scriptinternational Women's Exploitation Day celebrat first time in india | यहां महिला दिवस का किया गया विरोध, स्वास्थ्य कर्मियों ने मनाया महिला शोषण दिवस | Patrika News

यहां महिला दिवस का किया गया विरोध, स्वास्थ्य कर्मियों ने मनाया महिला शोषण दिवस

काले वस्त्र पहनकर निकाली रैली, जिले की स्वास्थ्य सेवाएं चौपट

छतरपुर

Published: March 09, 2018 09:58:16 am

छतरपुर। नियमितीकरण व निष्कासित स्वास्थ्य कर्मचारियों वापिस नियुक्त करने की मांग को लेकर १९ फरवरी से अनिश्चिकालीन हड़ताल पर बैठे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ ने गुरुवार को विश्व महिला दिवस पर अनोखा विरोध प्रदर्शन किया है। एक दिन पहले महिलाओं ने बुधवार को मेंहदी लगाकर विरोध किया था। वहीं गुरुवार को महिला दिवस पर महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने काली साड़ी पहनकर नारेबाजी करते हुए विशाल रैली निकाली और विरोध प्रदर्शन किया। जिमसें सभी जिले के स्वास्थ्य कर्मचारी मौजूद रहे। वहीं १९ फरवरी से अनिश्चिकालीन हड़ताल पर बैठे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी की हड़ताल से जिले की स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से प्रभावित हो रही है। जिसका खामियाजां मरीजों को भुगतना पड़ रहा है।
१९ फरवरी से अनिश्चिकालीन धरने पर बैठे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ छतरपुर द्वारा अपनी विभिन्न मांगों को लेकर धरने पर बैठे स्वास्थ्य कर्मचारियों ने सरकार की नीतियों का विरोध करते हुए। महिला दिवस को महिला शोषण दिवस के रूप में मनाते हुए काली साड़ी पहनकर जमकर नारेबाजी करते हुए विशाल रैली निकाली गई। जिसमें स्वास्थ्य कर्मचारियों के साथ-साथ महिला कर्मचारियों ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया। इस दौरान सैकड़ों स्वास्थ्य कर्मचारी मौजूद रहें। जिला प्रचार अधिकारी राजेन्द्र खरे ने बताया कि स्वास्थ्य कर्मचारियों को नियमितीकरण एवं निष्कासित कर्मचारियों की वापिसी व संविदा कर्मचारियों को मंहगाई भत्ता दिए जाने की मांग को लेकर १९ फरवरी से अनिश्चिकालीन हड़ताल पर बैठे है। इसी क्रम में बुधवार को स्वास्थ्य महिलाओं ने हाथों में मेंहदी लगाकर विरोध प्रदर्शन किया था। उसी को लेकर गुरूवार को महिलाओं ने साड़ी पहनकर विरोध किया। जिला प्रचार अधिकारी ने बताया कि ०९ मार्च को भोपाल में स्वास्थ्य कर्मचारियों का एक दल मिलेगा मुख्यमंत्री से मिलकर इन समस्याओं से अवगत कराया जाएगा।
जिले की स्वास्थ्य सेवाए रही ठप
वहीं संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा अनिश्चिकालीन हड़ताल पर जाने से पूरे जिले की स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह लचर हो चुकी है। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभागों में ताला जड़ा हुआ है। जिससे ग्रामीण अंचलों के लोगों काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

CHHATARPUR

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.