अब जिले में ऑन डिमांड टेस्टिंग और होम आइसोलेशन की मिलेगी सुविधा

सीएम ने वीसी में दिए निर्देश, जल्द लागू होगा फैसला
कोरोना संक्रमण के 22 नए मरीजों की पुष्टि

By: Dharmendra Singh

Published: 07 Sep 2020, 09:00 AM IST

छतरपुर। देश भर में बढ़ते कोरोना मामलों को लेकर सरकार चिन्हित मंद लक्षणों वाले कोरोना मरीजों के लिए होम आइसोलेशन दे रही है। अब मप्र में भी कई जिलों में माइल्ड सिम्टम वाले मरीजों के लिए होम आइसोलेशन की तैयारी है। विगत रोज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के कलेक्टर्स के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा करते हुए इस तरह के दिशा-निर्देश दिए हैं। छतरपुर में भी जल्द ही होम आइसोलेशन की सुविधा के साथ-साथ ऑन डिमाण्ड टेस्टिंग की तैयारी की जा रही है। रविवार को कलेक्टर ने जिले भर के ब्लक मेडिकल ऑफिसर्स और स्वास्थ्य व राजस्व से जुड़े अधिकारियों की बैठक लेकर इन फैसलों को लागू करने के लिए होमवर्क किया।

यदि ये दोनों फैसले छतरपुर जिले में लागू होते हैं तो मामूली लक्षणों वाले लोगों को अब सैंपल के बाद कोविड सेंटर की जगह घर में ही आइसोलेट किया जाएगा। हालांकि यह सुविधा फिलहाल सिर्फ शहरी क्षेत्रों में लागू होगी। वह भी ऐसे लोगों के साथ जिनके घर में मरीज के आइसोलेट होने के लिए टयलेट सहित एक अलग कमरा मौजूद हो। सैंपल लेने वाली टीम घर का परीक्षण करेगी और वही तय करेगी कि व्यक्ति को होम आइसोलेट किया जा सकता है अथवा नहीं। जिन घरों में सदस्यों की संख्या ज्यादा है और पृथक आइसोलेशन की संभावना नहीं है ऐसे लोगों को अनुमति नहीं मिलेगी। वहीं दूसरी तरफ जिला प्रशासन जल्द ही आम लोगों के लिए ऐसे मोबाइल नंबर जारी कर सकता है जिन पर फोन लगाकर लोग अपना स्वैच्छिक कोरोना टेस्ट करा सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ एक तैयारी यह भी है कि कोई भी फीवर क्लीनिक जाकर अपना कोरोना टेेस्ट करा सकता है। प्रशासन और सरकार की सोच है कि कोरोना फैला रहे ज्यादा से ज्यादा लोगों को जल्द से जल्द पहचान कर उन्हें इलाज दिया जाए।

छतरपुर में 6, लवकुशनगर में 8 सहित जिले भर में 22 केस
छतरपुर जिले में शनिवार की रात और रविवार के बीच 24 घंटे में 22 नए कोरोना केस सामने आए हैं। इनमें छतरपुर जिला मुख्यालय पर 6, लवकुशनगर में 8, नौगांव में 5, चंदला, बड़ामलहरा और गढ़ीमलहरा में एक-एक मरीज की पुष्टि हुई है। छतरपुर में जो 6 नए केस सामने आए हैं उनमें दो महिलाएं डॉक्टर वाजपेयी के घर के समीप मिली हैं उनकी उम्र 48 और 20 साल है। इसी तरह शहर के देरी रोड पर स्थित पेप्टेक सिटी से 34 वर्षीय पुरूष और 55 वर्षीय पुरूष पॉजिटिव पाया गया है। नौगांव रोड पर स्थित पेप्टेक टाउन में 49 वर्षीय महिला, गल्लामण्डी सटई रोड पर 20 वर्षीय युवती पॉजिटिव मिली है। नौगांव में वार्ड नं.2 में 28 वर्षीय पुरूष में संक्रमण पाया गया है। इसी तरह वार्ड नं.10 के 53 वर्षीय पुरूष, 22 वर्षीय युवक और 18 वर्षीय युवती संक्रमित मिली है तो वहीं वार्ड नं.20 में 52 वर्षीय महिला में संक्रमण की पुष्टि हुई है। लवकुशनगर में भी वार्ड नं.4 से एक हीपरिवार के 5 लोग संक्रमित मिले ेहैं जिनमें 25 वर्षीय युवती, 19 वर्षीय युवती, 18 वर्षीय युवक, 10 वर्षीय किशोर और 45 वर्षीय महिला शामिल है। इसी वार्ड में एक अन्य परिवार से 50 वर्षीय महिला भी पॉजिटिव पाई गई है। लवकुशनगर के वार्ड नं.12 में 35 वर्षीय महिला और 35 वर्षीय पुरूष संक्रमित मिला है। वहीं चंदला में वार्ड नं.2 से 20 वर्षीय युवती, गढ़ीमलहरा थाने से 37 वर्षीय बंदी, बड़ामलहरा के वार्ड नं.2 से 14 वर्षीय बालक संक्रमित पाया गया है।

पीएनसी कंपनी की बड़ी लापरवाही

छतरपुर जिले में झांसी से बमीठा तक फोरलेन का निर्माण कर रही प्राइवेट कंपनी पीएनसी की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। पीएनसी कंपनी के द्वारा ग्राम बसारी के समीप लगाए गए प्लांट में लगभग 7 लोगों के बीमार होने की सूचना मिली है। ये सभी लोग 3 सितंबर को पीएनसी कंपनी के एक मैनेजर के संपर्क में आए थे जो कि कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। लोगों के बीमार होने के बाद भी इन लोगों ने अपनी जानकारी प्रशासन को नहीं दी। रविवार को जब स्थानीय लोगों को कर्मचारियों के बीमार होने की जानकारी लगी तो प्रशासनिक अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई जिसके बाद लगभग 7 लोगों को क्वारंटीन कर उनके सैंपल कराए गए हैं।

20 मरीजों को किया गया डिस्चार्ज
छतरपुर जिले के 20 कोरोना मरीजों को रविवार को डिस्चार्ज किया गया है। इनमेंं कोविड केयर सेंटर महोबा रोड से 8, लवकुशनगर से 4 , ढड़ारी से 2, नौगांव से 2 और जिला अस्पताल से 4 कोरोना मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं। जिले से अब तक कुल 577 मरीजों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

COVID-19
Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned