scriptKotwali police violated the rules and regulations | नाबालिग को न्याय दिलाने के बजाए कोतवाली पुलिस ने किया नियम-कानून का उल्लंघन | Patrika News

नाबालिग को न्याय दिलाने के बजाए कोतवाली पुलिस ने किया नियम-कानून का उल्लंघन


पुलिस द्वारा कानून के उल्लंघन पर महिला एवं बाल विकास अधिकारी ने पत्र लिखा

छतरपुर

Published: September 14, 2022 05:38:49 pm


छतरपुर. तीन दिन बंधक बनाकर 13 वर्षीय अनूसूचित जाति की बच्ची के साथ बलात्कार के मामले में पुलिस ने कई नियम-कानूनों का उल्लंघन किया है। महिला एवं बाल विकास विभाग ने नियमों के उल्लंघन गिनाते हुए कार्रवाई के लिए कोतवाली थाना प्रभारी को पत्र लिखा है। वहीं, बालकल्याण समिति ने नाबालिग व उसके माता पिता के न मिलने पर कलेक्टर को पत्र लिखकर सावधान किया, हालांकि पत्र के तीन दिन बाद मंगलवार की शाम नाबालिग अपने घर लौट आई है। लेकिन एक सप्ताह तक बच्ची तीन विभागों को खोजने से भी नहीं मिल रही थी। इधर, विहिप व बजरंग दल ने जिले में लव जिहाद के मामलों में खजुराहो व महाराजपुर पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक के नाम ज्ञापन सौंपा है।
विहिप-बजरंग दल ने लगाया आरोप- खजुराहो पुलिस नहीं कर रही लव जिहाद के मामले में कार्रवाई
नाबालिग को न्याय दिलाने के बजाए कोतवाली पुलिस ने किया नियम-कानून का उल्लंघन
महिला एवं बाल विकास विभाग ने गिनाए उल्लंघन, पुलिस पर कार्रवाई के लिए लिखा पत्र
महिला एवं बाल विकास अधिकारी राजीव सिंह ने पत्र में कोतवाली पुलिस द्वारा नाबालिग के साथ बलात्कार के मामले में किए गए नियम-कानून के उल्लंघन गिनाए गए हैं। पुलिस ने घटना के बाद बालिका को 24 घंटे के अंदर बाल कल्याण समिति के सामने पेश नहीं किया। दो दिन बाद बिना दस्तावेज के पेश किया। पुलिस ने बच्ची को माता-पिता के सुपुर्द कर दिया, जबकि ये बाल कल्याण समिति के जरिए होना था। पीडि़त नाबालिग के कथनानुसार उसे रात भर थाना में रखा गया, जबकि किसी भी सूरत में बालिका को थाना में नहीं रखा जा सकता है। बालिका को बार-बार थाना बुलाया गया, आरोपी को बालिका के घर ले जाया गया। इसलिए बालकों की देखरेख और संरक्षण अधिनियम 2015 व नियम 2016 व लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012, नियम 2020 के प्रावधान अनुसार कार्रवाई की जाए।
पुलिस नहीं कर रही लव जिहाद के मामले में कार्रवाई
बुधवार को विश्व हिन्दू परिषद व बजरंग दल ने कलेक्टर व एसपी को ज्ञापन सौंपकर लव जिहाद के मामले में खजुराहो व महाराजपुर पुलिस द्वारा कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए वैधानिक कार्यवाही की मांग की है। विहिप के विभाग मंत्री अनुपम गुप्ता का आरोप है कि खजुराहो थाना इलाके के एक पुरवा से 17 वर्षीय नाबालिग 4 जून से नहीं मिल रही है। परिवार के द्वारा बताए गए आरोपी आरिफ तनय रहमत के खिलाफ पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है। घटना के सदमें से माता-पिता लकवाग्रस्त हो चुके हैं। लेकिन पुलिस ने अबतक कोई एक्शन नहीं लिया। वहीं महाराजपुर थाना इलाके से एक लड़की 12 अगस्त से नहीं मिल रही है। परिवार द्वारा बताए गए आरोपी अंसार तनय मनिया के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई संतोषजनक नहीं है। ज्ञापन सौंपने में विभाग मंत्री अनुपम गुप्ता, बजरंग दल प्रांत बल उपासना केन्द्र प्रमुख संजू बाबा, जिला मंत्री पुष्पेन्द्र सिंह परमार, जिला संयोजक छतरपुर सौरभ खरेे, जिला संयोजक लवकुशनगर जीतू शर्मा, जिला सहसंयोजक राशू सिंह, विभाग सहमंत्री धीरज सेठ, प्रांत सह संयोजक रजनी सिंह परमार, मातृ शक्ति जिला सह संयोजिका कल्पना यादव, प्रखंड संयोजिका दुर्गा वाहनी ज्योति सैनी समेत सभी कार्यकर्ता व पदाधिकारी मौजूद थे।
नाबालिग एक सप्ताह बाद लौटी
तीन दिन तक बंधक बनाकर बलात्कार व कोतवाली में पुलिस की मारपीट का शिकार नाबालिग बच्ची एक सप्ताह बाद अपने घर लौट आई है। बीते दिनों बाल कल्याण समिति ने कलेक्टर को पत्र लिखकर बाताया था कि बच्ची व उसके माता-पिता नहीं ङ्क्षमल रहे हैं। जिससे उसकी काउंसलिंग व विधिक सहायता नहीं की जा सकी है। नाबालिग बच्ची को विधिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए अफसर उसे एक सप्ताह से तलाश रहे थे। लेकिन बच्ची व उसके माता-पिता नदारद गायब थे। बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) के द्वारा कलेक्टर को पत्र लिखकर इस पर चिंता जताई गई है। पूर्व में पीडि़त के परिजनों ने जिला विधिक सेवा प्राधिकरण में आवेदन देकर विधिक सहायता मांगी थी। इस पर विधिक सेवा प्राधिकरण ने काउंसलर नियुक्त कर पीडि़त के घर काउंसिलिंग के लिए 6 सितंबर को भेजा था। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव ने दुष्कर्म पीडि़त की मदद के लिए प्रियंका श्रीवास्तव को काउंसलर नियुक्त कर उसे पीडि़त के घर भेजा था। काउंसलर को पीडि़त नाबालिग, उसके परिजन और माता-पिता घर पर नहीं मिले। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी राजीव सिंह ने बाल संरक्षण अधिकारी अनिल तिवारी को भी 6 सितंबर को पीडि़त के घर भेजा, लेकिन वह घर पर नहीं मिली। तब से लगातार जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग और बाल कल्याण समिति द्वारा पीडि़त नाबालिग से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन वह और उसके परिजन घर से गायब थे।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Ankita Bhandari Murder Case: मेरा बेटा सीधा-साधा है, बीजेपी से हटाए गए विनोद आर्य ने अपने बेटे का किया बचाव'आज भी TMC के 21 विधायक संपर्क में, बस इंतजार करिए', मिथुन चक्रवर्ती ने दोहराया अपना दावाखाना वहीं पड़ा था, डॉक्युमेंट्स और सामान भी वहीं थे , लेकिन... रिसॉर्ट के स्टाफ ने बताया कैसे गायब हुई अपने कमरे से अंकिताVideo: महबूबा मुफ्ती ने किया Pakistan PM का समर्थन, जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर दिया ये बयान'PFI पर कार्रवाई करने में इतना वक्त क्यों लगा?', प्रियंका चतुर्वेदी ने कश्मीर को लेकर PM मोदी पर साधा निशाना2 खिलाड़ी जिनका करियर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बीच सीरीज में हुआ खत्म, रोहित शर्मा नहीं देंगे मौका!चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग हुए हाउस अरेस्ट! बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी के Tweet से मचा हड़कंपयुवाओं को लश्कर-ए-तैयबा और ISIS में शामिल होने को उकसा रहा था PFI, ग्लोबल फंडिंग के सबूत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.