महाराष्ट्र की बस आई, 72 घंटे से भूखे-प्यासे थे लोग, समाजसेवियों किए फल वितरित

गर्रोली अंतरजिला चेक पोस्ट पर मंगलवार की सुबह 3.30 बजे यूपी के बस्ती जिले के रहने वाले लोगों की बस महाराष्ट्र से सागर, टीकमगढ़ होते हुए पहुंची

छतरपुर. गर्रोली अंतरजिला चेक पोस्ट पर मंगलवार की सुबह 3.30 बजे यूपी के बस्ती जिले के रहने वाले लोगों की बस महाराष्ट्र से सागर, टीकमगढ़ होते हुए पहुंची। बॉर्डर सील होने के चलते पुलिस ने बस को रोक लिया। मेडिकल टीम को सूचना दी गई, जिसके बाद 10.30 बजे नौगांव से मेडिकल टीम पहुंची और चेकअप किया। सभी लोग स्वस्थ्य पाए गए। मौके पर पहुंचे तहसीलदार भानुप्रताप सिंह ने बॉर्डर सील होने का हवाला देते हुए उत्तरप्रदेश के मऊरानीपुर, गुलसराय के रास्ते जाने की सलाह देकर जाने की बात कही। बस में सवार 88 लोगों का कहना है कि पिछले 72 घंटे से उन्हें खाने के लिए नहीं मिला है। उन्हें छतरपुर जिले की सीमा से यूपी जाने दिया जाए। लेकिन प्रशासन ने बॉर्डर सील होने का हवाला देकर उनकी मांग स्वीकार नहीं की। हालांकि चौकी प्रभारी माधवी अग्निहोत्री और पत्रिका की टीम ने फल-बिस्किट लोगों को खाने के लिए उपलब्ध कराए। बस यात्रियों में 69 पुरुषों के साथ ही 12 महिलाएं व 7 बच्चे भी थे। एसडीएम बीबी गंगेले ने बताया कि वस यात्री गलत आ गए हैं। उन्हें यूपी के रास्ते ही जाना था। उन्हें वापस जाने को कहा गया है। वहीं, बस यात्रियों का कहना है कि वापस जाने पर टीकमगढ़ पुलिस एंट्री नहीं दे रही, ऐसे में बॉर्डर पर ही फंस गए हैं।
विदेश से लौटे युवक का कराया मेडिकल परीक्षण
हरपालपुर के हरिहर रोड निवासी एक युवक के 12 मार्च को सऊदी अरब से लौटने की सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने परिजनों से बात करके युवक को सोमवार को नौगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भेजा गया। जहां डाॉक्टरों ने मेडिकल परीक्षण कर घर भेज दिया गया। देर शाम नौगांव के डॉक्टर और हरपालपुर के डॉ. ओमकार नाथ सिंह युवक के घर पहुंचे और उसे होम आइसोलेट किया और हिदायत दी कि सर्दी खांसी जुकाम की शिकायत हो तुरंत स्वास्थ टीम को सूचित करें।

Sanket Shrivastava Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned