महाराजा कॉलेज तिराहा को शहीद चौराहा बनाने की कवायद अधर में

महाराजा कॉलेज तिराहा को शहीद चौराहा बनाने की कवायद अधर में

Samved Jain | Publish: Mar, 14 2018 12:42:27 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

स्वीकृत न मिलने के कारण यहां मूर्तियां स्थापित करने की योजना परवान चढ़ सकी।

छतरपुर। दो साल पहले शहर के कॉलेज तिराहा को शहीद चौराहा बनाने के लिए शुरू की गई कवायद अभी भी अधर में लटकी है। शिलन्यास के बाद यहां मूर्तियां स्थापित करने के लिए बनाई गई बीम का निर्माण सूना है। एनएच पर स्वीकृत न मिलने के कारण यहां मूर्तियां स्थापित करने की योजना परवान चढ़ सकी।


शहर के पन्ना रोड पर स्थित महाराजा तिराहे को शहीद चौराहा बनाने का सपना आधारशिला रखने के बाद भी अधूरा है। वर्ष 2016 में आधारशिला रखने के साथ ही नगर पालिका द्वारा निर्माण कार्य शुरू कराया गया। उस समय मूर्ति स्थापित करने के लिए तैयारी पूरी थी। इसके लिए बकायदा टेंडर डाले गए थे। तब इसका काम इंदौर की एक कंपनी को मिला था। उसी समय महाराष्ट्र के पूना से अमर शहीदों की मूर्तिया मंगाई गईं थीं। पिछले दो सालों से यह मूर्तियां धूल खा रहीं थीं। पालिका ने इन मूर्तियों को स्थापित करने के लिए एनएच पर स्वीकृति प्रयास किए गए लेकिन एनएच से मूर्ति स्थापित करने की परमीशन नहीं मिली। जिससे शिलन्यास के दौरान यहां मूर्ति स्थापित करने के लिए तिराहा पर बीम आदि का निर्माण कराया गया था। यह निर्माण अभी भी अधूरा है। करीब पांच लाख की लागत से खरीदी मूर्तियां जब जिस स्थान के लिए मंगाई गई थीं वहां स्थापित नहीं हो सकीं तो उन्हें पालिका ने इन मूर्तियों को दूसरे स्थान पर स्थापित किया गया।


ऑडोटोरियम की सुंदरता बढ़ाएंगी ये मूर्तियां
देश की आन, बान और शान के खातिर अपनी जान की बाजी लगाने वाले अमर शहीदों की मूर्तियों को पालिका द्वारा शहर के किशोर सागर तालाब के किनारे स्थित ऑडोटोरियम में स्थापित किया जाएगा। ये मूर्तियां नगर पालिका द्वारा शहीद चौराहा पर स्थापित करने के लिए महाराष्ट्र से मंगाई गई थीं लेकिन अब ये मूर्तियां ऑडोटोरियम में स्थापित की तैयारी है।

चौराहा पर लगना थी इनकी मूर्तियां
- चंद्रशेखर आजाद
- भगत सिंह
- राज गुरु
-सुखदेव


फैक्ट फाइल
-2016 में रखी थी आधारशिला
- पांच लाख की लागत की हैं मूर्तियां
- महाराष्ट्र से मंगाई गईं थी मूर्तियां
- दो साल तक पालिका में रखी रहीं मूर्तियां



ऑडोटोरियम में लैंड स्टेटिंग का काम का खाका तैयार किया गया है। अब इन मूर्तियों को ऑडोटोरियों में स्थापित कराया जाएगा।
पीडी तिवारी, सब इंजीनियर नपा छतरपुर

Ad Block is Banned