CM कन्या विवाह में शादी करने वाले हो गए दो से हो गए तीन, नहीं मिल पाए 51 हजार

कन्या विवाह योजना में अपडेट होने के बाद से ही विभागों के चक्कर काट रहे हितग्राही

By: Samved Jain

Published: 10 May 2020, 10:00 AM IST

छतरपुर. सत्ता परिवर्तन के बाद मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के हितग्राहियों को 51 हजार रुपए देने की घोषणा तो की गई थी, लेकिन इस दौरान हुए विवाह के हितग्राहियों के खातों में यह राशि अब तक नहीं पहुंच पाई हैं। अकेले छतरपुर जिले में एक हजार से अधिक ऐसे हितग्राही हैं, जो डेढ़ वर्षों से 51 हजार पाने दफ्तरों के चक्कर काटने मजबूर हैं।

प्रदेश में सरकार बदलने के बाद दो वित्तीय वर्ष बीत चुके हैं। छतरपुर जिले में 2018-19 और 19-20 में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत 18सौ से अधिक विवाह और निकाह अलग-अलग समितियों द्वारा आयोजित किए थे। जिनमें से हजार से अधिक हितग्राही अब भी कार्यालय के दफ्तर प्रोत्साहन राशि के लिए काट रहे हैं। इतना ही नहीं करीब 250 हितग्राहियों को अपात्र भी घोषित किया जा चुका हैं।

बजट बन रहा रोड़ा, साल भर नहीं आई राशि
मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत जनपद पंचायत सामूहिक विवाह सम्मलेन का आयोजन करती हैं, वहीं भुगतान सामाजिक न्याय विभाग के तहत होता है। विभाग के अधिकारियों के अनुसार योजना के अपडेट होने के बाद से लेकर अब तक उनके पास 2 करोड़ 69 लाख का बजट ही आया है। जिसे 2018 और 2019 के पात्र करीब 545 हितग्राहियों के खातों में पहुंचाया जा चुका हैं। इसके बाद से कोई भी बजट नहीं आया हैं। जून 2019 के बाद फरवरी 2020 से अब तक बजट का इंतजार हैं।
दो से हो गए तीन, 51 बार काट चुके है दफ्तर के चक्कर
2018 से फरवरी 2020 के बीच योजना के तहत विवाह करने वाले अनेक हितग्राही दो से तीन हो चुके हैं, लेकिन योजना की राशि नहीं मिल सकी हैं। हितग्राही मुकेश कुशवाहा ने बताया कि 51 हजार के लिए वह 51 बार से अधिक कार्यालयों, जनप्रतिनिधियों के चक्कर काट चुके हैं, लेकिन अब तक कोई सुनवाई नहीं हुई हैं। बार-बार उन्हें राशि नहीं आने की बात कही जा रही हैं, ऐसे में वह परेशान हैं। हितग्राहियों द्वारा इसके लिए मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर भी शिकायत की जा चुकी हैं।
एक हजार से अधिक हितग्राहियों को इंतजार
सामाजिक न्याय विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 2018-19 में छतरपुर में 84 निकाह, बिजावर में 24 विवाह, बड़ामलहरा में 120 और गौरिहार में 351 विवाह मिलाकर कुल 579 विवाह हुए थे। जिनमें से 245 हितग्राहियों को राशि मिली हैं, जबकि 290 को अब भी इंतजार हैं। 43 हितग्राही अपात्र घोषित किए जा चुके हैं। इसी तरह 2019-20 में बड़ामलहरा में 513, गौरिहार में 220, बिजावर में 37, छतरपुर में 224, राजनगर में 97, लवकुशनगर में 153, नौगांव में 9 विवाह मिलाकर कुल 1250 विवाह हुए थे। जिनमें से महज 300 हितग्राहियों को प्रोत्साहन मिल सका हैं। 196 अपात्र पाए गए, जबकि 754 हितग्राहियों को अब भी 51 हजार प्रोत्साहन का इंतजार हैं। इस तरह दोनों वर्षों के 1044 हितग्राहियों को अब भी 51 हजार प्रोत्साहन का इंतजार हैं।
वर्जन
योजना में अपडेट के बाद विभाग ने शासन से 7 करोड़ रुपए बजट की मांग की थी, लेकिन 2 करोड 40 लाख रुपए बजट ही हमें मिला था, जिसे पात्र हितग्राहियों के खातों में भेजा जा चुका हैं। जैसे ही बजट आता हैं, शेष हितग्राहियों की जांच कराकर पैसा भेजा जाएगा।
आरपी खरे, उपसंचालक सामाजिक न्याय विभाग छतरपुर

Show More
Samved Jain Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned