जटाशंकर के शैल चित्रों को विश्व धरोहर सूची में शामिल किया जाए : जादव मोलाई पाऐंग


फॉरेस्ट मैन ऑफ इंडिया के रूप में प्रसिद्ध पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त जादव ने देखे जटाशंकर के शैल चित्र

By: Dharmendra Singh

Published: 13 Sep 2021, 06:30 PM IST

छतरपुर। भारत के वन पुरुष और फॉरेस्ट मैन ऑफ इंडिया के रूप में प्रसिद्ध पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त असम के मोलाई पाऐंग ने सोमवार की सुबह श्री जटाशंकर धाम की पहाडिय़ों पर बने शैल चित्र देखें। न्यास अध्यक्ष अरविंद अग्रवाल ने बताया कि जादव मोलाई पाऐंग ने शैल चित्रों बारीकी से देखा और इन्हें अद्भुत बताते हुए इनको विश्व धरोहर सूची में शामिल कर,संरक्षित किए जाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि इन शैल चित्रों के संरक्षण और पर्यावरण को बढ़ावा देने से क्षेत्र में पर्यटक बढ़ेंगे। जादव मोलाई पाऐंग ने न्यास की व्यवस्थाओं की भी सराहना की।
इस भ्रमण के दौरान सामाजिक कार्यकर्ता अमित भटनागर और शरद कुमरे भी मौजूद रहे। जादव मोलाई पाऐंग ने शिव धाम को प्राकृतिक, मनमोहक स्थल बताते हुए कहा कि लोगों को पर्यावरण के प्रति गंभीर होना आवश्यक है। हर व्यक्ति को पौधे लगाकर उनका संरक्षण करना चाहिए। जादव ने कहा कि जंगल का जीवन में क्या महत्व है मैंने समझा है ,इसीलिए अपना जीवन जंगल को लगाने में लगा दिया, 30 साल से लगातार अपना जीवन पर्यावरण के लिए समर्पित कर दिया और लोगों के सहयोग से 1360 हेक्टेयर जंगल खड़ा किया। आज हमारे देश मे जंगल काटे जा रहे हैं, वो भी विकास के नाम पर,हमें समझना होगा जंगल हमारे जीवन का आधार है ,जब जीवन नही होगा तो कैसा विकास? किसका विकास?

कौन है जादव पाऐंग
जादव पायेंग असम के रहने वाले हैं । इन्होंने अपना जीवन पर्यावरण संरक्षण के लिए समर्पित कर अथक परिश्रम किया है। सोशल मीडिया आदि से दूर रहने वाले जादव पाऐंग को सबसे बड़ा पर्यावरण प्रेमी भी कहा जाता है। जादव पायेंग ने 1360 एकड़ का जंगल खड़ा करके न सिर्फ हजारों जंगली जानवरों को बसेरा दिया है, बल्कि पर्यावरण संरक्षण की एक अनोखी मिसाल भी कायम की है। इस जंगल को इन्हीं के नाम पर मोलाई जंगल कहा जाता है। इस अनोखे कार्य के लिए उन्हें पद्मश्री अलंकार से सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें भारत का वन पुरुष और फॉरेस्ट मैन ऑफ इंडिया भी कहा जाता है। इनके बारे में अमेरिका, जर्मनी, ताइवान,असम, महाराष्ट्र के स्कूलों की किताब में पढ़ाया जाता है। उनके प्रशंसक पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम आजाद, अमिताभ बच्चन सहित पूरी दुनिया भर में हैं।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned