मान्यता नवीनीकरण आवेदन पर थमाए निजी स्कूल संचालकों को नोटिस

स्कूल संचालकों ने जताई आपत्ति, शासन को भेजा पत्र

By: Sanket Shrivastava

Published: 23 May 2020, 05:22 PM IST

छतरपुर . जिले में के करीब ३२३ स्कूलों को ऑफलाइन की मान्यता के आवेदन पर जिला शिक्षा अधिकारी ने नोटिस जारी किए हैं। जारी हुए इन नोटिस में डीईओ द्वारा सभी स्कूलों की कमियों का उल्लेख किया गया है। ऐन वक्त पर एक साथ जारी हुए ३२३ नोटिस के बाद स्कूल संचालकों में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं, निजी स्कूलों के संगठन द्वारा मामले की शिकायत मुख्यमंत्री से की है। जिसमें उल्लेख किया गया है कि प्रदेश में कोविड-१९ के चलते समस्त हाई और हायर सेकंडरी स्कूलों की मान्यता को एक साल की एक्सटेंशन दी गई हैं। जिनमें मान्यता के लिए शुल्क भी लगता हैं। जबकि मिडिल स्कूलों के लिए इस तरह नोटिस देकर परेशान किया जा रहा हैं। वर्षों से संचालित स्कूलों को भी कमियां गिनाकर उन्हें प्रताडि़त करने का काम किया जा रहा हैं। जिससे स्कूल संचालक परेशान हैं। स्कूल संचालकों ने मांग की है कि हाई और हायर सेकंडरी की तरह मिडिल स्कूलों को भी तीन साल का एक्सटेंशन दिया जाए। अशासकीय शाला समन्वयक महासंघ द्वारा खजुराहो सांसद वीडी शर्मा को एक ज्ञापन सौंपकर प्रदेश के सभी मिडिल स्कूलों की मान्यता को भी बढ़ाने की मांग उठाई हैं। संगठन के सह सचिव रजनीश सोनी ने बताया कि ज्ञापन के बाद आश्वासन मिला है कि जल्द ही इसके भी आदेश जारी किए जाएंगे। इस संबंध में सांसद वीडी शर्मा का कहना है कि संगठनों की मांग जायज है। वहीं, डीइओ एसके शर्मा का कहना है कि बीआरसी के माध्यम से जो भी आवेदन आए थे, उनमें कमियां होने पर नोटिस जारी किए गए थे। कमी संबंधी दस्तावेज स्कूल प्रबंधन प्रस्तुत कर सकते हैं।

Sanket Shrivastava Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned