनी का महर्षि विद्यालय में कक्षा 8 से 12 तक अध्ययन व उच्च शिक्षा के बाद उसका सिविल जज में चयन हुआ। विद्यालय में उत्कर्ष सोनी, उनके पिता दिनेश सोनी व माता मंजू सोनी का शॉल व तुलसी का पौधा भेंट कर सम्मान किया गया।
विद्यालय में शिक्षक दिवस के अवसर पर छात्रों ने शिक्षक बनकर कक्षाओं में पढ़ाया भी। गुरू पूजा के बाद छात्रों ने कविता व भाषण के द्वारा अपने अपने विचार व्यक्त किए और शिक्षक के गुणों के पर प्रकाश डाला। विद्यालय के प्राचार्य सीके शर्मा ने कहा कि, जितना जीवन सरल बनाएंगें, उतनी ही सफलता प्राप्त होगी।
रोटरी क्लब ने किया सम्मान
सर्वपल्ली डॉ. राधाकृष्णन के जन्मदिवस के अवसर पर शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन रोटरी क्लब द्वारा किया गया। क्लब के पीआरओ प्रवीण गुप्त ने बताया कि इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में वरिष्ठ साहित्यकार एवं आदर्श शिक्षिका रही मालती श्रीवास्तव मौजूद रहीं। उन्होंने बताया कि समारोह में आशाराम त्रिपाठी एवं रेखा मिश्रा का उत्कृष्ट सेवाओं के लिए सम्मान किया गया।
घायल शिक्षक का घर जाकर किया सम्मान
लायंस क्लब खजुराहो के द्वारा जहां खजुराहो के स्वामी प्रणवानंद सरस्वती शिशु मंदिर में शिक्षको का सम्मान किया गया। इस अवसर पर घायल शिक्षक पंडित इंद्रजीत दीक्षित का उनके घर पहुंचकर सम्मान कर सहयोग राशि प्रदान की गई। सरस्वती शिशु मंदिर खजुराहो में आयोजित शिक्षक सम्मान के अवसर पर उपस्थित छात्र छात्राओं ने वैदिक रीति रिवाज से मंत्रोंचार तथा मां वीणा वाणी की वंदना तथा स्वागत गीत प्रस्तुत कर उपस्थित जनों का मन मोह लिया। शिक्षक पीएल तिवारी कन्या शाला राजनगर, सुमित्रा गोंड़ कंजीपुरा तहसील राजनगर, कांति जैन एवं रणमत शर्मा सरस्वती शिशु मंदिर खजुराहो, सीवी शुक्ला रनगवां एवं इंद्रजीत दीक्षित ललगवां को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सरस्वती शिशु मंदिर के समस्त शिक्षक, शिक्षिकाओं छात्र-छात्राएं एवं लायंस क्लब के डॉक्टर मुराद अली, अविनाश तिवारी, राजीव शुक्ला, महरूम सिद्धकी, नीरज गुप्ता, डॉ. राघव पाठक, प्रवेंद्र अग्रवाल के अलावा अफरोज खान विनय एवं संदीप सोनी उपस्थित रहे।
संगम सेवालय द्वारा किया गया शिक्षकों का सम्मान
संगम सेवालय ने शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन किया, जिसके अंतर्गत एंजिल पब्लिक स्कूल में पहले बच्चों के द्वारा शिक्षकों का तिलक लगाकर सम्मान किया गया, फिर सेवालय की संचालिका अंजू अवस्थी ने सभी शिक्षकों को उपहार देकर सम्मानित किया। इस दौरान विपिन अवस्थी,अंजू अवस्थी,ऋतु शुक्ला, नीरज दीक्षित, अम्बरीष मिश्रा, अजय पाठक के साथ स्कूल के शिक्षक और विद्यार्थी उपस्थित रहे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned