रविवार को 32 पॉजिटिव मिले, 47 डिस्चार्ज, तीन की इलाज के दौरान मौत

एक सप्ताह से लगातार घट रही संक्रमण की दर, लेकिन मृत्यु दर अब भी प्रदेश के औसत से ज्यादा

तीन दिन से 9 से 10 के बीच बनी हुई है संक्रमित होने की दर

By: Dharmendra Singh

Published: 16 May 2021, 07:54 PM IST

छतरपुर। एक सप्ताह से कोविड संक्रमण की रफ्तार लगातार कम हो रही है। जिले में संक्रमण की दर 30 प्रतिशत तक पहुंच गई थी, जो अब धीरे-धीरे 9 फीसदी से कम पर आ गई है। पिछले के एक सप्ताह की बात क रें तो 8 मई को जिले में संक्रमण की दर 22.08 प्रतिशत थी, जो 9 मई को 21.37, 10 मई को 17.32, 11 मई को 8.47, 12 मई को 15 फीसदी तक घट गई। वहीं 13 मई से दर 9 से 10 फीसदी के बीच बनी हुई है। 13 मई को जिले में पॉजिटिविटी रेट 9.03 प्रतिशत, 14 मई को 10.06 और 15 मई को 9.30 प्रतिशत रही है। जबकि रविवार को पॉजिटिविटी दर 9.2 प्रतिशत रही।

मृत्यु दर अब भी ज्यादा
जिले में भले ही संक्रमित होने की दर कम हो गई है। लेकिन मृत्यु दर अभी भी प्रदेश के औसत से ज्यादा बनी हुई है। मध्यप्रदेश में मृत्यु दर 0.95 प्रतिशत है। जबकि छतरपुर जिले में मृत्यु दर वर्तमान में 1.3 प्रतिशत है। वहीं संक्रमित होने की दर प्रदेश में औसत 8.3 प्रतिशत है, जबकि छतरपुर में संक्रमित होने की दर अभी भी 9.2 बनी हुई है।

कोविड योद्धा की पत्नी का निधन
जिला अस्पताल का कोविड आइसोलेशन व आईसीयू वार्ड बनाने वाले स्वास्थ विभाग के इंजीनियर अंशुल खरे की 32 वर्षीय पत्नी का रविवार को जिला अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। कोविड मरीजों की जान बचाने के लिए दिन रात सिविल वर्क, ऑक्सीजन सप्लाई, आईसीयू उपकरण की देखभाल करने वाले इंजीनियर की पत्नी के निधन से स्वास्थ विभाग में शोक की लहर है। उनकी पत्नी अपने पीछे एक डेढ साल और एक ढाई साल का बेटा छोड़ गई है। वहीं, जिला अस्पताल में 13 मई से भर्ती बड़ामलहरा के 42 वर्षीय पुरुष और 7 मई से भर्ती धमना के 60 वर्षीय बुजुर्ग का संक्रमण से निधन हो गया। जिले में कोरोना से अबतक कुल 133 मौत हुई हैं।

429 सैंपल में मिले 32 पॉजिटिव
रविवार को आरटीपीसीआर के 156 सैंपल में 28 और एंटीजन किट के 273 सैंपल में 04 पॉजिटिव पाए गए हैं। रविवार को मिले 32 पॉजिटिव समेत अबतक कुल 9515 पॉजिटिव मिले हैं। जिसमें से 363 केस एक्टिव है। एक्टिव केस वाले 232 मरीज होम आइसोलेशन में और 116 आइसोलेशन वार्ड व कोविड केयर सेंटर में भर्ती हैं। रविवार को 47 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। जिले के 9020 मरीज अबतक कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं।

खाली होने लगे ऑक्सीन वाले बेड
पिछले एक सप्ताह से लगातार कोरोना संक्रमण के घटते मरीजों स्वस्थ होने वालों की संख्या ज्यादा होने के कारण अब अस्पतालों और कोविड सेंटर्स से लोड घटता जा रहा है। जिला अस्पताल में शनिवार को मौजूद 85 ऑक्सीजन बिस्तरों में से 35 बिस्तर खाली हो गए। कोविड आईसीयू के 12 बिस्तरों में से 2 बिस्तर खाली हैं जबकि अस्पताल के सामान्य कोविड मरीजों के 57 बिस्तर खाली हो चुके हैं। फिलहाल जिला अस्पताल में कोरोना के अधिकृत 72 मरीज ही उपचार ले रहे हैं। यद्यपि अस्पताल की नई बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर कोरोना से मिलते-जुलते लक्षणों वाले लगभग 60 मरीज भी भर्ती हैं। जिले में अब 380 एक्टिव केस बचे हैं इनमें से 127 मरीजों को अस्पतालों में इलाज लेना पड़ रहा है जबकि शेष लेाग होम आइसोलेट हैं।

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned