प्रभारी मंत्री का तत्काल प्रभाव से लागू होने वाला आदेश 2 माह से रखा है ताक पर

जिला मुख्यालय पर आठ साल से ज्यादा समय से जमे 13 पटवारियों के किए थे ट्रांसफर
5 जुलाई को जारी हुए आदेश का आज तक नही हुआ पालन

By: Dharmendra Singh

Published: 05 Sep 2019, 06:00 AM IST

छतरपुर। प्रशासनिक व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए प्रभारी मंत्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने 5 जुलाई को जिले के 57 पटवारियों के ट्रांसफर आदेश जारी किए थे। आदेश में तीन दिन के अंदर रिलीव कर नई पदस्थापना पर ज्वॉइनिंग का आदेश तत्काल प्रभाव से प्रभावशील लिखा गया था। जिले के ज्यादातर पटवारियों ने स्थानांतरण आदेश का पालन किया, लेकिन छतरपुर तहसील में 8 साल से ज्यादा समये से जमे पटवारियों को दो माह बाद भी रिलीव नहीं किया गया है। जबकि प्रभारी मंत्री ने इनके ट्रांसफर सिर्फ इसलिए किए थे, क्योंकि ये पटवारी लंबे समय से जिला मुख्यालय पर जमे हुए हैं। प्रभारी मंत्री ने प्रशासनिक सर्जरी करते हुए छतरपुर तहसील से 13 पटवारियों को स्थानांतरित किया गया था, लेकिन एक भी रिलीव नहीं किया गया है।
इन पटवारियों को नहीं किया रिलीव
छतरपुर तहसील से 13 पटवारियों को प्रशासनिक व्यवस्था के तहत अलग-अलग स्थानों पर स्थानांतरित किया गया था। जिनमें से रामकुमार कुशवाहा को छतरपुर से चंदला, अनिल निगम को गौरिहार, संतोष अहिरवार को बिजावर, पन्ना लाल राजपूत को राजनगर, रघुनाथ गौड को चंदला, जुगल किशोर पटेल को राजनगर, मिशलेश खरे को राजनगर, सविता भट्ट को राजनगर, अनिल अहिरवार को बड़ामलहरा, रामकुमार कुशवाहा को चंदला, भगवानदास अहिरवार को गौरिहार, महेन्द्र कुमार राय को राजनगर और बच्चा प्रजापति को घुवारा स्थानांतरित किया गया था, लेकिन प्रभारी मंत्री के तत्काल प्रभाव से लागू होने वाले आदेश को पिछले 2 माह से ताक पर रखे हुए हैं।
बाबूओं को भी नहीं किया रिलीव
प्रभारी मंत्री ने 5 जुलाई को ही जिले के राजस्व विभाग के 7 बाबूओं का भी ट्रांसफर आदेश जारी किया था। छतरपुर तहसील से बैजनाथ अहिरवार को जिला पंचायत छतरपुर और संतोष नामदेव को बिजावर के लिए स्थानांतरित किया गया था। लेकिन आदेश के 2 माह बाद भी पटवारियों के साथ ही बाबूओं को भी आजतक रिलीव नहीं किया गया है।
एकतरफा रिलीव करने के आदेश दिए थे कलेक्टर ने
प्रभारी मंत्री के द्वारा किए गए स्थानांतरण आदेश को अमल में लाने के लिए 25 अगस्त को कलेक्टर मोहित बुंदस ने निर्देश जारी किया, कि स्थानांतरित किए गए कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से एकतरफा रिलीव किया जाए। लेकिन कलेक्टर के रिमांइडर के वाबजूद स्थानांतरण आदेश का पालन आज तक नहीं किया गया है।
तत्काल प्रभाव से पालन के लिए था आदेश
ट्रांसफर आदेश में स्पष्ट लिखा गया था कि 3 दिन के अंदर रिलीव कर नई पदस्थापना पर ज्वॉइनिंग करें। छतरपुर तहसील के पटवारियों को एसडीएम छतरपुर द्वारा रिलीव किया जाना है। मैने जानकारी मंगवाई है, कि कितने पटवारी रिलीव हुए और कितने नहीं। जानकारी मिलने पर कलेक्टर को इस बारे में सूचित किया जाएगा।
आदित्य सोनकिया, एसएलआर
प्रशासनिक प्रक्रिया के तहत ट्रांसफर किए गए हैं। प्रक्रिया अनुसार रिलीविंग और ज्वॉइनिंग की जाती है। मै पता करता हूं, क्यों अभी तक पटवारियों को रिलीव नहीं किया गया है। स्थापना का काम तहसीलदार के पास है, प्रभारी मंत्री के आदेश का पालन कराया जाएगा।
केके पाठक, एसडीएम छतरपुर
मैं अभी नया आया हूं, संबंधित बाबू व पटवारियों की फाइल स्थापना से मंगवाकर दिखवाता हूं, क्यों अभी तक स्थानांतरित कर्मचारियों को रिलीव नहीं किया गया है। प्रभारी मंत्री के आदेश का पालन तुंरत करवाया जाएगा।
विजय सेन, तहसीलदार छतरपुर

Dharmendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned