सिद्धिविनायक नवदुर्गा उत्सव समिति ने सजाई करोना योद्धाओं को समर्पित झांकी


अनोखी झांकियां सजाने के लिए प्रसिद्ध है समिति

By: Dharmendra Singh

Published: 11 Oct 2021, 06:52 PM IST


छतरपुर। नवरात्रि के पावन पर्व पर छतरपुर बस स्टैंड पर सिद्धिविनायक नव दुर्गा उत्सव समिति पिछले कई वर्षों से मूर्ति स्थापित करती आ रही है। समिति हर वर्ष अनोखी झांकियां सजाने के लिए प्रसिद्ध है। हर वर्ष यहां समाजिक संदेश देने वाली झांकियां सजाई जाती हैं। इस वर्ष समिति ने कोरोना योद्धाओं का समपर्ति झांकी सजाई है जिसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं।
समिति के अध्यक्ष अरविंद गिरी गोस्वामी ने बताया कि अब तक समिति भ्रूण हत्या, वृद्धाश्रम और छुआछूत सहित कई सामाजिक मुद्दों पर झांकियां सजा चुकी है। इस साल पिछले 2 वर्षों से कोरोना महामारी के दौरान उत्कृष्ट सेवाएं दे रहे कोरोना योद्धाओं को समर्पित झांकी समिति ने सजाई है। इस झांकी में भारत माता रथ पर सवार हैं और उस रथ को कोरोना योद्धा यानि कि पुलिसकर्मी, स्वास्थ्यकर्मी, सफाईकर्मी खींच रहे हैं। इसके साथ ही माता जगदम्बा सपरिवार यहां विराजमान हैं। प्रतिमा के एक तरफ भ्गवान गणेश हैं और दूसरी तरफ भगवान कार्तिकेय। पीछे शिव पिण्डी के रूप में पूरा दरबार सजा हुआ है। ऐसी अनोखी झांकी छतरपुर में पहली बार सजाई गई है जिस काण से भक्तों भीड़ झांकी की एक झलक पाने के लिए उमड़ रही है।
शाम को हुआ जवाबी कीर्तन, उमड़ा जनसैलाब
सिद्धि विनायक नव दुर्गा उत्सव समिति बस स्टैंड छतरपुर के अध्यक्ष श्री गोस्वामी ने बताया कि पंडाल में 9 दिनों तक प्रतिदिन कोई न कोई धार्मिक आयोजन होता है। इसी क्रम में बीती शाम जवाबी कीर्तन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के संयोजक दीपक तिवारी रहे और आयोजन समिति में कलाकार लालचंद्र दीक्षित खरेला उत्तरप्रदेश और लवकुशनगर के पूर्व सीएमओ मतादीन विश्वकर्मा रहे। जवाबी कीर्तन को सुनने पहुंचे श्रोता देर रात तक भजनों का आनंद लेते रहे और कीर्तन कलाकारों ने एक से बढ़कर एक प्रस्तुतियां दीं।


खजुराहो में नवदुर्गोत्सव की धूम
विश्व पर्यटन नगरी खजुराहो में शारदीय नवरात्र पर्व धूमधाम से मनाया जा रहा है। नगर के सेवाग्राम वार्ड क्रमांक 11 में गणेश मंदिर परिसर में वार्ड क्रमांक 10 में,पुरानी बस्ती,विद्याधर कालोनी,गोल मार्केट,एलआईसी के पीछे,शांतिनगर कालोनी, होटल रेक्शन के पास,होटल प्लाजा के पास सहित साहू मोहल्ले में देवी की सुंदर प्रतिमा स्थापित की गई हैं। वहीं पश्चिमी मंदिर समूह के सामने मकबरा परिसर में प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी देवी दुर्गा के 9 स्वरूप विराजित कि ए गए हैं। जहां पर सुबह और शाम देवी की भव्य आरती होती है। साथ ही देवी भक्ति संध्या का भी आयोजन होता है। नगर में बड़ी संख्या में सुबह से ही देवी भक्त माता को जल चढ़ाते हैं।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned