रेलवे स्टेशन पर नहीं मिल रहे टिकट, आरक्षण काउंटर दो सप्ताह से बंद

- बिना टिकट यात्रा करने मजबूर है यात्री, दूसरे स्टेशन पर फंसते हैं तो लगता है जुर्माना

By: Neeraj soni

Published: 24 Jul 2018, 12:38 PM IST

छतरपुर। शहर के चंद्रपुरा के पास स्थित रेलवे स्टेशन का बुरा हाल है। यहां पर स्टाफ की कमी है या रेलवे की लापरवाही, यह भी लोग नहीं समझ पा रहे हैं। ट्रेन में सफर के लिए लोग टिकट लेने के लिए काउंटर तक पहुंचते हैं, लेकिन यहां पर न तो कोई टिकट देने वाला मिल रहा है और न ही यह बताने वाला कि आखिर बिना टिकट यात्रा लोग कैसे करें। रिजर्वेशन कराने के लिए लोगों को पहले से ही भटकना पड़ रहा है। ऐसे में अगर जिन्हें ट्रेन से जाने की मजबूरी है, वे बिना टिकट ही यात्रा करने के लिए मजबूर है। इस स्थिति से रेलवे को भी घाटा हो रहा है और इस कारण छतरपुर के लिए रेलवे सुविधाओं का विस्तार भी नहीं हो पा रहा है। क्योंकि रिकॉर्ड में छतरपुर रूट से रेलवे को आर्थिक नुकसान होता दर्ज हो रहा है।
खजुराहो-ललितपुर रेलवे लाइन पर इस समय पैसेंजर ट्रेन और महामना एक्सप्रेस ही चल रही हैं। इन यात्री ट्रेनों में हर दिन बड़ी संख्या में छतरपुर सहित पूरे रूट से यात्री ट्रेनों में सफर करते हैं। ऐसे में जाहिर है कि रेलवे को घाटा नहीं होगा। लेकिन रेलवे का कुप्रबंधन ही कहा जाएगा या फिर उदासीनता कि यात्रियों को स्टेशनों के काउंटरों से टिकट ही नहीं मिल रहे हैं। जिला मुख्यालय के रेलवे स्टेशन की जो हालत है, उससे ही छोटे स्टेशनों की स्थिति का पता लगाया जा सकता है। लोग मजबूरी में बिना टिकट के ही ट्रेनों में यात्रा कर रहे हैं। ऐसे में रेलवे को घाटा हो रहा है।
नहीं खुलता है रिजर्वेशन काउंटर :
रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के लिए रिजर्वेशन काउंटर बना हुआ है। लेकिन यहां पर कोई भी कर्मचारी नहीं रहता है। रिजर्वेशन काउंटर के सामने ही तख्ती लगाकर सर्वर प्रॉब्लम का बोर्ड लगा दिया जाता है। ऐसे में यात्री परेशान होते स्टेशन पर भटकते रहते हैं। छतरपुर निवासी सरदार बलवीर सिंह ने बताया कि एक सप्ताह पहले स्टेशन पर महामना एक्सप्रेस में रिजर्वेशन कराने के लिए गए थे। लेकिन वहां जाकर देखा तो काउंटर बंद था। कमरे में भी ताला लगा था। ऐसे में मायूस होकर लौटना पड़ा। दूसरी बार भी गए तो यही स्थिति थी। ऐसे में मजबूर होकर बिना टिकट भोपाल तक की यात्रा की। स्टेशन पर पहुंचे तो बिना टिकट पकड़े गए। जुर्माना भरने के बाद छोड़ा गया।
लाइन में लगे रहे यात्री, नहीं मिला टिकट :
रेलवे स्टेशन पर टिकट काउंटर और रिजर्वेशन काउंटर पर हर समय नोटिस ही लगा रहता है। काउंटर की खिड़की पर लगे सूचना वोर्ड में सर्वर डाउन होने या खराबी का कारण लिख दिया जाता है। इसके बाद कोई भी नहीं मिलता है। भोपाल यात्रा के लिए जाने घर से निकले संदीप पौराणिक ने बताया कि जैसे ही वे स्टेशन पर पहुंचे तो वहां पर टिकट ही नहीं मिला। रिजर्वेशन काउंटर भी बंद था। ऐसे में मजबूर होकर उन्हें ऑनलाइन टिकट बुकिंग कराना पड़ी। उन्होंने बताया कि लाइन में लगे करीब 50 से ज्यादा यात्रियों को बिना टिकट ही यात्रा करनी पड़ी।
समस्या थी, आज ठीक की जा रही है, कल से व्यवस्था सुधर जाएगी :
रेलवे स्टेशन पर लगी सेटेलाइट की छतरी का आरसीएम गल गया था और वह खराब हो गया था। छतरी खराब होने के कारण ही पूरा का पूरा नेटवर्क ठप हो गया था। उसे आज बदलवाया जा रहा है। इसी सिस्टम से ही रिजर्वेशन और टिकट का काम चलता है। सोमवार को टीम इसी को सुधारने के लिए काम कर रही है। उम्मीद है मंगलवार से व्यवस्था ठीक हो जाएगी।
केएल राजपूत, स्टेशन मास्टर छतरपुर

Neeraj soni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned