लॉक डाउन तोडऩे पर बनाया मुर्गा, लगवाई उठक बैठक

सोशल डिस्टेसिंग के लिए दुकानों व पेट्रोल पंपो पर बनाएं सर्किल
ग्वालियर के संक्रमित युवक के संपर्क में आने वाले लोगों की जांच के बाद किया होम आइसोलेट
सुबह 8 से 12 खुली आवश्यक सामग्री की दुकानें, फिर हो गया लॉक डाउन,, छतरपुर में भी शुरु हुई होम डिलीवरी

छतरपुर। ग्वालियर के टायर कंपनी के कर्मचारी में कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए जाने के बाद से प्रशासन और सर्तक व सख्त हो गया है। प्रशासन ने कर्मचारी के संपर्क में आए लोगों और उनसे संपर्क में आए कुल 55 लोगों की स्क्रीनिंग कराई है। किसी में कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं। इसके साथ ही सोशल डिस्टेसिंग के लिए प्रशासन किराना दुकान, मेडिकल और पेट्रोल पंपों पर चूने से सर्किल बनाकर मार्किंग कर रही है। ताकि लॉक डाउन में छूट के दौरान सुबह 8 से 12 बजे जरूरी सामग्री की खरीदी के लिए निकले लोग सुरक्षित दूरी बनाए रखें। इधर, सावधानी के लिए प्रशासन ने सख्ती दिखाना शुरु कर दी है। बेवजह घर से बाहर पाए जाने पर पुलिस मुर्गा बनाकर और उठक बैठक लगवाकर सख्ती दिखाना शुरु कर दिया है। इसके साथ ही हिदायत दे रही है कि दोबारा बिना कारण बाहर दिखने पर एफआइआर कराई जाएगी। वहीं, जिला प्रशासन ने छतरपुर में भी दूघ व किराना सामान की होम डिलीवरी सुविधा शुरु कराई है। प्रशासन ने गरीबों की सहायता के लिए खाद्यान सामग्री मुख्य नगरपालिका अधिकारी और पंचायत सचिवों को देने की अपील की है।
स्क्रीनिंग में नहीं मिले लक्षण
सीएमएचओ डॉ. विजय पथौरिया ने बताया कि राजनगर, खजुराहो, चंदला, छतरपुर में टायर कंपनी के कर्मचारी के सपंर्क में आने वाले और उन लोगों के संपर्क में आने वाले करीब 55 लोगों को चिन्हित किया है। जिसमें सभी की जांच कराई गई है, किसी में भी कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं। हालांकि सावधानी के लिए सभी लोगों को 14 दिन तक घर में ही क्वारंनटाइन किया गया है। वहीं, छतरपुर में सील किए गए होटल के दो कर्मचारियों के शहर के नजदीक मौराहा गांव में पहुंचने पर हडकंप मच गया। लोगों ने इसकी जानकारी प्रशासन को दी। जिस पर जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव पहुंचकर इन दोनों कर्मचारियों और उनके परिवार के सभी सदस्यों की सक्रीनिंग की। इन दोनों लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए गए। इसके बाद भी स्वास्थ विभाग की टीम ने इन दोनों को अपने घर पर ही रहने की सलाह दी है।
बैंक के अधिकारी-कर्मचारी की नहीं हुई जांच
ग्वालियर प्रशासन को कोरोना पॉजिटिव कर्मचारी ने जानकारी दी है कि पन्ना रोड के होटल में रुकते समय वो बगल में स्थित में एसबीआइ की ब्रांच में गया था, जहां बैंक के कर्मचारियों से उसकी मुलाकात हुई। लेकिन छतरपुर प्रशासन को इसकी जानकारी नहीं होने से बैंक के कर्मचारियों की स्क्रीनिंग नहीं की गई है। सीएमएचओ डॉ. विजय पथौरिया का कहना है कि बैंक के कर्मचारी का नाम हमारी लिस्ट में नहीं है। लेकिन ऐसा हुा है तो सावधानी के लिए सभी की स्क्रीनिंग कराई जाएगी।
लापरवाही पर सख्त हुई पुलिस
कोरोना वायरस से बचाव के लिए किए गए लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर पुलिस सख्त हो गई है। पुलिस ने बेबजह घूमने वालों को छतरपुर में बीच सड़क मुर्गा बनाकर दंडित किया। वहीं बिना काम वाहनों से निकलने वालों के सीने पर - मैं समाज का दुश्मन हूूं- मैं घर में नहीं रहूंगा, स्लोगन लिखी तख्ती लगाकर फोटो सोशल मीडिया पर वायरल की। वहीं, नौगांव में बिना जरूरी वजह के घर से बाहर निकलने वाले लोगों से पुलिस ने कान पकड़कर उठक-बैठक लगवाई। लोगों को अनांउस करके भी हिदायत दी जा रही है कि लॉक डाउन का उल्लंघन न करें। इसके वाबजूद जो लोग बेवजह घर के बाहर पाए जा रहे हैं। पुलिस उन पर सख्ती कर रही है। साथ ही चेतावनी दी जा रही है कि दोबारा मिले को धारा 188 के तहत उनके खिलाफ एफआइआर भी कराई जाएगी।
दुकानों के सामने बनाए सर्किल
सोशल डिस्टेंसिंग के लिए छतरपुर नगरपालिका प्रशासन ने दूध, किराना और सब्जी दुकानों के सामने एक-एक मीटर की दूरी पर सर्किल बनाए हैं। लोगों को हिदायत दी गई है, कि इन सर्किंल में रहकर ही खरीददारी करें। नगरपालिका की टीम ऐसे सर्किल पूरे शहर की दुकानों के सामने बनाने की प्रक्रिया कर रही है। ताकि सुबह 8 से 12 बजे खदीदारी के लिए निकले लोगों में सुरक्षित दूरी बनी रहे। छतरपुर और नौगांव में सब्जी की दुकानों को दूर-दूर लगवाया गया ताकि दुकानदारों के बीच भी समुचित दूरी रहे। सुबह बाजार खुलने के समय प्रशासन व पुलिस के अधिकारी निगरानी करते रहे, ताकि लोग लापरवाही न करें।
छतरपुर में की होम डिलीवरी की ये व्यवस्था
सॉक डाउन के दौरान सुबह 8 से 12 सब्ी, दूध, फल और किराना की दुकानों को खुलने की छूट देने के साथ ही जिला प्रशासन ने छतरपुर में दूध व दूध से बने खाद्य पदार्थ और किराना सामान की होम डिलीवरी की व्यवस्था शुरु की है। प्रशासन ने होम डिलीवरी के लिए अमूल दूध डेयरी मोबाइल नंबर 9669383311, सांची दूध अंजना दूध डेयरी मोबाइल नंबर 9926456322, जोर सिंह भदौरिया दूध डेयरी मोबाइल नंबर 9893017603 को अधिकृत किया है। वहीं, किराना सामान के लिए ओमसाई डेली नीड देरी रोड मोबाइल नंबर 8959232929, अरिहंत किराना पन्ना नाका मोबाइल नंबर 9039579857, क्वालिटी सुपर स्टोर मोबाइल नंबर 8871337754, कान्हा टेडर्स मोबाइल नंबर 9131450447, जेके प्रोविजन्स मोबाइल नंबर 9399313323 और अग्रवाल सुपर स्टोर मोबाइल नंबर 9893240548 के नाम मोबाइल नंबर होम डिलीवरी के लिए जारी किए हैं।
होम डिलेवरी सुबह 6 बजे से 10 बजे तक
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव की दृष्टि से कलेक्टर कार्यालय में फल-सब्जी, दूध डेयरी, दवा विक्रेता और किराना व्यापारी संघ के अध्यक्ष एवं प्रतिनिधियों की बैठक हुई। बैठक के दौरान सर्वसम्मति से कोरोना से बचाव एवं उपभोक्ताओं के हित में महत्वपूर्ण उपायों और सुझावों पर चर्चा हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि उपभोक्ताओं के घरों में दूध और दुग्ध उत्पाद की होम डिलेवरी सुबह 6 बजे से 10 बजे तक की जाएगी। इसके अलावा फुटकर दवाई की दुकानों पर ग्राहकों की लाइन के लिए चूने की लाइन डालकर 2 ग्राहकों के बीच न्यूनतम एक मीटर की दूरी रखने, फुटकर सब्जी की दुकानों पर न्यूनतम दो मीटर की दूरी रखने, मेडिकल संघ के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में वाहन चालन की अनुमति संबंधित एसडीएम से प्राप्त कर वाहन के साथ दो व्यक्तियों के पास बनवाने, पुराने गल्लामण्डी क्षेत्र में फल और सब्जी की थोक विक्रेताओं द्वारा फुटकर विक्रेताओं को ही फल एवं सब्जी विक्रय करने एवं इस स्थान पर फुटकर सब्जी विक्रेताओं की दुकानें नहीं लगाए जाने के संबंध में भी निर्णय लिया गया।
बैठक के दौरान फुटकर फल सब्जी विक्रेता द्वारा अपने निवास स्थान के क्षेत्र में ही अस्थाई दुकान लगाकर विक्रय करने, फुटकर किराना विक्रेताओं द्वारा सामान की होम डिलीवरी प्रदान करने, होम डिलीवरी में निर्धारित दर पर ही सामग्री का विक्रय करने सहित होम डिलीवरी के दौरान विक्रेता द्वारा किसी भी परिस्थिति में ग्राहक के घर में प्रवेश नहीं करने और दरवाजे पर ही प्रत्येक डिलीवरी के बाद हाथों को सेनेटाइज करने के संबंध में भी सहमति बनी।
खाद्यान्न और नकद राशि दान करने के लिए की गई व्यवस्था
कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण गरीब व्यक्तियों की सहायता के लिए खाद्यान्न और नकद राशि दान करने के इच्छुक व्यक्ति और संगठन के लिए व्यवस्था बनाई है। नकद राशि दान करने के लिए जिला चिकित्सालय छतरपुर की रोगी कल्याण समिति के नाम चेक अथवा ड्राफ्ट दिया जा सकता है। इसके अलावा रोगी कल्याण समिति के भारतीय स्टेट बैंक, एडीबी शाखा, खाता क्रमांक 10589259493, आईएफएससी कोड क्रमांक एसबीआईएन0001628 में दान राशि आरटीजीएस के जरिए अंतरित की जा सकती है।
इसी तरह खाद्यान्न और अन्य भौतिक सामग्री शहरी क्षेत्र में मुख्य नगर पालिका अधिकारी और ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम पंचायत में पंचायत सचिव के पास दान की जा सकेगी। मुख्य नगर पालिका अधिकारी और पंचायत सचिव द्वारा सूची बनाकर सामग्री कोरोना वायरस के दौरान विपत्तिग्रस्त परिवारों को प्रदान करेंगे।

Corona virus
Dharmendra Singh
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned