सोमवार की सुबह हुई बारिश में नौगांव सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र बन गया टापू

मुख्य बाजार की सडकें तालाब बनी
मुख्य बाजार की सड़क बनी तालाब, सड़क के जानलेवा गड्ढे और जलभराव से हो रही दुर्घटनाएं
जिम्मेदारों को आइना दिखाने युवाओं ने शुरु किया सेल्फी विथ गड्डा अभियान

By: Dharmendra Singh

Published: 07 Jul 2020, 06:00 AM IST

छतरपुर/नौगांव। जिला मुख्यालय छतरपुर और जिले के दूसरे बड़े शहर नौगांव में सड़कों में गड्ढे और जलभराव की समस्या का समाधान नहीं हो पाया है। झांसी खजुराहो नेशनल हाइवे को फोरलेन बनाए जाने के कारण मरम्मत कार्य ठप है, वहीं बारिश के पानी की निकासी का इंतजाम सही नहीं होने से जलभराव की समस्या बनी हुई है। सबसे ज्यादा हालत नौगांव की खराब है, जहां जरा सी बारिश में सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र के प्रवेश द्वार, कोटी चौराहा से मैन बाजर मार्ग जैसी महत्वपूर्ण जगहों पर जलभराव हो जाता है। जलभराव भी ऐसा कि पैदल या बाइक से निकलना मुश्किल है। जलभराव के अलावा सड़कों पर गड्ढे भी मुसीबत बने हुए हैं। गड्ढो से परेशान नौगांव के युवाओं ने सेल्फी विथ गड्ढा अभियान चला रखा है, ताकि जिम्मेवारों को आइना दिखाया जा सके।

सड़क निर्माण के बाद ही शुरु हो गई उखडऩा
नौगांव में मुख्य सड़क पर जानलेवा गड्डे होने पर शहर के जागरूक युवाओं ने नगर पालिका के जिम्मेवार अधिकारियों को आइना दिखाते हुए सेल्फी विथ गड्डा अभियान की शुरुआत की है। युवाओं ने सोशल मीडिया पर सेल्फी विथ गड्डा अभियान चलाते हुए गड्डे की फोटो भेजने पर प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्तर का नगद पुरस्कार भी रखा है। नगर से निकले नेशनल हाइवे 75 पर नगरपालिका परिषद ने सौन्द्रीयकरण करने एवं बढते हुए ट्रैफिक को कंट्रोल करने के उद्देश्य से लगभग 4 वर्ष पहले 2 करोड़ रूपये का टेंडर देकर डिवाइडर, सडक का निर्माण कार्य कराया था। टेंडर के लगभग 21 महीने के बाद निर्माण कम्पनी ने जुलाई 2018 में जैसे तैसे काम को पूरा किया। सडक को बने एक माह भी नहीं गुजरा और सडक में दोनों तरफ 31 बड़े जानलेवा गड्डे निकल आए। इन गड्ढो के कारण लोग दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं।

गड्ढे की फोटो भेजने पर मिलेगा इनाम
सड़क पर जानलेवा गड्डे होने पर नपा के अनजान बने रहने पर नगर के जागरूक युवा अभिषेक त्रिपाठी, सावन दीक्षित, गजेन्द्र सोनकिया, कपिल मिश्रा, भूपेंद्र गुप्ता सहित नगर के युवाओं ने नगर पालिका को आइना दिखाने के लिए सेल्फी विथ गड्डा अभियान की शुरुआत की है। अभियान के तहत सबसे अच्छी लोकेशन एवं सबसे अच्छे गड्डे की फोटो निकालने पर 10 जुलाई 2020 तक सबसे अधिक गड्ढों के साथ सेल्फी, स्थान आदि विवरण सहित भेजने वाले को प्रथम पुरस्कार 2 हजार 100 रुपए, द्वितीय पुरस्कार 1 हजार 100 रुपए, तृतीय पुरस्कार 501 रुपए देने की घोषणा भी की गई है।

जरा सी बारिश में अस्पताल की एंट्री बंद
नौगांव सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र के मैन गेट पर बारिश के पानी का जलभराव पुरानी और बड़ी समस्या है। सोमवार को हुई बारिश में अस्पताल के गेट पर जलभराव होने से अस्पताल के मैन गेट से एंट्री बंद हो गई। अस्पताल आने वाले मरीज व उनके परिजनों को पानी से हाकर ही अस्पताल जाना पड़ता है। ऐसा नहीं है कि अस्पताल गेट पर जलभराव की समस्या पहली बार आई है, ये समस्या हर साल आती है। अस्पताल के अलावा शहर के मुख्य बाजार मार्ग पर भी जलभराव हो गया। यहां भी जलभराव की समस्या पुरानी है। इसी तरह कोठी चौराहे से नगरपालिका गल्र्स स्कूल रोड, एपीइबी कार्यालय रोड, सिटी चर्च रोड पर भी जलभराव एक बड़ी समस्या है। बारिश में भरा ये पानी सड़कों से भले ही 3 से 4 घंटे में खाली हो जाता है, लेकिन उसके बाद इन सड़कों पर गंदगी, कीचड़ और कचरा पसर जाता है।


नालियों का होगा चौड़ीकरण
शहर की नालियां पुरानी है, कम चौड़ी होने के कारण पानी बाहर आ जाता है। नगरपालिका प्लान बनाकर शहर की नालियों का चौड़ीकरण करेगी, ताकि जलभराव की समस्या का समाधान किया जा सके।
बसंत चतुर्वेदी, सीएमओ, नगरपालिका, नौगांव

कार्रवाई की जाएगी
डिवाइडर सड़क में गड्डे होने की बात सामने आई थी, सीएमओ से बात कर गड्डों को भरवाने को बोला गया है और गड्ढों की भराई का कार्य भी किया जा रहा है, साथ ही सड़क गारंटी पीरियड में होगी तो सम्बन्धित ठेकेदार के द्वारा गड्डे भरवाने की कार्यवाई करते हुए गुणवत्ताहीन कार्य करने वाले ठेकेदार के खिलाफ नोटिस भी जारी किया जाएगा।
विनय द्विवेदी, प्रशासक , नगर पालिका परिषद नौगांव

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned