शौचलय निर्माण में बड़ामलहरा फिसड्डी, बारीगढ़ ओडीएफ में शामिल

- जिले की आठ ब्लॉकों में चार ब्लॉक ओडीएफ में होने जा रहे शामिल, चार ब्लॉक लक्ष्य से पीछे
- दो अक्टूबर तक जिले को ओडीएफ घोषित किए जाने की निर्धारित है अंतिम तिथि

Samved Jain

September, 1302:12 PM

Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

रफी अहमद सिद्दीकी छतरपुर। स्वच्छ भारत अभियान के तहत जिले के आठ ब्लॉकों को ओडीएफ घोषित किया जाना है। जिसके लिए आठों ब्लॉकों में शौचालय निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। छतरपुर जिले में आठ ब्लॉकों में बड़ामलहरा अब तक सबसे फिसड्डी रहा। यहां ६६३ शौचालयों का निर्माण शेष बचा है। वहीं बारीगढ़ इस अभियान में ओडीएफ घोषित किए जाने में अव्वल रहा। राजनगर ब्लॉक भी ओडीएफ के करीब है। छतरपुर ब्लॉक भी ओडीएफ में शामिल होने जा रहा है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वच्छ भारत अभियान के तहत जिले के आठों ब्लॉकों में शौचालय निर्माण का कार्य कराया जा रहा है। इस अभियान को गति देने के लिए पिछले वर्ष मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राजनगर के ग्राम सूरजपुरा आए थे। जहां पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शौचालय का गड्ढा खोद कर ग्रामीण क्षेत्र में बनाए जाने वाले शौचालयों की शुरूआत की थी। इस अभियान के तहत हर घर में शौचालय बनाया जाना था। केंद्र सरकार की यह महत्वकांक्षी योजना अब छतरपुर जिले में अमली जाना पहनने जा रही है। जिसमें सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को भी इस अभियान को सफल बनाने में ड्यूटी लगाई गई थी। इतना ही नहीं घर के बाहर शौच करने वालों को समझाने के लिए शिक्षकों की भी ड्यूटी लगाई गई। सुबह शिक्षक गांवों में घर के बाहर शौच करने वालों पर नजर रखे रहे। इतना ही नहीं गांव के बाहर खड़े होकर उन्हें सीटी भी बजानी पड़ी और लोगों को घर के बाहर शौच न करने की समझाइश भी दी गई। इस अभियान में एनजीओ, कर्मचारियों, अधिकारियों, पोस्टर, बैनरों, दीवर लेखन के माध्यम से भी लोगों को जागरुक किया गया। ग्रामीणों को यह भी बताया गया कि बाहर जाने से किस तरह की बीमारियां घेर लेती हैं। खुले में शौच करने से उन्हें व उनके परिवारों को हानि हो सकती है। इसी का असर रहा कि अब छतरपुर जिले की आठों जनपद पंचायतों में करीब चार ब्लॉक ओडीएफ में शामिल होने के लिए जा रहे हैं। बारीगढ़ को ओडीएफ में शामिल कर लिया गया है। वहीं बकस्वाहा, राजनगर, छतरपुर भी ओडीएफ में शामिल होने जा रहे हैं। जबकि बिजावर, बड़ामलहरा, नौगांव व लवकुशनगर ब्लॉक अभी ओडीएफ से काफी दूर हैं। स्वच्छ भारत अभियान के बड़ामलहरा सबसे फिसड्डी रहा।
२ अक्टूबर को छतरपुर जिला होना है ओडीएफ घोषित
स्वच्छ भारत अभियान के तहत छतरपुर जिले में दो अक्टूबर तक शत्प्रतिशत शौचालय का काम पूरा कराया जाना है। जिससे कि छतरपुर जिला ओडीएफ में शामिल हो सके। इसके लिए विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों को पूरी सक्रियता से लगे हुए हैं। अक्टूबर २०१७ में छतरपुर ब्लॉक में २२ हजार शौचालयों का निर्माण होना था। सितंबर २०१८ में अब केवल दो २८१ शौचालय ही छतरपुर ब्लॉक में शेष बचे हैं। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि इसे दो दिन में पूरा कर लिया जाएगा।
छतरपुर ब्लॉक की स्थित
छतरपुर जनपद पंचायत शौचालय में वर्ष 2018-19 में 22 शौचालयों का निर्माण कराया जाना था। जिसके तहत अब तक २१ हजार ७१९ शौचालयों का निर्माण कराया जा चुका है। अब केवल 281 शौचालयों ही बनना शेष बचा है। जिन्हें दो दिन के अंदर पूरा कर दिया जाएगा। इसके लिए हितग्राहियों के खातों में अनुदान की राशि डाल दी गई है।
कुल बने शौचालय
जिले में - 2 लाख 2496 परिवारों को मिला लाभ
ब्लॉक में शेष रह गए शौचालयों की स्थिति
बड़ामलहरा- 663
लवकुशनगर- 256
बिजावर- 156
नौगांव- 130
बकस्वाहा- 15
राजनगर- 1
बारीगढ़- ०
छतरपुर- 281
इनका कहना
ब्लॉक क्षेत्र में कुछ ही शौचालयों का निर्माण शेष है। इसे जल्द ही पूरा कर छतरपुर जनपद पंचायत को ओडीएम घोषित किया जाएगा। इसको लेकर काम तेजी से चल रहा है।
मजहर अली, सीईओ जनपद पंचायत छतरपुर
इनका कहना
छतरपुर ब्लॉक में 22 हजार शौचालय निर्माण होने थे। अब केवल 281 शौचालयों का निर्माण शेष बचा है। शीघ्र ही इन शेष शौचालयों का निर्माण का काम पूरा करा लिया जाएगा।
नीलम तिवारी, ब्लॉक समंवयक

Samved Jain
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned