दूसरे दिन भी पेप्टेक गु्रप के ठिकानों पर चलती रही सर्चिंग

छतरपुर में भी मिला करीब 30 लाख रुपए का कैश, दस्तावेजों की फोटोकॉपी कराने में ही लग गया पूरा दिन

By: Neeraj soni

Published: 20 Jul 2018, 12:59 PM IST

छतरपुर। शहर के बिल्डर और पेप्टेक ग्रुप के मालिक नीरज चौरसिया की फर्मों सहित निवास पर गुरुवार को भी दिनभर आयकर विभाग की इंवेस्टीगेशन विंग ने सर्चिंग की कार्रवाई जारी रखी। देर शाम तक यह कार्रवाई पेप्टेक ग्रुप के बिजनेस ऑफिस और उनके निवास पर चलती रही। आयकर विभाग की टीम को यहां से केवल दस्तावेज ही अधिक मात्रा में मिले हैं। टीम को 30 लाख रुपए का नगद कैश भी मिला है, लेकिन इसका हिसाब मिल जाने के कारण टीम को मायूसी का सामना करना पड़ा है।

दो दिन की सर्चिंग में भी टीम यहां से कुछ खास हासिल नहीं कर पाई है। दूसरे दिन शाम तक आयकर विभाग की टीम दस्तावेजों की फोटो कॉपी कराने में जुटी रही। कंप्यूटर की हार्ड disk से लेकर मोबाइल डाटा आदि का भी कलेक्शन टीम ने किया है। किशोर सागर तालाब स्थित पेप्टेक के बिजनेस ऑफिस में शटर बंद करके पूरे दिन टीम दस्तावेज ही खंगालती रही। संभावना है कि शुक्रवार को भी यह कार्रवाई जारी रह सकती है। आयकर विभाग के अफसरों ने गुरुवार को भी किसी से बात नहीं की। मीडिया के लोगों को भी पूरी कार्रवाई से दूर रखा। पेप्टेक ग्रुप का केवल नेटवर्क भी दो दिन से इस कार्रवाई के चलते ठप पड़ा है।


गौरतलब है कि आयकर विभाग की टीम ने बुधवार को सुबह 6 बजे तीन अलग-अलग वाहनों और पुलिस बल के साथ पेप्टेक ग्रुप के मालिक नीरज चौरसिया और विनय चौरसिया के खैरे की देवी स्थित घर तथा किशोर सागर तालाब के पास स्थित बिजनेस ऑफिस में एक साथ छापा मारा था। बाद में पेप्टेक टाउन में भी यह टीम पहुंची थी। दो दिनों से यह बड़ी टीम पेप्टेक गु्रप के सभी ठिकानों पर सर्चिंग करने में लगी है। लेकिन टीम को यहां से कुछ भी ऐसा नहीं मिल पाया है, जिसके आधार पर वे पेप्टेक ग्रुप को निशाने पर ले सके। उधर आयकर विभाग की इंवेस्टीगेशन विंग ने छतरपुर के साथ भोपाल, सतना, ग्वालियर और इंदौर में पेप्टेक ग्रुप के रियल इस्टेट और इंटरटेमेंट कारोबार से जुड़े एक दर्जन ठिकानों पर एक साथ छापे मारे थे।

Neeraj soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned