पुरानी रंजिश के चलते लाठी-डंडों से पीट-पीटकर दुकानदार की हत्या

नामजद सातों आरोपित साइबर सेल की मदद से गिरफ्तार

By: Dharmendra Singh

Published: 22 Nov 2020, 09:08 PM IST

Chhatarpur, Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

छतरपुर। जिला मुख्यालय के निकटवर्ती ग्राम हमा में पुरानी रंजिश के चलते लाठी-डंडों से पीटकर एक किराना दुकानदार की हत्या का मामला सामने आया है। पुलिस ने हत्या के मामले में नामजद सातों आरोपितों को साइबर सेल की मदद से गिरफ्तार भी कर लिया है। पूर्व में पुलिस ने मारपीट के इस मामले में आरोपितों के खिलाफ के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया था लेकिन दुकानदार की उपचार के दौरान मौत हो जाने पर सातों आरोपितों के खिलाफ हत्या का मामला पंजीबद्ध किया। ओरछा रोड थाना पुलिस ने हत्या के इस मामले में आरोपित मुकेश, राहुल अहिरवार सहित सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

ये है मामला
प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम हमा मिहीलाल पुत्र बोरा अहिरवार अपने घर में किराना की दुकान चलाता है। शनिवार की शाम करीब 4 बजे जब वह अपनी दुकान पर बैठा था तभी पुरानी रंजिश के चलते दो नामजद सहित सात सजातीय आरोपित उसकी दुकान और घर में घुसे और लाठी-डंडों से मिहीलाल पर हमला बोल दिया। आरोपित, किराना दुकानदार को मरणासन्न हालत में छोड़कर फरार हो गए। दुकानदार के स्वजनों ने तत्काल 100 डॉयल पुलिस को सूचना दी तो पुलिस वाहन मौके पर पहुंचा और मारपीट में गंभीर रूप से घायल हुए किराना दुकानदार को जिला अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने उपचार शुरू किया। शनिवार की रात ओरछा रोड थाना प्रभारी माधवी अग्निहोत्री पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची लेकिन गंभीर रूप से घायल दुकानदार तब तक दम तोड़ चुका था।

मृतक ने मारी थी एक नामजद के पिता को कुल्हाड़ी
ग्राम हमां में एक अहिरवार दुकानदार की हत्या के पीछे की वजह पुरानी रंजिश बताई गई है। ओरछा रोड थाना प्रभारी माधवी अग्निहोत्री ने बताया कि हत्या का मुख्य आरोपित मुकेश और राहुल अहिरवार है। आरोपित मुकेश के पिता बल्ली अहिरवार को मृतक मिहीलाल ने कुल्हाड़ी मार दी थी। हत्या के प्रयास के इस मामले में मृतक मिहीलाल धारा 326 में जेल से छूटकर आया था। पिता को कुल्हाड़ी मारने की घटना के बाद से मुकेश किराना दुकानदार मिहीलाल से रंजिश मान बैठा था।

विभिन्न ठिकानों में मिले हत्या के आरोपित
एकराय होकर किराना दुकानदार की हत्या के सातों आरोपितों को पुलिस ने विभिन्न स्थानों से गिरफ्तार किया है। थाना प्रभारी माधवी अग्निहोत्री के अनुसार देर रात से ही आरोपितों की तलाश शुरू की गई। हमां गांव में दबिश देने पर जब आरोपित नहीं मिले तो साइबर सेल की मदद से लोकेशन ट्रेस कर सुबह तक सातों आरोपितों को हिरासत में ले लिया गया।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned