12 लाख से ज्यादा टीके लगे, डेढ़ महीने से नहीं मिला कोई पॉजिटिव


अस्पतालों में आ रहे 500 से ज्यादा मरीजों के रोज हो रहे सैंपल
लेकिन मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर लापरवाही भी बढी

By: Dharmendra Singh

Updated: 25 Sep 2021, 07:19 PM IST

छतरपुर। प्रदेश के इंदौर, भोपाल और बालाघाट में पिछले 24 घंटों के भीतर कोरोना के 36 नए पॉजिटिव केस सामने आए हैं। गनीमत है कि छतरपुर जिले में पिछले डेढ़ महीने से अब तक कोई कोरोना संक्रमित मरीज नहीं मिला। कोरोना पॉजिटिव मरीजों का नहीं मिलना राहत भरी खबर है और इसके लिए वैक्सीनेशन अभियान को श्रेय दिया जा सकता है। दरअसल जिले में अब तक कोरोना के 12 लाख से ज्यादा टीके लगाए जा चुके हैं। इनमें 10 लाख 40 हजार 465 लोगों को कोरोना का पहला टीका लगा है जबकि 2 लाख 13 हजार 972 लोगों को कोरोना की दूसरी डोज भी लग चुकी है।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक छतरपुर जिले में 5 अगस्त 2008 को आखिरी कोरोना पॉजिटिव मिला था। फिलहाल पिछले डेढ़ महीने से कोरोना से संक्रमित एक भी मरीज सामने नहीं आ रहा। जिले में फिलहाल कोई एक्टिव केस नहीं है। ऐसा नहीं है कि कोरोना मरीजों की जांच की रफ््तार धीमी पड़ी है बल्कि प्रतिदिन 500 से 700 लोगों की कोरोना जांचें भी कराई जा रही हैं फिर भी कोई केस सामने नहीं आ रहा है।

अन्य बीमारियां बढ़ीं, कोरोना से राहत
कोरोना कंट्रोल रूम ने बताया कि प्रतिदिन जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में आने वाले सर्दी, जुकाम और बुखार के संदेहास्पद मरीजों की कोरोना सेम्पलिंग की जा रही है। जिले में 500 से 700 सेम्पल प्रतिदिन लिए जाते हैं। शुक्रवार को भी 540 आरटीपीसीआर और 302 रेपिड किट की जांचे सामने आईं। इन 850 जांचों में भी कोई पॉजिटिव नहीं मिला। स्वास्थ्य विभाग मरीजों पर नजर बनाए हुए है। हालांकि इस दौरान जिले भर में मलेरिया और अन्य वायरल बीमारियों के मरीज तेजी से बढ़े हैं जिसके कारण अस्पतालों में बिस्तर भरे हुए हैं।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned