JNU हमले पर दिग्विजय सिंह ने गृहमंत्री अमित शाह को लेकर कही ये बात

JNU Case: जेएनयू हमले की जिम्मेदारी लेते हुए गृह मंत्री करें गुंडों पर कार्रवाई: दिग्विजय सिंह, जेएनयू हमले और सीएए पर सरकार को लिया आड़े हाथ, बताया संविधान विरोधी,बसोर समाज के राष्ट्रीय सम्मेलन में बतौर मुख्यअतिथि हुए थे उपस्थित

By: Samved Jain

Updated: 06 Jan 2020, 08:13 PM IST

छतरपुर. जेएनयू में छात्राओं के साथ बर्ताव किया गया हैं उसका घोर विरोध करता हूं। इस बात का दुख हैं कि जिस जेएनयू में नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री, लीबिया के प्रधानमंत्री पढ़ें, नोबल विजेता अभिजीत बेनर्जी जैसे लोग दिए। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, विदेश मंत्री जयशंकर प्रसाद पढ़ें। उस जेएनयू लड़कियों के हॉस्टल में गुड़ागर्दी करते हुए लड़कियों सिर फोड़ दिए। ये कौन लोग हैं? इस बात को चिन्हित करना पड़ेगा। गृहमंत्री अमित शाह आपकी जिम्मेदारी हैं कि आप उन सब गुंडों के खिलाफ कार्रवाई कीजिए, जिन्होंने गुंडागर्दी कीं। हम इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते। यह बात पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने हरपालपुर में आयोजित बसोर समाज के राष्ट्रीय सम्मेलन में कही।

दिग्विजय सिंह ने नागरिकता संविधान कानून पर कहा कि हमसे पूछा जा रहा हैं कि आप भारत के नागरिक हैं या नहीं प्रमाण दीजिए। अब सरकार पूछती हैं कि नागरिकता का प्रमाण पत्र दीजिए, तो कहां से लाएंगे। पूरा षडय़ंत्र इस देश में बंटवारे का हैं। लाइन में देश को खड़ा कराना चाहते हैं। जो हमसे से प्रमाण पत्र मांग रहे हैं, पहले अपने घर वालों का प्रमाण लाकर दें।


उन्होंने कहा कि ये वह लोग हैं जिन्होंने भारतीय संविधान को मानने से इंकार कर दिया था। ये वह लोग हैं, जिनकी सोच व विचारधारा ने महात्मा गांधी की हत्या की थी, लेकिन महात्मा गांधी की सोच और विचारधारा कभी मर नहीं सकती। हमें ऐसी विचारधारा को आगे लाना है जो तोडऩे वाली नहीं बल्कि सबको जोडऩे वाली हो। आज देश में अशांति फैली है। इस तरह से भारत को मजबूत नहीं किया जा सकता।

JNU हमले पर दिग्विजय सिंह ने गृहमंत्री अमित शाह को लेकर कही ये बात

बसोर समाज ने 18 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा
हरपालपुर में कृषि उपज मंडी प्रांगण में अन्नत्यागी महर्षि गुरु गोकुलदास महाराज की 113वीं जयंती पर अखिल भारतीय बसोर समाज विकास समिति ने 16वां राष्ट्रीय महासम्मेलन आयोजित किया गया।। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह रहे। दोपहर करीब 1.30 बजे पूर्व सीएम कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे। कार्यक्रम का शुभारंभ द्वीप प्रज्जवलन के साथ किया गया। इस दौरान बसोर समाज के राष्ट्रीय पदाधिकारियों ने दिग्विजय सिंह को मुख्यमंत्री के नाम संबोधित 18 सूत्रीय मांगों का एक ज्ञापन भी सौंपा। जिस पर से कुछ पर सिंह ने भी पदाधिकारियों से चर्चा की और इसे सीएम तक पहुंचाने के साथ ही चर्चा करने का भी आश्वासन दिया।


प्रभारी मंत्री बोले निगम मंडल में करेंगे विचार
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जिले के प्रभारी मंत्री ब्रजेन्द्र सिंह राठौर ने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने छिंदवाड़ा में बैंड स्कूल खोला था तब लोग उनकी निंदा कर रहे थे, लेकिन आज उसी स्कूल से बसोर समाज को रोजगार मिल रहा हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की भलाई के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। उन्होंने समाज की राजनीति में भूमिका पर कहा कि टिकट नहीं मिल पाए कोई बात नहीं, लेकिन निगम मंडल में हम इस पर विचार करेंगे। समाज के कार्यों की भी उन्होंने विचार रखे।


इस अवसर पर बसोर समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष केडी राही, प्रदेशाध्यक्ष नैन सिंह बमनेले, कांग्रेस जिलाध्यक्ष मनोज त्रिवेदी, महाराजपुर विधायक नीरज दीक्षित, किरन अहिरवार, प्रदेश कार्यवाहक अध्यक्ष मुन्ना लाल महोबिया ,जिलाध्यक्ष राजू बंसल सहित बड़ी संख्या में समाज के लोग मौजूद रहे।

Amit Shah BJP President Amit Shah
Show More
Samved Jain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned