वन कर्मचारियों पर हो रहे हमले का किया विरोध, वेतन विसंगति पर भी चर्चा

वन कर्मचारियों पर हो रहे हमले का किया विरोध, वेतन विसंगति पर भी चर्चा

Samved Jain | Publish: Feb, 15 2018 03:32:40 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

वन कर्मचारियों की बैठक सम्पन्न

छतरपुर/बडामलहरा। नगर में क्षेत्र के वन विभाग के कर्मचारियों द्वारा स्थानीय वन विश्राम गृह में बुधवार को एक बैठक आयोजित की। जिसमें वेतन बिसंगति, वन कर्मचारियों पर हो रहे हमलों व अन्य समस्याओं को लेकर चर्चा की गई। बैठक में अगामी 18 फरवरी को 1५ सूत्रीय मांगो के समर्थन में भोपाल जाकर धरना प्रदर्शन की रणनीति तैयार की गई। वन कर्मचारी संघ जिला अध्यक्ष रमेश मिश्रा, संभागीय अध्यक्ष सतीश पटैरिया, सचिव राजेंद्र सक्सेना, कोषाध्यक्ष शिवराम द्विवेदी, ब्लॉक अध्यक्ष बृजराज सिंह की उपस्थिति में नये सदस्यों को संघ से जोड़ा गया। वन कर्मचारी संघ जिलाध्यक्ष रमेश मिश्रा ने बताया कि विभागीय कर्मचारियों के अह्वान पर 15 सूत्रीय मांगों के समर्थन में 18 फरवरी को भोपाल में धरना प्रदर्शन, 13 मार्च को जिला मुख्यालय पर ज्ञापन, 29 अप्रैल भोपाल में बिशाल रैली, 1 मई को शासकीय रिवाल्वर, बंदूक व बस्ता ज मा कर काम काज का बहिष्कार किया जाएगा। इसके बाजजूद भी अगर सरकार मांगें स्वीकार नहीं की जाती तो 5 मई से सभी कर्मचारी अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाएंगेें। संभागीय अध्यक्ष सतीश पटैरिया ने कहा कि विभागीय कर्मचारी शासन की उपेक्षा नीति का शिकार होता चला आ रहा है। 24 घंटे काम लेने के बाद भी हमें सबसे कम वेतन दिया जाता है। विभाग ने हमें बंदूकें दी है लेकिन आत्म रक्षा के लिए चलाने का अधिकार नहीं दिया है। वन कर्मचारी पिछले 35 वर्षो से अपने अधिकारों के लिये संघर्ष करता चला आ रहा है। उन्होंनें बताया कि वेतन विसंगति व अन्य सुबिधाओं के लिए 1986, 1995, 1996, 2000, 2011, 2013 व 2015 आंदोलन किए गए। लेकिन शासन द्वारा संघ से समझौता किए गए और वरिष्ठ अधिकारी कोरे आश्वासन ही देते रहे हैं। अपने अधिकार पाने के लिए कर्मचारियों ने मजबूरी बस आंदोलन का रास्ता चुना है। बैठक में वन परिक्षेत्र अधिकारी अशोक तिवारी, सहायक वन परिक्षेत्र अधिकारी जाहर सिंह, माधव शुक्ला, वन रक्षक धर्मेंद्र तिवारी, हफीज बेग, गोकुल शुक्ला, ऋषि दुबे, भागीरथ रैकवार आदि वन कर्मियों मौजूद रहे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned