ठंड का टार्चर जारी, नौगांव का न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री पहुंचा

सर्दी के इस मौसम में पहली बार नौगांव में गिरा इतना पारा

मौसम विभाग ने जारी किया तीव्र शीलत दिन और पाला की संभावना का अलर्ट

By: Dharmendra Singh

Published: 30 Jan 2021, 07:08 PM IST

छतरपुर। उत्तरपूर्वी बर्फीली हवाओं ने पिछले एक सप्ताह से ठिुठरन पैदा कर रखी है। शनिवार को मौसम ने और तीखे तेवर अपना लिए और नौगांव का न्यूनतम तापमान 2.4 दर्ज किया गया। नौगांव मौसम के न्द्र के कालीचरण रैकवार ने बताया कि जिले में न्यूनतम तापमान इस सर्दी के मौसम में पहली बार इतना नीचे गिरा है। खजुराहो मौसम केन्द्र के आरएस परिहार ने बताया कि खजुराहो में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री दर्ज किया गया। न केवल रात बल्कि दिन का तापमान भी एक सप्ताह से 20 डिग्री से नीचे बना हुआ है। बर्फीली हवाओं के असर से दिन की धूप में भी ठंड से बचने के लिए गर्म कपड़ों में कैद रहना पड़ रहा है।

कोहरा से मिली राहत
शनिवार को कोहरे से काफी हद तक राहत मिली है। सुबह 6.30 बजे ही दृश्यता 1500 मीटर रही। जो दिन में बढ़कर 6 किलोमीटर तक चली गई। खजुराहो मौसम केन्द्र के प्रभारी आरएस परिहार ने बताया कि शनिवार को कोहरे का असर कम रहा। एक-दो दिन बाद फिर से कोहरा छाने का पूर्वानुमान है। उन्होंने बताया कि धूप निकलने से दिन के तापमान में इजाफा हो रहा है। वहीं, जम्मूकश्मीर से लेकर छत्तीसगढ़ बेल्ट पर पश्चिमी विक्षोभ 3 फरवरी तक बनने की संभावना है, जिससे मौसम मे एक बार फिर से बदलाव हो सकता है।

मौसम विभाग का ये है अलर्ट
शनिवार को नौगांव का तापमान पूरे प्रदेश में सबसे कम दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने छतरपुर व टीकमगढ़ जिले में तीव्र शीतल दिन की यलो अलर्ट जारी किया है। इसके साथ ही छतरपुर व उमरिया जिले में पाला पडऩे की संभावना का यलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने अलर्ट के साथ ही शिुशुओं, गर्भवती महिलाओं, बुुजर्गो व पुरानी बीमारियों वाले लोगों पर प्रभाव पडऩे की आशंका जताई है। इसके साथ ही अधिक समय तक ठंड के संपर्क में रहने से बचने, ढीले, हल्के वजन और कई सतहों वाले गर्म ऊुनी कपड़े पहनने व सिर-गर्दन और हाथों को ढक कर रखने की सलाह दी है।

घट-बढ़ रही जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या
पिछले एक सप्ताह से सर्दी का सितम बढऩे के साथ ही जिला अस्पताल आने वाले मरीजों की संख्या कभी बढ़ जा रही तो कभी घट जा रही है। हालांकि अवकाश के दिन भी 250 से 300 के बीच मरीज जिला अस्पताल पहुंच रहे हैं। ठंड के हैल्दी सीजन में भी 18 जनवरी को जिला अस्पताल की ओपीडी 1127 पहुंच गई थी। वहीं पिछले एक सप्ताह की बात करे तो 22 जनवरी को 866, 23 को 764, 24 को 266, 25 को 977, 26 को 293,27 को 776, 28 को 859, 29 को 584 और 30 को 553 मरीज जिला अस्पताल पहुंचे।

धूप बचा रही फसलों को पाला से
न्यूनतम तापमान में गिरावट और घने कोहरे के कारण फसलों में पाला का खतरा बढ़ गया है। लेकिन दिन में निकलने वाली धूप फसलों को पाला से बचाए हुए हैं। प्रगतिशील किसान चितरंजन चौरसिया का कहना है कि दिन में धूप न निकलती तो फसल पाला की चपेट में आ सकती थी। हालांकि कहीं-कहीं टमाटर में पाला के लक्षण देखने को मिले हैं। लेकिन अन्य फसलो में पाला का असर फिलहाल नहीं नजर आया है। लेकिन सरसो व मटर में माहू की समस्या आने लगी है।

एक दो दिन में बदलाव की संभावना
आसमान एकदम साफ है। साथ ही वर्तमान में अभी कोई वेदर सिस्टम भी सक्रिय नहीं है। इस वजह से अभी 31 जनवरी तक ठंड के तेवर इसी तरह तीखे बने रहेंगे। इसके बाद एक फरवरी को एक पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत में दाखिल होने की संभावना है। इस सिस्टम के असर से राजस्थान के आसपास प्रति चक्रवात बनने के आसार हैं। उसके प्रभाव से एक बार फिर हवाओं का रुख बदलेगा। वातावरण में नमी बढऩे के कारण अधिकतम और न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होने लगेगी।

weather update
Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned